एग्रो बिहार सपन्न किसानों ने जमकर कृषि यंत्र खरीदे

बिहार के कृषि मंत्री डॉ प्रेम कुमार ने कहा कि 2018 में एग्रो बिहार प्रदर्शनी-सह-मेला में राज्य के किसानों ने जमकर कृषि यंत्रों की खरीदारी की है। इस प्रदर्शनी में लगभग 36 करोड़ रूपये के कृषि यंत्रों की बिक्री हुई, जिन पर राज्य के किसानों को 11,69,24,050 रूपये अनुदान दिया गया है। इस प्रदर्शनी में चार दिनों में लगभग 30,000 लोग आये। इस वर्ष इस मेले का आयोजन काफी सुन्दर तरीके से किया गया था। राज्य सरकार द्वारा राज्य में किसानों को 71 प्रकार के कृषि यंत्रों के क्रय पर 180 करोड़ रूपये अनुदान देने का प्रावधान किया गया है। इस मेला में पोर्टेबल कोल्ड स्टोरेज किसानों के आकर्षण का केन्द्र रहा, जिस पर सरकार द्वारा किसानों को बागवानी मिशन के माध्यम से 6.50 लाख रूपये अनुदान दिया जा रहा है। उन्होंने इस मेला के आयोजन में सहयोग करने के लिए विभागीय पदाधिकारियों व कर्मचारियों, सीआईआई के कर्मियों विशेषकर राज्य के किसान भाईयों एवं बहनों को धन्यवाद किया।

इस प्रदर्शनी-सह-मेला में चार दिनों में राज्य के किसानों के बीच 81 कम्बाईन हार्वेस्टर, 125 रीपर-कम-बाईन्डर, 37 पावर टीलर, 463 रोटावेटर, 10 लैंड लेजर लेवलर, 349 थ्रेसर, 106 स्ट्राध्सेल्फ रीपर, 306 चैफकटर, 10 मिनी रबर राईस मिल, 78 कल्टीवेटर, 347 पम्पसेट, 57 डीस्कहैरो, 388 पावर स्प्रेयर, 13 जीरोटिलेज, 22 पावर बिडर आदि कृषि यंत्रों के क्रय पर 11,69,24,050 रूपये अनुदान के रूप में वितरित किये गये, जिसमें आज 3,43,38,250 रूपये अनुदान दिये गये।

कृषि उत्पादन आयुक्त ने कहा कि कृषि विभाग एवं सीआईआई के संयुक्त प्रयास से इस मेला का सफल आयोजन किया गया है। इस मेला में राज्य के किसानों को 11,69,24,050 रूपये कृषि यंत्रों पर अनुदान के रूप में दिया गया है। उन्होंने सभी जिला कृषि पदाधिकारी को निदेश दिया कि यह अनुदान की राशि 10-15 दिनों में किसानों के खाते में चला जाना चाहिए।  उन्होंने कहा कि अगले वर्ष और बेहतर रूप से मेला का आयोजन किया जायेगा।

कृषि निदेशक ने अपने संबोधन में कहा कि बिहार में 2011 से एग्रो बिहार मेला का आयोजन किया जाता रहा है। परन्तु इस साल इसका आयोजन सबसे सफल आयोजन था। उन्होंने सभी जिला कृषि पदाधिकारियों को मेला के आयोजन में सहयोग करने के लिए सराहना की। परन्तु इस मेला में कृषि यंत्रों पर अनुदान देने वाले श्रेष्ठ तीन जिले रोहतास, पटना और मधुबनी को विशेष रूप से धन्यवाद दिया। इन तीनों जिलों में किसानों को क्रमशः 2,04,30,000, 1,57,83,000 एवं 1,32,50,000 रूपये कृषि यत्रों पर अनुदान दिया गया है। उन्होंने कहा कि मेला का आयोजन इस बार भव्य था, परन्तु पोर्टेबल कोल्ड स्टोरेज किसानों के आकर्षण का केन्द्र रहा। उन्होंने मेला में भाग ले रहे सभी किसानों, कृषि यंत्र निर्माताओंध्बिक्रेताओं को अगले साल पुनः इस मेला में आने का अपील भी किया।

वर्ष 2011 से एग्रो बिहार राज्य स्तरीय कृषि यांत्रिकरण मेला का आयोजन प्रत्येक वर्ष पटना में किया जाता रहा है। इस मेले की विशेषता यह है कि यहाँ एक ही स्थान पर आधुनिक कृषि यंत्रों के निर्माता-विक्रेता एवं किसान का सीधा संवाद होता है तथा विभिन्न प्रकार के आधुनिक कृषि यंत्र भी मेला में उपलब्ध होते हैं। कृषि विभाग के इस पहल से राज्य के किसानों को राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर के आधुनिक कृषि यंत्रों के बारे में जानकारी लेने एवं उन्हें खरीदने का मौका मिलता है।

मेला परिसर में संचालित किसान पाठशाला में प्रतिभागी किसानों को श्री सुधीर कुमार मिश्र, उप निदेशक भूमि संरक्षण ने अधिक उत्पादन के लिए सूक्ष्म सिंचाई एवं ड्रीप सिंचाई प्रणाली का महव एवं प्रयोग विधि के बारे में बताया। बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर, भागलपुर के वैज्ञानिक द्वारा कृषकों को कृषि एवं बागवानी से संबंधित सिंचाई यंत्रों के बारे में विस्तृत जानकारी दिया गया। पाठशाला में जहाँ उद्यान महाविद्यालय, नूरसराय (नालंदा) के वैज्ञानिक ने बागवानी में विभिन्न कृषि यंत्रों के प्रयोग विधि के बारे में प्रशिक्षित किया, वहीं भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद्, पटना के वैज्ञानिक द्वारा किसानों को फसलों की बुआई के उपरान्त कटाई, दौनी एवं उनका प्रसंस्करण से संबंधित कृषि यंत्रों की जानकारी, उपयोगिता एवं प्रयोगविधि के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई।

मेला परिसर में प्रत्येक दिन कृषकों के मनोरंजन के लिए कला, संस्कृति एवं युवा विभाग द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। इस कड़ी में आज मेला के मुख्य मंच से श्री मनोरंजन ओझा, श्री अमर कुमार पाण्डेय एवं श्रीमती कंचन कुमारी द्वारा लोकगीत की प्रस्तुति दी गई, जो दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। नवरंगशाला, पटना के कलाकारों द्वारा लोक नृत्य का भव्य प्रदर्शन किया गया।

गाँधी मैदान, पटना में कृषि विभाग, बिहार द्वारा सीआईआई के सहयोग से आयोजित दिनांक 22-25 फरवरी, 2018 तक चलने वाले चार दिवसीय एग्रो बिहार, 2018 राज्यस्तरीय कृषि यांत्रिकरण मेला का समापन सफलतापूर्वक सम्पन्न हो गया। इस समारोह में सभी कृषि यंत्र निर्माता कम्पनियों को श्री सुनिल कुमार सिंह, कृषि उत्पादन आयुक्त, श्री हिमांशु कुमार राय, कृषि निदेशक, बिहार एवं श्री पीके सिन्हा, अध्यक्ष, सीआईआई, बिहार द्वारा संयुक्त रूप से प्रमाण-पत्र एवं मोमेन्टो प्रदान किया गया। इस अवसर पर कृषि विभाग के श्री धनंजयपति त्रिपाठी, निदेशक, पीपीएम, श्री गणोश राम, निदेशक, बामेती, श्री आभान्शु सी जैन, संयुक्त निदेशक (शष्य), मगध प्रमंडल, श्री अशोक प्रसाद, संयुक्त निदेशक (रसायन), कम्पोस्ट एवं बायोगैस, श्री रवीन्द्र कुमार वर्मा, संयुक्त निदेशक, कृषि अभियंत्रण-सह-नोडल पदाधिकारी, कृषि यांत्रिकरण, श्री उमेश कुमार चैधरी, संयुक्त निदेशक (शष्य), पटना प्रमंडल, श्री नरेन्द्र कुमार लोहानी, उप निदेशक, कृषि अभियंत्रण, श्री रोहित लाल, सीआईआई के स्टेट हेड, बिहार सहित कृषि विभाग एवं सीआईआई के अन्य पदाधिकारीध्कर्मचारीगण उपस्थित थे। कृषि उत्पादन आयुक्त, बिहार ने विभागीय पदाधिकारीध्कर्मचारीगण, मेला में भाग ले रहे विभिन्न राज्यों से आए ख्यातिप्राप्त कृषि यंत्र निर्माताध्विक्रेता, सीआईआई परिवार तथा राज्य के कोने-कोने से आये हुए किसान भाई-बहनों को हार्दिक धन्यवाद दिया।

 

संदीप कुमार

कृषि जागरण / पटना

Comments