1. ख़बरें

पाकिस्तान का बड़ा ऐलान, 'भारत में लगातार कोरोना से लोग दम तोड़ रहे हैं, इसलिए अब हम..

सचिन कुमार
सचिन कुमार

Imaran khan

बेकाबू हो चुके कोरोना के कहर को काबू में करने की सारी कोशिश अभी नाकाम नजर आ रही है. चौतरफा बरसती मरीजों की चित्कार बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की कलई खोल चुकी है. ऑक्सीजन के अभाव में दम तोड़ते मरीजों की बढ़ती तादाद से हर कोई खौफ में है. बेबस, लाचार और असहाय मरीजों के तीमारदारों की गुहार को अनसुना किया जा रहा है. बेशक, सरकार लोगों को दिलास देने के लिए अपने तरकश से कोशिशों के तीर निकाल कर अपनी नाकामियों की लीपापोती करने में जुटी हो, मगर बेबस, लाचार व असहाय मरीजों के तीमारदारों की वेदना अब सरहद की सीमाओं को लांघ कर उस मुल्क के नुमाइंदों को भी दहला चुके हैं, जो कल तक हमारी मुखालफत करते हुए आए हैं, लेकिन हमारी बेबसी और लाचारी को देख उनका भी दिल इस कदर पसीज गया कि अब हमे मदद की पेशकश कर रहे है.

यह मुल्क कोई और नहीं, बल्कि पाकिस्तान है. जी हां... कल तक दो वक्त की रोटी के लिए मुहाल रहने वाले पाकिस्तान. इसे हम अपने लिए दरियादिली समझे या चाल. इस पर तो फिलहाल कोई टिप्पणी करना मुनासिब न होगा. पाकिस्तान से  पहले उसके सदाबाहर मित्र चीन का दिल भी भारत की बदहाली देखकर पसीज चुका है. चीनी विदेश मंत्रालय ने कोरोना के  बढ़ते मामले को देखते हुए भारत की मदद करने का ऐलान किया है.

यहां गौर करने वाली बात यह है कि बीते कुछ दिनों से भारत में जिस तरह कोरोना के कहर का आलम है, उस पर अभी तक अमेरिका ने भी कोई टिप्पणी नहीं की है, मगर अब तक पाकिस्तान और चीन की तरफ से भारत की मदद की पेशकश आ चुकी है. हालांकि, चीन ने भारत की मदद करने के लिए अभी तक दिल्ली से कोई संपर्क नहीं साधा है. विगत दिनों चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने भारत में कोरोना के कोहराम को देखते हुए मदद करने का ऐलान किया था और अब पाकिस्तान ने भी भारत को मदद की पेशकश की है.

वहीं, पाकिस्तान की इस पेशकश के बाद भारत में लोगों की प्रतिक्रियाओं की बाढ़ आ गई है. कहा जा रहा है कि कल तक खुद दो जून की रोटी के लिए मुहाल रहने वाला पाक भला अब हमारी मदद करेगा. उसके अपने यहां तो हालात दुरूस्त होने का नाम नहीं ले रहे हैं. वहीं, कई प्रतिक्रियाओं में यह तक कहा जा रहा है कि पाकिस्तान अपने यहां उपजी बदहाली को छुपाने की कोशिश कर रहा है. बेशक, कल तक खुद ड्रैगन से मदद की भीख मांगने वाला पाक की मदद का दरकार भारत को नहीं है. प्रतिक्रियाओं में लगातार यब बात कही जा रही है.

यहां हम आपको बताते चले कि भारत में कोरोना से गंभीर हो चुके हालातों को मद्देनजर रखते हुए पाकिस्तान के समाजसेवी अब्दुल सत्तार इदी के बेटे फैसल इदी ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर भारत की मदद करने का ऐलान किया है. उन्होंने अपने पत्र में कहा कि हम इदी फाउंडेशन में भारत के लोगों पर पड़ रहे कोरोना संकट के असर को देख रहे हैं. हमें यह जानकर दुख हुआ कि महामारी का आपके देश पर इतना ज्यादा असर है जहां बड़ी संख्या में लोग जूझ रहे हैं। वहीं, भारत की तरफ से अभी तक पाकिस्तान द्वारा लिखे गए इस पत्र पर कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है. 

फैसल ने कहा कि वे भारत की मदद करने के लिए अपने स्वास्थ्यकर्मियों की टीम भेजना चाहते हैं, ताकि भारत में बेकाबू हो चुकी स्थिति को काबू में किया जा सके. फैसल ने यह भी कहा इस काम के लिए भारत पर कोई बोझ नहीं पड़ेगा.

English Summary: statement of pakistan on corona virus in india

Like this article?

Hey! I am सचिन कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News