News

शाकाहारी अंडा मुर्गी के अंडे से भी होगा ज्यादा फायदेमंद, जानिए कैसे ?

imagae

एक कहावत सुनी थी कि "घर की मुर्ग़ी दाल बराबर", इसे अब सही मायनों में चरितार्थ किया है भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, आईआईटी, दिल्ली ने. ग्रामीण प्रौद्योगिकी केंद्र की डॉ काव्या दशोरा और उनके छात्रों  कामाक्षी, विनायक और यश ने प्रयोगशाला में एक ऐसा अंडा बनाया है जोकि मूंग की दाल का इस्तेमाल कर एक ऐसा शाकाहारी अंडा बना दिया है. जोकि मांसाहारी मुर्गी के अंडे के मुकाबले में ज्यादा फायदेमंद है और जिसको फ्रिज में एक महीने तक सुरक्षित भी रख सकते हैं.  क्योंकि, इसको बनाने में किसी भी प्रिजर्वेटिव का इस्तेमाल नहीं किया गया है. मूंग की दाल से बना यह अंडा स्वाद में बिलकुल अंण्डे जैसा ही है. इस प्रोजेक्ट में आई आई टी दिल्ली के 6 छात्र मिलकर दाल से अंडा बनाने का प्रयोगशाला में निरंतर कार्य कर रहे हैं और अब सफलता भी प्राप्त की है.

अब हुआ यह कि घर की दाल मुर्गी के बराबर तो हुई ही,  बल्कि उससे बेहतर भी हो गयी. जो अंडे को मांसाहारी मानकर नहीं खाते उनके लिए एक खुशखबरी भी है. बाजार में जल्द ही शाकाहारी अंडा आ रहा है, जोकि मूंग दाल से बना है. इसको लेकर वैज्ञानिकों का दावा यह है कि यह अंडा मुर्गी के अंडे से कहीं ज्यादा फायदेमंद होगा. इस अंडे में मुर्गी के अंडे जैसी प्राकृतिक गंध, स्वाद और विटामिन्स जैसे पौष्टिक पदार्थ होंगे. खास बात यह है कि यह शाकाहारी अंड़ा आपको कोई नुकसान नहीं पहुंचाएगा. आईआईटी दिल्ली के छात्रों ने इस अंडे को बनाया है. छात्रों ने शाकाहारी अंडे को बनाने की विधि को पेटेंट के लिए भी भेजा है.

अंडा बनाने वाली टीम के एक सदस्य ने बताया कि भारत में बहुत सारे लोग मुर्गी का अंडा खाने से बचते हैं. क्योंकि, लोग इसे मांसाहारी मानते हैं. बताया कि शाकाहारी अंडा मूंग की दाल और सोया को मिलाकर बनाया गया है. इसमें प्राकृतिक अंडे से ज्यादा पोषक तत्त्व होंगे. बताया कि मुर्गी को कई तरह के इंजेक्शन दिये जाते हैं, जिसका खतरनाक असर अंडों पर पड़ता है. वहीं शाकाहारी अंडे में फूड प्रिजर्वेटिव्स का इस्तेमाल नहीं किया गया है. यह अंडा सामान्य प्लास्टिक या कांच की बोतल में बाजार में उपलब्ध होगा. साथ ही फ्रिज के तापमान में एक महीने तक इसे सुरक्षित रखा जा सकता है.

आईआईटी दिल्ली के छात्रों को आर्थिक रूप से मदद करने वाली कंपनी प्लांटमेड के एक अधिकारी ने बताया कि वह जल्द ही शाकाहारी मांसाहार उपलब्ध कराने की योजना बना रहे हैं. यह शाकाहारी मांसाहार स्वास्थ्यप्रद होगा. लाल मीट खाने वाले लोग भी इस मीट को खा सकेंगे. वैज्ञानिकों का कहना है कि बॉडी बिल्डिंग करने वाले खिलाड़ी ज्यादा अंडे का सेवन करते हैं तो उनके शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. लेकिन शाकाहारी अंडों को खाने से कोई नुकसान नहीं होगा. इसमें फैट की मात्रा बहुत कम होगी, जिससे वजन कम करने वाले लोग भी इसे खा सकेंगे. इसमें हाई फाइबर, बी कांप्लेक्स विटामिन्स  प्रमुख मिनरल्स होंगे.



Share your comments