1. ख़बरें

अब 1 घंटे से ज्यादा ट्रेन लेट होने पर यात्रियों को मिलेगा रिफंड, पढ़ें पूरी खबर

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा
Indian Railway

अगर आप इंडियन रेलवे में सफर करते है तो आपके लिए रेलवे विभाग बहुत जल्द एक खुशखबरी लेकर आने वाला है. जिसको सुनकर आपको बहुत प्रसन्नता होगी. जैसा कि आजकल हम देखते ही है ट्रेन का समय पर न आना, 15 -20 मिनट लेट होना तो कभी -कभी एक-दो घंटा तक लेट होना एक आम सी बात हो गई है. ट्रेन लेट होने की वजह से लोगों को घंटो प्लेटफार्म पर इंतजार करना पड़ता है. तो इस समस्या को दूर करने के लिए और यात्रियों को अच्छी सुविधाए मुहैया करवाने के लिए IRCTC  कुछ नए बदलाव करने पर विचार कर रहा है.

Tejas train

दरअसल मीडिया में आई ख़बरों के अनुसार, रेलवे विभाग बहुत जल्द हमारे देश की पहली प्राइवेट ट्रेन चलाने जा रहा है. यह एक ऐसी ट्रेन है जिसके 1 घंटे से ज्यादा लेट होने पर यात्रियों को मुआवजा प्रदान किया जायेगा. IRCTC के एक सीनियर अधिकारी ने कहा है

Private train

कि हम जल्द ही दिल्ली से लखनऊ रूट पर तेजस एक्सप्रेस ट्रेन चलाने की इस पूरी योजनाओं को अब आखिरी रूप दे रहे हैं .   जिसमें यात्रियों को ट्रेन के गंतव्य तक पहुंचने में देरी होने पर कुछ रिफंड देने पर भी विचार कर रहे है. यह रिफंड यात्रियों को ई - वॉलेट में कैशबैक के तौर पर या फिर अगली यात्राओं पर कुछ हद तक छूट पर दिया जा सकेगा.

IRCTC

IRCTC  यात्रियों को ट्रेन में हर प्रकार की सुविधाएं प्रदान करने की कोशिश कर रहा है . जिसमें यात्रियों को दूसरी बार भोजन देने और चाय, कॉफी के लिए वेंडिंग मशीनें लगवाने की योजना शामिल है. उनका मुख्य मकसद यही है कि एयरलाइंस के यात्रियों की दिलचस्पी ट्रेन यात्रा में बढ़ाना. मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, IRCTC  के एक अधिकारी ने बताया कि यात्रियों को रेलवे की तरफ से सुबह का नाश्ता दिया जाता है. जब तक वे लखनऊ पहुंचते है तब तक दोपहर के भोजन का समय हो जाता है. इसलिए अधिकारी का कहना है कि वे यात्रियों को अब कुछ स्नैक्स आदि भी मुहैया करवाने पर विचार कर रहे है.

English Summary: IRCTC Indian Railways: Now passengers will get refund when the train is late, read full news

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News