आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे
  1. खेती-बाड़ी

बच की खेती में 40 हजार लगाकर कमाएं 2 लाख रुपए, जानिए तकनीक

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Sweet Flag Farming

Sweet Flag Farming

आधुनिक समय में कृषि क्षेत्र से जुड़े तमाम विकल्प उपलब्ध हैं, जिनकी मदद से पारंपरिक खेती आसानी से करते हैं. अब सरकार भी किसानों को अलग-अलग फसलों की खेती के लिए प्रोत्साहित कर रही है.

सरकार का प्रयास है कि नए प्रयोग के साथ पारंपरिक खेती करें. इससे किसानों की आमदनी में वृद्धि होगी. अगर आप भी पारंपरिक खेती करते हैं और आपके पास बेकार जमीन भी पड़ी है, तो हम आपको एक ऐसी खेती के बारे में बताने जा रहे हैं. दरअसल, आप बच (वच) पौधा की खेती करके अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं. इसकी खेती में लगभग 40 हजार रुपए की लागत लगेगी, जिससे आप लगभग 2 लाख रुपए तक की कमाई कर सकते हैं.

क्या होता है बच पौधा (What is the Sweet Flag Plant)

इसे अंग्रेजी में स्वीट फ्लैग कहा जाता है. यह एक एरेसी कुल का पौधा है, जिसका वानस्पतिक नाम एकोरस कैलमस है. इसके तने को राइजोम कहा जाता है. इस पौधे में कई औषधीय गुण मौजूद होते हैं.

कहां पाया जाता है बच का पौधा (Where is the Sweet Flag Plant)

यह पौधा मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और बिहार में ज्यादा पाया जाता है. यह सतपुड़ा और नर्मदा के किनारे वाले इलाकों में होता है. इसका पौधा नदी किनारे दलदली भूमि में बहुत होता है. बता दें कि बच के राइजोम का तेल स्वास रोग, बदहजमी, मूत्र रोग और दस्त रोग समेत  कई रोगों के लिए कारगर साबित है.

बच की खेती संबंधी जानकारी (Information on Sweet Flag Farming)

  • इसकी खेती के लिए बलुई दोमत मिट्टी उपयुक्त मानी जाती है.

  • इसकी खेती से पहले सिंचाई की व्यवस्था कर लें.

  • खेती के लिए तापमान 10 डिग्री से 38 डिग्री तक उत्तम है.

  • इसके पौधे अत्यधिक गर्मी में बढ़ नहीं पाते हैं.

  • बच की खेती के लिए खेत को पहले से तैयार करना जरूरी है.

  • खेत की 2 से 3 बार जुताई कर लें.

  • भूमि को थोड़ी दलदली बना लें.

  • खेती के लिए इसके राइजोम का इस्तेमाल किया जाता है.

  • बुवाई के लिए प्लाटिंग में इस्तेमाल होने वाला राइजोम पुरानी फसल से ही मिलता है.

  • राइजोम को ऐसे जगह लगाएं, जहां की जमीन नम हो.

  • अंकुरण के बाद छोटे-छोटे टूकड़े की रोपाई की जाती है.

  • राइजोम को 30 सेंटीमीटर की दूरी पर रोपा जाता है.

  • खेती में पानी की जरूरत ज्यादा पड़ती है.

  • बारिश में रोपाई कर देनी चाहिए.

  • अच्छी फसल के लिए गोबर खाद या कम्पोस्ट खाद डालना चाहिए.

  • इसकी फसल तैयार होने में 8 से 9 माह का समय लगता है.

  • जब इसकी पत्तिया पीली और सूखने लगें, तो पौधों को जड़ समेत जमीन से निकाल लिया जाता है.

  • इसके साथ ही राइजोम को नुकसान न पहुंचाने का ध्यान रखा जाता है.

  • मिट्टी से निकाले गए राइजोम को धोना नहीं होता है.

  • इसे छायादार जगह पर सूखाएं.

बच की खेती से कमाई (Income from Sweet Flag Farming)

एक एकड़ में एक लाख प्लांट लगा सकते हैं. इसका खर्च लगभग 40 हजार रुपए आता है और कमाई हर साल 2 लाख रुपए तक होती है. किसानों को काफी अच्छी कमाई हो सकती है. इसकी काफी मांग है. बता दें कि कुछ कंपनियां कॉन्ट्रैक्ट पर बच की खेती कराती हैं. दिल्ली, बेंगलुरु, हरिद्वार, टनकपुर और नीमच समेत देश की अन्य मंडियों में बच की खरीद-बिक्री बड़े स्तर की जाती है.

English Summary: earn profit from sweet flag farming

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News