Lifestyle

क्या करें जब घिसने लगे घुटनों की ग्रीस

आज के रफ़तार भरे जीवन में किसी के पास समय नहीं है. हर कोई पैसा कमाने और अपनी ज़रुरतों को पूरा करने के लिए दिन-रात मेहनत कर रहा है. इस दौड़भाग में लोग भूल गए हैं कि उनके स्वास्थ्य का स्तर प्रतिदिन गिरता जा रहा है और उनका शरीर कमज़ोर हो रहा है. आज लोगों का शरीर इतना कमज़ोर हो गया है वह आसानी से बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं. बीते कुछ सालों में घुटनों की बीमीरी या घुटनों में दर्द की शिकायत बढ़ी है और आज घुटनों में दर्द की शिकायत करने वाले रोगियों से अस्पताल भरा पड़ा है. आइए जानते हैं कि घुटनों में होने वाले दर्द से कैसे बचा जा सकता है.

खानपान है सबसे अहम

हमारे शरीर के हर भाग का अपना एक कार्य होता है और शरीर के उस भाग की अपनी ज़रुरतें भी होती हैं. जब हम बात घुटनों की कर रहे हैं तो आपको बता दें कि घुटने का प्रमुख कार्य होता है शरीर के वज़न को संतुलित कर हमारे चलने की क्रिया को बनाए रखना और इसके लिए घुटनों का कुछ सहयोगी अंग साथ देते हैं. इसलिए हमें यह ध्यान देना चाहिए कि ऐसा खानपान करें कि हमारे घुटनों को पोषण मिलता रहे और वह कमज़ोर न हो.

खड़े होकर न पीएं पानी

हमारे शरीर में लगभग 70 प्रतिशत पानी होता है और यह पानी हमारे शरीर के हर भाग को क्रियाशील रखने में मदद करता है और यदि शरीर में पानी की मात्रा कम हो जाती है तो शरीर के भाग पानी जुटाने में मदद करते हैं और कईं बार पानी की कमी से शरीर डीहाईड्रेट भी हो जाता है परंतु पानी भी घुटनों को नुकसान करता है अगर उसे खड़े होकर पीया जाए इसीलिए पानी जब भी पीएं बैठ कर पीए.

रात में न खाएं खट्ठी चीज़ें

जैसे कि हम ऊपर भी बता चुके हैं कि खानपान का घुटनों से सीधा संपर्क है इसलिए क्या खाएं, यह जानने से ज़्यादा ज़रुरी है कि क्या न खाएं. रात्रि के समय खट्टी चीजें जैसे - दही, संतरा,मौसमी, नींबू, कीनू, छाछ, इमली और आम का सेवन न करें. रात के समय इनका सेवन आपके खुटनों के लिए नुकसानदेह हो सकता है.

नित्य करें व्यायाम

कहावत है कि अगर नईं मशीन भी हो परंतु उससे काम न लिया जाए तो पड़े-पड़े उसमें भी जंग लग जाता है. ठीक उसी तरह हमारा शरीर भी भीतर से एक मशीन की तरह ही है, जहां हर भाग का अपना एक काम होता है और यदि हाथ और पैर न चलाएं जाएं तो शरीर में जंग लग जाता है. इसीलिए नित्य व्यायाम करें - दौड़ें, योगा करें या फिर कुछ खेल खेलकर शरीर की वरजिश करते रहें.



Share your comments