पर्यटक करेंगे सेब के बगीचों की सैर

हिमाचल प्रदेश की आमदनी की रीढ़ माने जाना वाला सेब अब प्रदेश के पर्यटन उद्योग को भी बढ़ाने में मदद करेगा। पर्यटन निगम ने ब्लूमिंग सीजन यानी सेब के पौधों में फूल आने के समय को पर्यटकों के साथ जोडऩे के लिए नई योजना तैयार की है। इस योजना के तहत पर्यटकों को ब्लूमिंग सीजन के दौरान अपर शिमला में मौजूद सेब के बगीचों की सैर करवाई जाएगी। इसके लिए निगम ने शिमला से 50 से 60  किलोमीटर के दायरे में आने वाले शिलारू, कंडयाली और मत्याणा में मौजूद सेब के बगीचों का चयन किया है। इसके अलावा कोटगढ़ में भी पर्यटकों को घुमाने के लिए ले जाया जाएगा।

पर्यटन निगम ने एक हजार और 3500 रुपये कीमत के दो पैकेज तैयार किए हैं। एक हजार के पैकेज में पर्यटकों को बगीचों की सैर करवाने के अलावा दिन का खाना और चाय दी जाएगी,  3500 के पैकेज में शिलारू, कंडयाली और मत्याणा में घुमाने के बाद रात को नारकंडा में होटल में ठहराया जाएगा। अगले दिन सुबह कोटगढ़ स्थिम बगीचों की सैर करवाई जाएगी।

पर्यटकों को हिमाचल की संस्कृति और परंपरा से रूबरू करवाने के लिए पर्यटन निगम ने होम स्टे योजना भी चलाई थी। कुछ बागवानों ने अपने सेब के बगीचों में होम स्टे बनाकर पर्यटकों को आकर्षित किया है। ऐसे में कम पर्यटकों को ही ब्लूमिंग सीजन का लुत्फ उठाने का मौका मिलता है। सेब बगीचों की सैर करवाने के लिए पर्यटन निगम की साइट पर ऑनलाइन बुकिंग करवा की जा सकती है। इसके अलावा शिमला में टूरिज्म के होटल व सूचना केंद्र में भी पर्यटक संपर्क कर सकते हैं।

  •  1000 और 3500 रुपये कीमत के दो पैकेज पर्यटन निगम ने तैयार किए हैं।
  •  पहला पैकेज इसी माह पर्यटकों को सेब के बगीचों में घुमाने के लिए निगम की ओर से तैयार किया गया, पैकेज 15 से 30 अप्रैल तक लागू रहेगा। 

पर्यटन निगम के अधिकारियों की मानें तो उन्हें अभी से इस पैकेज लिए पर्यटकों के फोन आने शुरू हो गए हैं। सेब के पौधे के बारे में जानने की इच्छा रखने वाले पर्यटकों के लिए ये अच्छा मौका है।  पर्यटन निगम ने पहली बार इस प्रकार का पैकेज तैयार किया है। ब्लूमिंग सीजन के दौरान पर्यटकों को प्रदेश की ओर आकर्षित करने के लिए इस पैकेज को तैयार किया गया है।

Comments