1. पशुपालन

Poultry Farming: मुर्गियों की ये 9 नस्लें देती हैं करीब 300 अंडे, जानें इनकी विशेषताएं व अन्य लाभ

क्या आप भी ऐसी मुर्गी की तलाश कर रहे हैं, जो सबसे ज़्यादा अंडे देती हो और उसका मांस भी महंगा हो? तो आप एकदम सही आये हैं, क्योंकि आज हम आपको सबसे ज़्यादा अंडे देने वाली मुर्गी के बारे में बताने जा रहे हैं.

रुक्मणी चौरसिया
रुक्मणी चौरसिया

हर पशुपालक चाहता है कि उसकी मुर्गियां अधिक से अधिक अंडे (Highest Egg Laying Chicken) दे सके. ऐसे में आपको यह ध्यान रखना पड़ेगा कि आप कौन-सी नस्ल की मुर्गी को पाल रहे हैं. इसलिए आज हम आपको मुर्गी की नस्लों (Chicken Breeds in India) के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपको तगड़ा मुनाफा दे सकेंगी.

भारत की सबसे ज़्यादा अंडे देने वाली मुर्गियां (India's largest egg laying chickens)

उपकारिक (Upkarik)
  • ये CARI लाल देशी भारतीय मुर्गियां हैं.

  • Upkarik का औसत वजन 1.2 किलोग्राम और 1. 6 किलोग्राम के बीच होता है.

  • Upkarik सालाना 160 से 180 अंडे देते हैं.

  • उपकारी मुर्गे की कुछ उप-नस्ल हैं जैसे कैरी प्रिया लेयर, कैरी सोनाली लेयर और कैरी देवेंद्र.

  • Upkarik नस्लों में अलग-अलग अंडे देने की क्षमता होती है जैसे CARI सोनाली एक वर्ष में अधिकतम 220 अंडे दे सकती हैं, जबकि CARI प्रियल परत का वार्षिक अंडा उत्पादन 298 है.

प्लायमाउथ रॉक (Plymouth Rock)
  • Plymouth Rock भारत में कृषि नस्लों के रूप में पाली जाने वाली एक प्रसिद्ध मुर्गी की नस्ल है.

  • यह मूल रूप से एक अमेरिकी मुर्गी की नस्ल है.

  • यह घूमना-फिरना पसंद करते हैं, वे शांत स्वभाव के होते हैं और अलग-अलग रंगों के होते हैं जैसे ब्लैक फ्रिज़ल, ब्लू, पार्ट्रिज और कोलंबियन.

  • Plymouth Rock एक वर्ष में लगभग 250 अंडे दे सकती हैं.

ओपिंगटन (Orpington)
  • Orpington भारत में सबसे खूबसूरत चिकन नस्लों में से एक हैं.

  • मूल रूप से, यह एक ब्रिटिश चिकन नस्ल है.

  • यह लैवेंडर, सफेद, काले और नीले जैसे विभिन्न रंगों में आते हैं.

  • Orpington एक वर्ष में लगभग 200 अंडे दे सकते हैं.

झारसी (Jharism)
  • झारसी (Jharism) झारखंड राज्य के लिए सबसे उपयुक्त मुर्गी की नस्ल है.

  • इस नस्ल का नाम जगह से लिया गया है - झारखंड और सिम का मतलब आदिवासी भाषा में मुर्गी है.

  • Jharism 6 सप्ताह में इनका वजन 400 से 500 ग्राम और परिपक्वता के समय 1800 ग्राम के बीच होता है.

  • यह एक वर्ष में अधिकतम 170 अंडे दे सकते हैं.

प्रतापधानी (Pratapdhani)
  • प्रतापधानी (Pratapdhani) मुर्गी की नस्ल में एक आकर्षक बहुरंगी पंख पैटर्न होता है.

  • यह भूरे रंग के अंडे देती हैं, जिनमें से प्रत्येक का वजन 50 ग्राम होता है. यह सालाना 150 और 160 अंडे से अधिक उत्पादन कर सकते हैं, जो कि स्थानीय मूल निवासी की तुलना में लगभग 275% अधिक है.

बैंटम चिकन (Bantem Chicken)
  • यह बहुत ही प्यारी मुर्गी की नस्ल होती है.

  • बैंटम चिकन (Bantem Chicken) आकार में छोटे होते हैं, इसलिए अन्य मुर्गियों की तुलना में उनकी पोषण संबंधी आवश्यकताएं कम होती हैं.

  • यह सालाना 150 से 160 अंडे के बीच उत्पादन कर सकते हैं.

कामरूप (Kamrupa)
  • यह पोल्ट्री उत्पादन के लिए एक बहुरंगी पक्षी है.

  • कामरूप  (Kamrupa) नस्ल में रंगीन, मध्यम वजन व लंबी टांगों वाली होती हैं. नर कामरूप चिकन का वजन 40 सप्ताह में 1800 से 2200 ग्राम के बीच होता है, वहीं मादा मुर्गी अधिकतम 140 अंडे का वार्षिक अंडा उत्पादन करती है.

कैरी श्यामा (Carrie Shyama)
  • कैरी श्यामा (Kerry Shyama)  की नस्ल को स्थानीय रूप से कलामासी के नाम से जाना जाता है, जिसका अर्थ है काला मांस वाला मुर्गा.

  • इसे अक्सर आदिवासियों और ग्रामीण गरीबों द्वारा पाला जाता है.

  • यह पवित्र नस्लों में से एक है जिसे दिवाली के बाद देवी को बलिदान के रूप में चढ़ाया जाता है.

  • इस मुर्गे की नस्ल का मांस कई लोगों के लिए स्वादिष्ट होता है और इसे औषधीय मूल्य भी माना जाता है.

  • कैरी श्यामा (Kerry Shyama) नस्ल का वार्षिक अंडा उत्पादन 105 है.

  • इस नस्ल के अंडे और मांस को प्रोटीन (25.47%) और आयरन का सुपर स्रोत माना जाता है.

कैरी निर्भेकी (Carrie Nirbheki)
English Summary: India's largest egg laying chickens, poultry farming Published on: 21 March 2022, 11:08 IST

Like this article?

Hey! I am रुक्मणी चौरसिया. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News