Lifestyle

जानिए नीम के फायदें और नुकसान जिन्हें आप कभी नहीं सुने होंगे !

neem

नीम का उपयोग हजारों सालों से आयुर्वेद में एक औषधि के रूप में किया जाता रहा है. आज भी, यदि आप गाँवों में जाते हैं, तो आप पाएंगे कि बहुत से लोग कई बीमारियों के इलाज के लिए नीम की पत्तियों का इस्तेमाल करते हैं. नीम का हर हिस्सा, चाहे वह नीम की जड़ हो, नीम के पेड़ की छाल, पत्ते, फूल या फिर नीम के बीज और बीज का तेल, सभी का अपना- अपना महत्व है. नीम में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाया जाता हैं, जो कई प्रकार की बीमारियों से लड़ने में मदद करता है आज हम आपको बताएंगे कि किस तरह ये कड़वे स्वाद वाली नीम आपकी जिंदगी में कैसे मिठास लाती है. तो आइये, जानते है इसके हैरान कर देने वाले फायदों के बारे में....

neem

नीम के फायदे (Benefits of neem)

 मुंहासों के उपचार में सहायक (Beneficial for pimples problem)

 मुंहासों के अलावा, त्वचा की कई तरह की समस्याओं के इलाज में नीम बहुत उपयोगी माना गया है. नीम की पेस्ट बना कर लगाने से आपकी त्वचा चिपचिपे और हानिकारक बैक्टीरिया से कुछ दिनों में ही राहत पा लेती है इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण त्वचा के धब्बे हटाते हैं, जिससे त्वचा साफ दिखती है.नीम के तेल में मौजूद फैटी एसिड और उच्च मात्रा में विटामिन -ई उम्र बढ़ने के प्रभावों को कम कर और चेहरे को जवां बनाए रखता है.

कब्ज से राहत (Beneficial for Constipation Problem)

 नीम का सेवन रोजाना करने से जलन और सूजन नहीं होती है जो आपको अल्सर और आंतों के रोगों जैसे कब्ज, मरोड़ और सूजन से दूर रखता है.

कैंसर के लिए नीम के फायदे (Beneficial for Cancer Problem) 

नीम में उच्च मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो शरीर में कैंसर के खतरे को कम करता है. नीम हमारे शरीर में एंटीऑक्सिडेंट मुक्त कणों के हानिकारक प्रभावों को रोकता है, जो शरीर को कैंसर से बचाता है. नीम कैंसर की रोकथाम के अलावा हृदय रोगों के खतरे को भी कम करता है.

नीम फंगल इन्फेक्शन को खत्म करता है (Beneficial for fungal Problem)

नीम के एंटिफंगल प्रभाव के कारण त्वचा पर कोई संक्रमण नहीं होता है और इसके सेवन से प्रतिरक्षा प्रणाली भी मजबूत होती है.

नीम मधुमेह के उपचार में सहायक (Beneficial for diabetes Problem)

यह पूरी तरह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि नीम मधुमेह के उपचार में कितना उपयोगी है, लेकिन यह निश्चित है कि नीम के सेवन से शरीर में इंसुलिन का स्तर बढ़ जाता है. क्योंकि नीम में कुछ रसायन ऐसे होते हैं जो इंसुलिन को सक्रिय कर हमारे शरीर में इंसुलिन के स्तर को बढ़ाते  है जिससे मधुमेह का खतरा कम रहता है.

नीम मलेरिया के इलाज में (Beneficial for Malaria )

यह मच्छरों से होने वाली बीमारियों को ठीक करने में मददगार नुस्खा है. मच्छर नीम के धुएँ से दूर भागते हैं जो वेक्टर जनित मलेरिया के खतरे को कम कर हमें बचाते है.

अब नीम जिसके कई स्वास्थ्य लाभ है उसके कुछ नुकसान तो होंगे ही तो आइए  जानते है इसके कुछ नुकसानों के बारे में......

(Side- Effects of Neems) 

इसके ज्यादा सेवन से छोटे बच्चों में किडनी और लीवर की समस्या उत्पन्न होने की संभावना होती है.

इसका उपयोग दर्द निवारक के तोर पर भी किया जाता है, सही मात्रा में और सही तरीके से नीम का सेवन करें अन्यथा आप थके हुए और सुस्त हो सकते हैं.

नीम के तेल का अधिक मात्रा में सेवन करने से रोगी को शरीर में सुन्नता भी महसूस हो सकती है जिससे वह कोमा में भी जा सकता है.

नीम के अत्यधिक सेवन से पेट में जलन भी हो सकती है. इसलिए, इसका सेवन करने से पहले इसकी मात्रा का विशेष ध्यान रखें.



Share your comments