Animal Husbandry

20 Sep, 2018
By Nishant
Farmers can earn millions from these four animal husbandry business, the government gives grants

इन चार पशुपालन व्यवसाय से किसान कर सकते हैं लाखों की कमाई, सरकार देती है अनुदान - जिम्मी, कृषि जागरण

भारत एक तरफ जहां खेती के लिए पूरी दुनियां में मशहूर है वहीं दूसरी तरफ पशुपालन भी इसका भिन्न अंग रहा है. देश के किसानों के लिए खेती जीतना महत्वपूर्ण है उतना ही महत्वपूर्ण पशुपालन भी है. पशुओं की अगर बात करें तो किसान इनके प्रति दयाभाव रखते हैं इसके अलावा क…

READ MORE
19 Sep, 2018
By Nishant
Fearful of parasites in milch animals may be frightening, know ways to protect animals from it.

दुधारू पशुओं में परजीवियों का खतरा हो सकता है भयावह, जानिए पशुओं को इससे बचाने के उपाय - कृषि जागरण डेस्क

पशुओं पर परजीवियों के हमले के कारण पशुपालन व्यवसाय में काफि नुकसान होता है. इस वजह से पशुओं को इनके संक्रमण से बचाना अति आवश्यक है. पशुपालन व्यवसाय में पशुओं से अधिक लाभय़ लेने के लिए पशुओं का ध्यान रखना बहुत जरूरी है ताकी उनको बीमारियों से बचाया जा सके. प…

READ MORE
18 Sep, 2018
By prashant
Be aware, things to note when buying milch animals

जानिए, दुधारू पशुओं को खरीदते समय ध्यान देने योग्य बातें - डा. प्रमोद प्रभाकर

दुधारू पशु का चयन कोई सरल कार्य नहीं है। एक अच्छे पशु निर्णायक में कई महत्वपूर्ण गुणों का समावेश आवश्यक होता है। दुधारू गाय - भैंस को खरीदते समय नस्ल के अनुसार उसके वाह्य आकार, वंशावली, दूध देने की क्षमता आदि पर अधिक जोर देना चाहिए। पशुपालन एवं डेयरी व्यव…

READ MORE
17 Aug, 2018
By prashant
Variety of freshwater fishes in West Bengal

पश्चिम बंगाल में मीठे पानी की मछलियों की विविधता - ह.श. मोगलेकर

देश में मछली पालन किसानों के काफी तेज़ी से बढ़ रहा है और इसका मुख्य कारण है इससे होने वाला मुनाफा क्योंकि इसमें किसानों को लागत कम और मुनाफा ज्यादा है. पश्चिम बंगालए मीठे पानी की मछलियों का उपयोग करने वाला भारत का एक प्रमुख एवं एकमात्र राज्य है जो हिमालय …

READ MORE
28 Jul, 2018
By prashant
Maintenance and management of eggs giving eggs

अण्डा देने वाली मुर्गियों की देखरेख एवं प्रबंधन - डा. राम निवास, चारू शर्मा

मुर्गीपालन एक ऐसा व्यवसाय है जो आपकी आय का अतिरिक्त साधन बन सकता है... यह व्यवसाय बहुत कम लागत में शुरू किया जा सकता है और इसमें मुनाफा (लाखों-करोड़ो) भी काफी ज्यादा है... देश में रोजगार तलाश रहे युवा इसे रोज़गार के तौर पर अपना सकते हैं... पिछले चार दशकों…

READ MORE
26 Jul, 2018
By prashant
Prepared manure, nutrition management and composting methods of dung

गोबर के तैयार खाद, पोषण प्रबन्धन एवं कम्पोस्टिंग विधियां - डी.एस.भाटी

गोबर की खाद :- गोबर की खाद पषुओं जैसे गाय, भैंस-बकरी, घोड़ा, सुअर, मुर्गी एवं अन्य पषु पक्षियों के ठोस तथा द्रव मल-मूत्र, विभिन्न पोषक पदार्थों जैसे बिछावन, भुसा, पुआल, पेड़ पोधों की पत्तियां आदि को मिलाकर तैयार किया जाता है...

READ MORE
14 Jul, 2018
By Nishant
Succession management and business

सूकर पालन प्रबन्धन एवं व्यवसाय - Dr. Govind Kumar

सूकर पालन कम समय मे अधिक आय प्रदान करने वाला व्यवसाय है | पूर्व मे देशी नस्ल के सूकर –सुकरियाँ पाली जाती थी परंतु संकर प्रजनन द्वारा इनकी नस्ल मे पर्याप्त अपेक्षित उन्नयन किया जा रहा है तथा वर्तमान मे देशी नस्ल का स्थान संकर जाति के सूकरो द्वारा ले लिया ग…

READ MORE
02 Jul, 2018
By prashant
Care and management of egg poultry

अण्डा देने वाली मुर्गियों की देख-रेख एव प्रबंधन - डा. राम निवास

मुर्गीपालन व्यवसाय आपकी आय का अतिरिक्त साधन बन सकता है। बहुत कम लागत से शुरू होने वाला यह व्यवसाय लाखों-करोड़ों का मुनाफा दे सकता है। आज के समय में बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या है। ऐसे में युवा मुर्गीपालन को रोजगार का माध्यम बना सकते हैं। पिछले चार दशकों में…

READ MORE
13 Jun, 2018
By imran
Article on Water Pollution

कृषि एवं पशुओं के लिए एक मुसीबत फैक्ट्रीयों से निकलने वाला पानी - सविता कुमारी, हुमा नाज,

वर्षा जल संचयन एक तकनीक है जिसका उपयोग भविष्य में इस्तेमाल करने के उद्देश्य (जैसे कृषि आदि) के लिये अलग-अलग संसाधनों के विभिन्न माध्यमों के इस्तेमाल के द्वारा बारिश के पानी को बचाकर रखने और इकट्ठा करने की एक प्रक्रिया है। बारिश के पानी को प्राकृतिक जलाशय …

READ MORE
28 May, 2018
By Sameer Tiwari
The cow gives more milk than this breed of goat ...

गाय से अधिक दूध देती है बकरी की ये नस्ल...

बकरीपालन व्यवसाय आज एक बड़े पैमाने पर फैलता जा रहा है। विश्व स्तर पर आज ऐसी नस्लों की चर्चा है जो अधिक दूध उत्पादन करने वाली हैं। ऐसे में माल्टीज़ नस्ल की बकरी प्रतिदिन 5 से 10 लिटर दूध देने की क्षमता रखती है।

READ MORE