MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. खेती-बाड़ी

Olea Europaea: आस्था का प्रतीक है मन्द्राक वृक्ष, जानें और किन कामों में आता है यह

विश्व में ऐसे बहुत से वृक्ष हैं जो आज भी लोगों की आस्था का केंद्र बने हुए हैं. यह पेड़-पौधे केवल आस्था का ही नहीं वरण प्राकृतिक रूप से या जीवों के हित से सम्बंधित बहुत से कामों में यह अग्रणी भूमिका का निर्वहन करते हैं.

प्रबोध अवस्थी
This plant is used for many types of medicines.
This plant is used for many types of medicines.

मन्द्राक वृक्ष (Olea europaea), जिसे आमतौर पर "काले बेर" के नाम से जाना जाता है, एक महत्वपूर्ण पौधा है जो मेदितेरेनियन क्षेत्र के लोगों के लिए प्राचीन समय से ही महत्वपूर्ण है. इस पौधे का वैज्ञानिक नाम Olea europaea है और यह खाद्य, औषधीय और सामाजिक महत्व के कारण प्रसिद्ध है. यहां हम आपको मन्द्राक वृक्ष के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करेंगे. तो आइये जानें कि क्यों ख़ास है यह पेड़.

This plant is associated with religious sentiments.
This plant is associated with religious sentiments.

मन्द्राक वृक्ष (Olea europaea) एक प्राचीन पौधा

मन्द्राक वृक्ष (Olea europaea) ज्यादातर दक्षिण यूरोप, आफ्रीका और एशिया के मेदितेरेनियन क्षेत्रों में पाया जाता है. यह एक छोटा वृक्ष होता है जिसकी ऊंचाई 8-15 मीटर तक होती है, लेकिन कई स्थानों पर इसकी ऊंचाई 20 मीटर तक भी हो सकती है. इसकी पत्तियां सफेद, चमकदार हरे रंग की होती है और इसके फूल चमकदार श्वेत होते हैं जिनमें बहुत ही प्यारी खुशबू आती है.

यह भी देखें- हर समस्या का एक ही समाधान, इस औषधीय पौधे की खेती से हो सकते मालामाल

प्राचीनता में महत्वपूर्णता

मन्द्राक वृक्ष प्राचीनकाल से ही मानव समाज के लिए महत्वपूर्ण रहा है. इसकी पत्तियों और फलों से निकाले जाने वाले तेल का उपयोग खाद्य और औषधीय उद्देश्यों के लिए किया जाता है. मन्द्राक वृक्ष के तेल में विभिन्न पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं. इसका उपयोग खाद्य बनाने, सलादों में ड्रेसिंग के रूप में और विभिन्न पकवानों में तेल के रूप में किया जाता है.

This plant found in many countries is also a symbol of Indian faith.
This plant found in many countries is also a symbol of Indian faith.

औषधीय गुणों का स्रोत

मन्द्राक वृक्ष के फल, पत्तियां और तनों में विभिन्न औषधीय गुण पाए जाते हैं. इसका तेल मसाज तेल के रूप में, त्वचा की देखभाल में और बालों के लिए उपयोग किया जाता है. इसका तेल त्वचा को मोइस्चराइज़ करता है, रुखी और तैलीय त्वचा को संतुलित करता है और उम्र के लक्षणों को कम करने में मदद करता है.

यह भी जानें- घर में जरुर लगाएं ये पांच औषधीय पौधे, कई रोगों से मिलेगी मुक्ति

धार्मिक और सामाजिक महत्व

मन्द्राक वृक्ष को धार्मिक और सामाजिक महत्व के कारण भी माना जाता है. कई धार्मिक परंपराओं में इसे पवित्र माना जाता है और इसकी पत्तियां, फूल और तेल का उपयोग पूजा और अनुष्ठानों में किया जाता है. इसके बारे में कई कथाएं और लोक-परंपराएं भी हैं, जो इसे समृद्धि, सौभाग्य और आशीर्वाद का प्रतीक मानती हैं.

You can also do gardening at home
You can also do gardening at home

मन्द्राक वृक्ष का संरक्षण

मन्द्राक वृक्ष को उचित संरक्षण की आवश्यकता है, क्योंकि यह प्राकृतिक संसाधन के रूप में महत्वपूर्ण है और इसकी प्रजातियां कुछ स्थानों पर अत्यंत संकट में हैं. जीवनकारी की आवश्यकताओं के कारण और बढ़ती वाणिज्यिक मांग के कारण, कई स्थानों पर वृक्षों को नुकसान पहुंचाने वाली विधाएं बढ़ रही हैं. वन्यजीवों, पर्यावरण और मानवीय समुदाय के हित में मन्द्राक वृक्ष का संरक्षण महत्वपूर्ण है.

यह भी पढ़ें- कभी सुना है जुकिनी सब्जी का नाम, अगर नहीं तो यहां जानें इसकी खासियत

 

मन्द्राक वृक्ष (Olea europaea) प्राचीन और सामरिक महत्व के साथ एक अद्वितीय पौधा है. इसके तेलफल और पत्तियों में पोषक तत्वों और औषधीय गुणों की विविधता होती है. इसका संरक्षण और उचित उपयोग सुनिश्चित करना आवश्यक है ताकि हम इस प्राचीन पौधे के लाभ और समृद्धि से लाभान्वित हो सकें.

English Summary: Olea Europaea Mandrake tree is a symbol of faith, know what else it is used for Published on: 16 June 2023, 10:52 AM IST

Like this article?

Hey! I am प्रबोध अवस्थी. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News