1. लाइफ स्टाइल

Yellow Mustard Benefits: पीली सरसों के अनोखे व रामबाण नुस्खे, हेल्थ से जुड़ी कई बीमारियां होंगी दूर

व्यक्ति के लिए सरसों का तेल कई तरह से फायदेमंद होता है. इसमें ऐसे कई तत्व पाए जाते हैं, जिससे आपके सेहत में वृद्धि और सुंदरता बढ़ती है. इस लेख में जानें पीली सरसों के तेल के अनोखे फायदे...

लोकेश निरवाल
पीली सरसों के तेल से कई बीमारियां होंगी दूर
पीली सरसों के तेल से कई बीमारियां होंगी दूर

हर एक घर में सरसों के तेल का इस्तेमाल सबसे अधिक किया जाता है. सब्जी बनाने से लेकर अन्य कई तरह के कार्य के लिए सरसों का उपयोग किया जाता है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पीली सरसों के तेल को शरीर के लिए बहुत उपयोगी माना जाता हैं.

अगर आप इसका सही से उपयोग करते हैं तो व्यक्ति को दवाई की भी जरूरत नहीं होगी.  तो आइए इस लेख में पीली सरसों के अनोखे व रामबाण नुस्खे के बारे में जानते हैं, जिसके इस्तेमाल से आप भी अपने आप को स्किन, बाल और हेल्थ से जुड़ी कई बीमारियों से दूर रख सकते हैं...

पीली सरसों के तेल के फायदे (Benefits of yellow mustard oil)

अस्थमा कंट्रोल करने के लिए:  पीली सरसों के बीज (yellow mustard seeds) में सेलेनियम एंड मैग्नीशियम ज़्यादा मात्रा में पाया जाता है. इन दोनों में एंटी-इन्फ्लामेटरी गुण होता है. अगर आप पीली सरसों के तेल को रोजाना खाने में इस्तेमाल करते हैं, तो आपको अस्थमा, सर्दी और ब्रेस्ट में होने वाली दिक्कतों में लाभ मिलता है.

वजन कम करना: पीली सरसों के बीज में बी-कॉम्पलेक्स विटामिन जैसे- फोलेट, थियामाइन, नियासिन, रिबोफ्लाविन होता है, जिसका तेल हमारी बॉडी के मेटाबॉल्जिम को बढ़ाता है और साथ ही इसे शरीर का वजन कम करने में आसानी होती है.

एंटी-एजिंग: सरसों में कैरोटिन्स, जियक्साथिंस एंड ल्यूटिन, विटामिन A, C और K की मात्रा भरपूर पाई जाती है. इतने विटामिन मौजूद होने के कारण यह एंटीऑक्सीडेंट भी है जो बढ़ती उम्र में होने वाले निशान,झुर्रियां और रिंकल को दूर करता है.

भूख को बढ़ाना: एक अच्छी हेल्थ की पहचान तभी होती है जब व्यक्ति अपना खाना पूरा खाएं. ऐसा करने से आपका स्वास्थ्य भी अच्छा होता है. अगर आपको भूख नहीं लगता है, तो इसके लिए पीली सरसों का तेल बेस्ट है. बता दें कि सरसों का तेल पेट में गैस्ट्रिक जूस की तरह हमारे ऐपिटाइजर के रूप में काम करता है, जिससे भूख बढ़ने लगती है. इसलिए आज से ही खाने में पीली सरसों के तेल का इस्तेमाल करना शुरू करें. इससे आपको ज्यादा भूख लगेगी और आप हेल्दी भी रहेंगे.

कैंसर की रोकथाम के लिए: पीली सरसों के तेल में ग्लुकोजिलोलेट होता है, जो कैंसर विरोधी गुण होने की वजह से कैंसर ट्यूमर (गांठ) होने से बचाता है. सरसों में लाभकारी गुण होने की वजह से ग्लुको जिलेट और कोरो रेक्टल कैंसर से बचाने का काम करता है.

टैन स्किन और डार्क स्पॉट को कम करना: पीली सरसों के तेल से गर्मियों में होने वाली स्किन टैन और आंखों पर पड़ने वाले डार्क सर्कल को कम करने में मदद करता है. इसके लिए आपको अधिक कुछ करने की जरूरत नहीं है. बस आपको पीली सरसों के तेल में बेसन, दही और कुछ बूंदे नींबू की मिलाकर चेहरे पर लगाना है, इसे आप 10 से 15 मिनट चेहरे पर लगा कर रखें, उसके बाद ठंडे पानी से चेहरे को साफ कर लें. इस उपाय को हफ्ते में दो या तीन बार करें.

स्किन होगी लाइट: पीली सरसों के तेल में नारियल के तेल (coconut oil) को मिलाकर फेस की 5 से 6 मिनट तक सर्कुलर तरीके से चेहरे की मसाज करें. मसाज करने के बाद गीली रुई से चेहरे को साफ करें. इस मसाज से चेहरे का ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है, जिसे आपकी डल व रूखी स्किन लाइट हो जाती है.

English Summary: Unique and panacea recipes of yellow mustard, many diseases related to skin, hair and health will be removed Published on: 03 November 2022, 12:49 IST

Like this article?

Hey! I am लोकेश निरवाल . Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News