1. बागवानी

Home Gardening: गार्डन के लिए 3 तरीके से बनाएं कोकोपीट, पौधा हेल्दी तरीके से करेगा ग्रो

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Cocopeat

Cocopeat

घर में लगे पेड़-पौधे न स़िर्फ सुंदरता बढ़ाते हैं, बल्कि वातावरण को तरोताजा रखते हैं, इसलिए आजकल हर कोई अपने घर में गार्डन बनाना चाहता है. 

अगर आपको बागवानी (Gardening) करना पसंद है, तो आपके लिए जरुरी है एक ऐसी तकनीक के बारे में जानना जिससे आप बहुत आसानी से अपने गार्डन में पौधे उगा सकते हैं.

दरअसल, अधिकतर लोगों को लगता है कि वह पौधों को सिर्फ मिट्टी की मदद से उगा सकते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि पौधों को कोकोपीट (Cocopeat) के इस्तेमाल से भी उगाया जा सकता है. इस लेख में पढ़ें  कि बागवानी में किस तरह कोकोपीट का इस्तेमाल (Cocopeat Use) कर सकते हैं.  

क्या है कोकोपीट? (What is Cocopeat)?

कोकोपीट (Cocopeat) एक तरह की आर्टिफिशियल मिट्टी है, जो नारियल के छिलकों (Coconut Husk) से तैयार की जाती है. इतना ही नहीं, इसे मिट्टी के साथ मिलाकर भी लगाया जा सकता है. कुछ लोग बाजार से कोकोपीट खरीदते हैं. हालांकि, यह महंगा नहीं होता है, लेकिन आप इसे घर पर बना सकते हैं.

नारियल की खासियत (Specialty of Coconut)

नारियल में जटा जैसे रेशे होते हैं, जिनमें भारी गैस को खींचकर पर्यावरण को शुद्ध करने की क्षमता होती है. नारियल की यह क्षमता पौधों और वातावरण के लिए लाभकारी होती है. आप नारियल के छिलकों (Coconut Husk) से कोकोपीट 3 प्रकार से बना सकते हैं, जिसे पौधों में थोड़ा-थोड़ा इस्तेमाल कर सकते हैं.

नारियल की  जटा बारीक काट लें (Finely Chop the Coconut Husks)

कोकोपीट बनाने के लिए नारियल की जटा को बारीक काट लें. उसे मिक्सर में पीसकर पाउडर की तरह बनाएं. इसके बाद थोड़ा पानी डालकर डीकंपोस्ट होने के लिए 1 से 2 महीने तक के लिए छोड़ दें. 

अब आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं. ध्यान रहे कि जब नारियल के रेशे को मिक्सर में पीसें, तो मिक्सर के ब्लेड  टूट भी सकते हैं, इसलिए कई लोग यह तरीका पसंद नहीं करते हैं. अगर आप चाहें, तो मिक्सर में नारियल के रेशे को  पीसने से पहले कैंची से बारीक काट सकते हैं.  

नारियल के बुरादे का इस्तेमाल (Using Coconut Powder)

जब आप नारियल की जटा को निकालते हैं, तो बुरादा निकलना शुरू हो जाता है. आप इस बुरादे  को सीधे भी इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके अलावा आप इसे 1 महीने के लिए डीकंपोस्ट होने के लिए छोड़ सकते है. यह काफी अच्छा तरीका है, लेकिन नारियल से बुरादा निकालने में काफी समय लग जाता है. बता दें कि विदेशों में फार्मिंग के लिए कोकोपीट का काफी इस्तेमाल किया जाता है.

नारियल के छिलकों को करें स्टोर (Store Coconut Peels)

आप नारियल के छिलके (Coconut Husk) को बड़ी सी बाल्टी में भर लें या फिर मिट्टी के बर्तन में भरकर रख लें. फिर नारियल के छिलकों को पानी से भर दें. इसे 3 महीने तक स्टोर करें. 

ध्यान रहे कि इसमें पानी दिन पर दिन कम होता जाएगा, इसलिए इसे बीच-बीच में पानी से भरते रहें. 3 महीने होने पर यह डीकंपोस्ट होना शुरू हो जाएगा. फिर आप इसे बाहर निकाल सकते हैं.

इस दौरान नारियल की जटा भूरी से काली हो जाएगी. फिर इसे बाहर धूप में रखना है और एक-एक कर सभी नारियल की जटाओं से रेशे निकालना है. इससे रेशे और बुरादा आसानी से निकल जाएंगे. अब आप पौधों में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं.

अगर आप चाहें, तो इसे एक बर्तन में निकाल लें, साथ ही बुरादा और रेशे एक साथ रखें. इसके बाद अंडे के छिलके व बची हुई चायपत्ती के साथ मिक्स कर लें, फिर पौधों में इसका इस्तेमाल करें. इस तरह पौधे की वृध्दि अच्छी होगी.

कोकोपीट इस्तेमाल करने का सही तरीका (Correct way to use Cocoapit)

  • कोकोपीट बहुत देर तक अपने अंदर नमी बनाए रखने की क्षमता रखता है, इसलिए पौधों को नमी मिलती रहती है. ऐसे में पानी डालने की आवश्यकता नहीं होती है.

  • अगर कोकोपीट में पौधा लगा रहे हैं, तो सीडलिंग पॉट का इस्तेमाल कर सकते हैं. इस पॉट में कोकोपीट भर दें और बीज डाल दें. जब यह अंकुरित हो जाए, तो गमले में शिफ्ट कर दें.

English Summary: how to make cocopeat for home gardening

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters