1. ख़बरें

एक ही राशन कार्ड से मिलेगा देशभर की दुकानों में राशन

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा
PDS shops

केंद्र सरकार अब देशभर में एक ही राशन कार्ड पर आम जनता को राशन देने की योजना बना रही है. केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने 27 जून 2019 को खाद्य सचिवों के साथ-साथ राज्य सरकारों के अन्य अधिकारियों, केंद्रीय भंडारण निगम (सीडब्ल्यूसी), राज्य भंडारण निगमों (एसडब्ल्यूसी) और इस योजना के संबंध में एक बैठक की .

उन्होंने कहा कि सरकार देश में खाद्य पदार्थों पर 1.45  लाख करोड़  रुपए की सब्सिडी मुहैया करवाएगी. जिसके अंतर्गत गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों को 2  रुपए प्रति किलो की दर से अनाज और 3 रुपए प्रति किलो की दर से चावल प्रदान किया जाएगा. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस योजना का उद्देश्य लाभार्थियों को स्वतंत्रता प्रदान करना है. जिसके तहत प्राप्तकर्ता किसी भी जिले से अनाज का अपना हिस्सा प्राप्त कर सकते हैं. ये योजना अभी गुजरात, हरियाणा, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, राजस्थान, तेलंगाना, झारखंड और त्रिपुरा में जारी हो जाएगी.

Public Distribution system

अन्य राज्यों ने आश्वासन दिया है कि वे जल्द से जल्द IMPDS लागू करेंगे. बैठक को संबोधित करते हुए, पासवान ने बताया कि खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग द्वारा किया गया कार्य, लगभग 81 करोड़ लाभार्थियों के लिए एक जीवन रेखा है, जिसमें 612  लाख टन अनाज, वितरण के लिए SWCs, CWC, FCI और निजी गोदामों में रखा गया है. उन्होंने कहा कि उचित मूल्य की दुकानों के लगभग 78  प्रतिशत इलेक्ट्रॉनिक PoS उपकरणों को स्थापित करके अब तक स्वचालित कर दिया गया है.

पासवान ने जोर देकर कहा कि समग्र दक्षता को बढ़ावा देने और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए खाद्यान्नों की खरीद से लेकर वितरण तक सूचना प्रौद्योगिकी का सही उपयोग किया जाना चाहिए.

English Summary: government start new scheme one nation one ration card how to avail its advantages and benefits

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News