1. विविध

Diwali 2021: इस दिन मनाया जाएगा दिवाली का त्योहार, जानिए मां लक्ष्मी के पूजन का शुभ मुहूर्त और भोग विधि

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Diwali 2021

Diwali 2021

हिंदू धर्म में दिवाली (Diwali 2021) का त्योहार सुख समृद्धि का प्रतीक माना गया है. यह त्योहार मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए सबसे उत्तम माना गया है. सभी जानते हैं कि हिंदू धर्म में मां लक्ष्मी को धन की देवी कहा गया है.

मां लक्ष्मी को वैभव और सुख-समृद्धि की देवी कहा जाता है, इसलिए मान्यता है कि दिवाली (Diwali 2021) पर शुभ मुहूर्त में पूजन करने से मां लक्ष्मी का प्रसन्न हो जाती हैं और जीवन में धन की कमी को दूर करती हैं.

साल 2021 में कब है दिवाली? (When is Diwali in the year 2021?)

दिवाली (Diwali 2021) का त्योहार हिंदू पंचांग के अनुसार, कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष के अमावस्या तिथि को मनाया जाता है. इस अनुसार छोटी दिवाली 05 नवंबर 2021 को मनाई जा रही है, तो वहीं बड़ी दिवाली 04 नवंबर 2021 को मनाई जा रही है.  

कब से कब तक है अमावस्या तिथि? (From when is the new moon date?)

अमावस्या तिथि 04 नवंबर को सुबह 06 बजकर 03 मिनट से प्रारंभ होगी, जो कि 05 नवंबर सुबह 02 बजकर 44 मिनट पर समाप्त होगी.

दिवाली पर लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त (Auspicious time for Lakshmi Puja on Diwali)

दिवाली (Diwali 2021) पर लक्ष्मी का पूजन शुभ मुहूर्त पर ही करना चाहिए, ताकि घर में लक्ष्मी का आगमन हो, साथ ही सुख व शांति बनी रहे. इस साल दिवाली (Diwali 2021) पर लक्ष्मी का पूजन शुभ मुहूर्त शाम 06 बजकर 09 मिनट से शुरू होगा, जो कि रात 08 बजकर 20 मिनट तक रहेगा. यानि लक्ष्मी पूजन की  अवधि 01 घंटे 55 मिनट तक की है.

ये खबर भी पढ़ें: दिवाली के मौके पर धूम मचाएगी बिना लाइसेंस वाली ई-बाइक

कैसे करें मां लक्ष्मी की पूजा (How to worship Maa Lakshmi)

  • दिवाली पर मां लक्ष्मी का पूजन करते समय सर्वप्रथम पूजा का संकल्प लें.

  • इसके बाद श्री गणेश, मां लक्ष्मी और सरस्वती के साथ कुबेर का पूजन करें.

  • इसके साथ ही ऊं श्रीं श्रीं हूं नम: का 11 बार जाप करें.

  • एकाक्षी नारियल या 11 कमलगट्टे पूजा स्थल पर रखें.

  • उत्तर दिशा में श्रीयंत्र प्रतिष्ठापित करें, फिर उसकी पूजा करें.

  • देवी सूक्तम का पाठ करें.

कैसे लगाएं मां लक्ष्मी को भोग (How to offer Bhog to Maa Lakshmi)

आप दिवाली (Diwali 2021) पर मां लक्ष्मी को फलों में सिघाड़ा,अनार, श्रीफल अर्पित कर सकते हैं. इसके साथ ही दिवाली की पूजा में सीताफल भी रखा जाता है. कुछ लोग दिवाली की पूजा में ईख भी शामिल करते हैं. कहा जाता है कि नदी के किनारे सिंघाड़ा पाया जाता है, इसलिए मां लक्ष्मी को सिंघाड़ा बहुत पंसद है. इसके अलावा आप मां लक्ष्मी को मिष्ठान में केसरभात, केसर पड़ी चावल की खीर व हलवा आदि भोग लगा सकते हैं.

English Summary: Diwali festival in the year 2021

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters