1. ग्रामीण उद्योग

कृषि बिजनेस या स्टार्टअप में कैसे सहायक है आरकेवीवाई- रफ्तार योजना

NADP

दुनियाभर में कृषि अनुसंधान संस्थानों और विश्वविद्यालयों में तकनीकी, सेवा और व्यावसायिक विचारों आदि के क्षेत्र में नए उद्यम विकसित करने के लिए कार्यक्रम किए जा रहे हैं. भारत सरकार ने भी अपने प्रमुख कार्यक्रमों के माध्यम से विभिन्न कृषि क्षेत्रों में प्रौद्योगिकी और व्यवसाय को उत्पन्न और बढ़ाने के लिए प्रयास प्रोग्राम के माध्यम से किए हैं.

आरकेवीवाई- रफ्तार योजना का परिचय (Introduction of RKVY-RAFTAAR)

आरकेवीवाई- रफ्तार

(Rashtriya Krishi Vikas Yojana–Remunerative Approaches for Agriculture and Allied Sectors Rejuvenation) योजना कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय की एक महत्वपूर्ण योजना है, जिसका उद्देश्य कृषि और संबन्धित क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे को मजबूत करना है, ताकि वित्तीय सहायता प्रदान करके कृषि उद्यमिता और कृषि व्यवसाय को बढ़ावा दिया जा सके. RKVY-RAFTAAR कृषि में उद्यम निर्माण के लिए नवाचारों और प्रौद्योगिकियों का उपयोग करके कृषि व्यवसाय की शुरुआत करने के लिए बनाया गया है.

भारत में 2003 के आसपास एग्री बिजनेस इनक्यूबेशन सेन्टर की शुरुआत ICRISAT हैदराबाद  द्वारा की गई, उसके बाद से अच्छी संख्या में कृषि व्यवसाय इनक्यूबेटर शुरू किए गए हैं. किन्तु उनकी सफलता में बढ़ोतरी तब हुई जब एग्रीबिजनेस की शुरुआत करने के लिए सरकार ने सब्सिडी सहायता प्रदान की.  

इस योजना में संस्थानों के उपलब्ध कृषि व्यवसाय के विशेषज्ञ और कृषि व्यवसाय शुरू करने की सुविधाओं का उपयोग किया जाता है. व्यक्तिगत या सामूहिक आधार पर अनुदान सहायता प्रदान करके मौजूदा संस्थागत एग्रीबिजनेस इन्क्यूबेटरों (Agribusiness Incubators) को आवश्यकता के आधार पर मजबूत करता है, ताकि देश में अधिक से अधिक कृषि क्षेत्र के व्यवसाय शुरू किए जा सके या एग्रीबिजनेस स्टार्ट अप किए जा सके.   

RKVY-RAFTAAR के तहत दी जाने वाली सहायता (Assistance provided under RKVY-RAFTAAR)

आरकेवीवाई-रफ़्तार योजना में चयनित एग्रीबिजनेस या स्टार्ट-अप के शुरुआती चरणों में उत्पाद, विकास या सुधार, प्रशासनिक और बाजार अनुसंधान के लिए 85 प्रतिशत अनुदान के रूप में अधिकतम 25 लाख रु.दिये जाएगे.

नई प्रौद्योगिकी, सेवा/व्यापार पर आइडिया या अवधारणा (Idea or concept) वाले चयनित अभ्यर्थियों को संस्था के साथ दो महीने का प्रशिक्षण सह इंटर्नशिप प्रदान किया जाता है. .

प्रशिक्षण सह इंटर्नशिप (Training cum Internship) के सफल समापन के बाद चयनित अभ्यर्थियों को 90 प्रतिशत अनुदान के रूप में अधिकतम 5 लाख रु.आर-एबीआई के माध्यम से उनके विचार या अवधारणा को उत्पाद में बदलने के लिए फंडिंग की जाती है.

कृषि उद्यमिता में नए आयामों को बढ़ावा देने के लिए डोमेन और फंक्शनल एक्सपर्ट्स द्वारा मॉनिटरिंग की जाती है.

योग्य पेशेवरों द्वारा व्यावसायिक कोचिंग और प्रशिक्षण की जाती है.

प्रौद्योगिकी सत्यापन और पायलटिंग में व्यावहारिक समर्थन प्रदान किया जाता है.

विशेषज्ञों द्वारा मजबूत व्यापार और वित्तीय मॉडल बनाने में सहायता दी जाती है.

नेटवर्किंग और निवेशक कनेक्ट किया जाता है.

स्टार्टअप्स के लिए अत्याधुनिक सुविधायुक्त इंफ्रास्ट्रक्चर सपोर्ट (इनक्यूबेशन बिल्डिंग में) मिलता है.

बौद्धिक संपदा विकास (Intellectual Property Development) या कॉपीराइट में योग्य पेशेवरों से सहायता मिलती है.

एकीकृत कायाकल्प और विकास के लिए मौजूदा कृषि व्यवसाय इनक्यूबेटरों को मजबूत करना और नए स्थापित करना.

एग्रीबिजनेस ओरियंटेशन प्रोग्राम या एग्रीबिजनेस इंक्यूबेशन प्रोग्राम का मूल उदेश्य (The basic purpose of the Agribusiness Orientation Program or Agribusiness Incubation Program)

इस कार्यक्रम का उद्देश्य छात्रों या युवाओं को उनके नए विचारों पर काम करने और स्टार्ट-अप के साथ दो महीने का प्रशिक्षण के साथ व्यावहारिक इंटर्नशिप प्रदान करना है, ताकि व्यावसायिक अवधारणाओं और नवोन्मेषी (innovative) स्टार्टअप को बारीकियों से समझा जा सके और इसमें शानदार करियर बनाया जा सके. इसके साथ विशिष्ट उद्योगों (specific industries), बाजारों की रणनीति (marketing strategies) और व्यावहारिक अंतर्दृष्टि को उत्पन्न कर चुनौतियाँ को हल करना है.

कार्यक्रम में प्रवेश कैसे करें? (How to enter the program)

ऑनलाइन अप्लाई करने के लिए https://forms.gle/z39SVTcVFi2bcGEM6 क्लिक करके या : nabi@ccsniam.ac.in पर ई-मेल किया जा सकता है. ऑफलाइन के लिए एप्लिकेशन को Chief Operating Officer (COO) NIAM Agri-Business Incubator (NABI) CCS National Institute of Agricultural marketing (NIAM) Bambala, Tonk Road, Jaipur-302033, Rajasthan पर भेजा जा सकता है.

अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क करें (Contact for more information)

वेबसाइट www.ccsniam.gov.in या https://www.ccsniam.gov.in/images/pdfs/Appl-for-Agripreneurship-Orientation-Programme.pdf पर क्लिक करके समझा जा सकता है. या Telephone: 0141-2795112/13/14/15 Mobile: +91 9982411115 सम्पर्क किया जा सकता है. 

English Summary: RKVY- RAFTAAR scheme helps in business or start-up in Agriculture

Like this article?

Hey! I am हेमन्त वर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News