News

किसानों से समर्थन मूल्य से कम में फसल खरीद करने पर होगी जेल!

farmer

मध्य प्रदेश में उपचुनाव की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आती जा रही है, वैसे-वैसे राजनीतिक दलों द्वारा जनता से वादों की झड़ी शुरू हो गई. अब मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने प्रदेश के किसानों से बड़ा वादा किया है. उन्होंने किसानों से फसल बीमा राशि और समर्थन मूल्यों पर फसलों की खरीदी जैसे कई वादे किए हैं. तो आइये जानते हैं किसानों से जुड़े उनके मुख्य वादें-

नया कानून बनेगा

पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने किसानों से वादा किया है कि यदि प्रदेश में उनकी सरकार बनती है तो फसलों की खरीदी को लेकर नया कानून बनाया जाएगा. उन्होंने ऐलान किया है कि किसानों से उनकी फसल समर्थन मूल्य से कम में नहीं खरीदी जाएगी. वहीं प्रदेश में कांग्रेस की बनते ही केंद्र सरकार का नया किसान विरोधी कानून लागू नहीं होगा. हम सर्मथन मूल्य पर खरीदी का कानून बनाएंगे. साथ पूर्व सीएम कहा कि हम ऐसा कानून बनाएंगे समर्थन मूल्य से कम में खरीदी अपराध होगा. समर्थन मूल्य से कम में खरीदी करने वालों को जेल होगी. बता दें कि केंद्र सरकार के नए किसान बिल को लेकर देशभर में विरोध हो रहा है. इसलिए कमल नाथ का यह ऐलान मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है.

गोधन योजना 

राज्य में 28 सीटों पर होने वाले चुनाव से पहले कांग्रेस ने अपने वचन पत्र जारी किया है. जिसमें किसानों की कर्जमाफी के अलावा गोधन सेवा योजना का भी जिक्र है. गौरतलब है कि 2018 में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने प्रदेश के किसानों का 2 लाख रुपये तक कर्जा माफ करने का ऐलान किया था. जिसके बाद प्रदेश में 15 साल के लंबे वक्त बाद कांग्रेस की सरकार बनी थी. हालाँकि बीजेपी उस समय की कमल नाथ सरकार पर आरोप लगाते रहे हैं कि उन्होंने किसानों से जो वादा किया था वो पूरा नहीं किया इसलिए सत्ता से बेदखल हुए.    



English Summary: kamal naths big announcement about farmers

कृषि पत्रकारिता के लिए अपना समर्थन दिखाएं..!!

प्रिय पाठक, हमसे जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। कृषि पत्रकारिता को आगे बढ़ाने के लिए आप जैसे पाठक हमारे लिए एक प्रेरणा हैं। हमें कृषि पत्रकारिता को और सशक्त बनाने और ग्रामीण भारत के हर कोने में किसानों और लोगों तक पहुंचने के लिए आपके समर्थन या सहयोग की आवश्यकता है। हमारे भविष्य के लिए आपका हर सहयोग मूल्यवान है।

आप हमें सहयोग जरूर करें (Contribute Now)

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in