1. ख़बरें

लाखों किसानों को मिला कर्जमाफी का बड़ा तोहफा!

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Agriulture News

Agriulture News

झारखंड सरकार (Jharkhand Government) की तरफ से लगभग 2.5 लाख किसानों को एक बड़ा तोहफा दिया गया है. दरअसल, राज्य सरकार द्वारा ऐलान किया गया है कि राज्य के लगभग 2.46 लाख किसानों को 980 करोड़ रुपए की कर्जमाफी का तोहफा दिया गया है.

बता दें कि झारखंड में जब मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Chief Minister Hemant Soren) की सरकार ने एक साल पूरा किया था, तब दिसंबर 2020 में ही लोन वेवर स्कीम का ऐलान किया गया था. इस योजना के तहत अब पहले चरण में 50 हजार रुपए तक का लोन लेने वाले किसानों का कर्ज माफ कर दिया गया है.

झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख (Jharkhand Agriculture Minister Badal Patralekh) ने कहा है कि राज्य सरकार अपने किसानों की कर्ज माफी को लेकर प्रतिबद्ध है. हमारी सरकार की सबसे महत्वपूर्ण योजनाओं में से कृषि कर्ज माफी योजना एक है. इस योजना के तहत उन किसानों के चेहर पर खुशी लाई जाती है, जो कुछ समय तक कर्ज के बोझ में डूबे थे.

980.06 करोड़ रुपए की कर्जमाफी

राज्य सरकार के दिए गए बयान में कहा गया है कि पेश किए गए बजट में किसानों की कर्ज माफी का ऐलान किया गया था. इस पर अभी भी काम किया जा रहा है. ऐसे में सरकार ने कुल 2,46,012 किसानों का कर्ज माफ कर दिया है. इसमें सरकारी खजाने पर 980.06 करोड़ रुपए का बोझ बढ़ा है.

आधार से लिंक कराएं बैंक अकाउंट

कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि बैंकिंग प्रतिनिधि इस स्कीम पर सही तरीके से काम करें. इसके साथ ही मांग की है कि किसान अपने आधार से बैंक अकाउंट को लिंक करा लें, ताकि इस योजना का लाभ मिल सके.

गौरतलब है कि राज्य सरकार द्वारा पेश किए गए चालू वित्त वर्ष के बजट में किसानों की कर्ज माफी के लिए 1000 करोड़ रुपए की व्यवस्था की थी. दिसंबर, 2019 के विधानसभा चुनाव के  लिए घोषणा पत्र में वादा किया था कि किसानों का 2 लाख रुपए तक का कर्ज माफी किया जाएगा.

English Summary: agriculture loan of lakhs of farmers was waived

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News