1. ख़बरें

गन्ना किसानों के लिए बना है ‘ई-गन्ना’ मोबाइल एप्लीकेशन, घर बैठे मिलेगी सारी जानकारी

सिप्पू कुमार
सिप्पू कुमार

गन्ना किसानों के लिए बना है ‘ई-गन्ना’ मोबाइल एप्लीकेशन

बसंत का मौसम आने वाला है और किसान भाई इन दिनों गन्ने की तैयारी करने लगे हैं. अधिकतर किसानों ने योजना बना रखी है कि फरवरी के अंत तक गन्ने की बुवाई शुरू देनी है. लेकिन बहुत से किसान ऐसे भी हैं, जो गन्ने की खेती करना तो चाहते हैं, लेकिन उन्हें इसके बारे में अधिक जानकारी नहीं है.

इन किसानों को आज हम एक खास ऐप के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी मदद से वो गन्ने के बारे में हर तरह की जानकारी ले सकते हैं. चलिए आपको इस बारे में विस्तार से बताते हैं.

गन्ना किसानों के लिए विशेष ऐप

‘ई-गन्ना’ एक ऐसा मोबाइल ऐप है, जिसकी मदद से आप हर तरह की जानकारी, जैसे- मौसम, गन्ना बकाया, भुगतान और बाजार रेट आदि के बारे में जानकारी घर बैठे ले सकते हैं.

टोल फ्री नंबर पर भी ले सकते हैं जानकारी

इतना ही नहीं इस मोबाइल एप्लिकेशन के सहारे आप सर्वे डेटा, गन्ने से जुड़ी सरकारी सूचनाएं, प्री कैलेंडर और अन्य बेसिक तरह की सूचनाएं प्राप्त कर सकते हैं. अगर आप इंटरनेट चलाने में सहज महसूस नहीं करते तो टोल-फ्री नम्बर 1800-121-3203 पर भी कॉल कर पूरी जानकारी ले सकते हैं.

गन्ना किसानों को होगा फायदा

निसंदेह ई-गन्ना मोबाइल ऐप की मदद से किसानों को सरकारी योजनाओं के बारे में बहुत कुछ विस्तार से मालुम पड़ेंगा. इतना ही नहीं माफियाओं और बिचौलियों पर पर उनकी निर्भरता भी समाप्त हो सकेगी.

कोरोना काल में फायदेमंद

कोरोना काल में अधिकतर सरकारी ऑफिस बंद हैं या वहां काम कर्मचारियों के सहारे चल रहा है. सरकार की कोशिश है कि अधिक से अधिक सेवाएं ऑनलाइन ही किसानों को प्रदान की जा सके. गन्ना किसान भी इस ऐप की मदद से समिति कार्यालय में होने वाले लगभग सभी काम घर बैठे ही कर सकेंगें.

इस तरह करें इंस्टॉल

इस ऐप को इंस्टॉल करने के लिए आपको अपने मोबाइल के गूगल प्ले स्टोर पर जाना है और सर्च के बॉक्स में ई गन्ना लिखना है. इसके बाद डाउनलोड के ऑप्शन पर क्लिक करना है.

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News