1. ख़बरें

गोबर से बनने वाली चीजों को इस मशीन से बनाए, मिलेगा बंपर मुनाफा !

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा
machine

ये तो हम सब जानते है कि गाय-भैंस का गोबर, जैविक खाद के लिए उपयोग किया जाता है या फिर बॉयो गैस( bio gas ) बनाने के लिए इस्तेमाल होता है. ज्यादातर लोग गोबर को देख कर मुँह फेर लेते है. शायद उन लोगों को ये नहीं पता कि ये बेकार से दिखने वाले गोबर से वे कितना कुछ बना सकते है. ऐसे में आइए आज हम आपको गोबर से बनने वाली चीजों और मशीन के बारे में बताएंगे जिसके द्वारा आप घर बैठे -बैठे कम लागत एवं सस्ते श्रम में बंपर कमाई कर  सकेंगे.

कैसे बनेंगे उपले (How to make upley)

इस मशीन में आपको सबसे पहले गोबर, सूखा भूसा और हल्की घास को मिश्रण के रूप में या फिर ऐसे ही मशीन में डालना होगा.जिससे ये मशीन इस पूरे मिश्रण से उपलों को तैयार करेगी.

क्या है मशीन की कीमत (Cow dung machine Price) 

इस मशीन की कीमत बाजार में लगभग 65 से 70 हजार के आस – पास है. इस मशीन के जरिये आप घर बैठे भी आसानी से गोबर से उपले बना सकते. इस मशीन की मदद से आप 15 सेकेंड में 20 से 30 उपले तैयार कर सकते. इसके साथ ही आप गोबर से लकड़ी के रूप में बनाने वाले उपले भी तैयार कर सकते है. इस मशीन की मदद से आप प्रदूषण को भी काफी हद तक नियंत्रित कर पाएंगे.

अगर हम बात करें गोबर से बनने वाली लकड़ी कि तो आप इस मशीन के द्वारा 20 सेकेंड में 1 किलो से भी ज्यादा गोबर कि लकड़ी बना सकेंगे. इस लकड़ी का सबसे ज्यादा फायदा वातावरण को सही करने में होगा. क्योंकि "अंतिम संस्कार या फिर यज्ञ के लिए बड़ी संख्या में लकड़ी प्राप्त करने के लिए पेड़ों को काट जाता है”. जो कि हमारे पर्यावरण को बुरी तरह नुकसान पहुंचाता है और इससे अधिक धुआं भी पैदा होता है.

इसी कारण पर्यावरण को अनुकूल बनाने के लिए गोबर से बनी चीजों का इस्तेमाल करना काफी फायदेमंद है. इस लिए आप गोबर से बने उपलों या फिर गोबर लकड़ी का उपयोग हवन, यज्ञ,अंतिम संस्कार आदि  के लिए कर सकते है और इसके साथ ही इस मशीन के उपयोग से आने वाले समय में युवाओं के लिए भी रोजगार के कई साधन खुलेंगे. इसके साथ ही आप गाय के गोबर से बने कई तरह उत्पाद जैसे मूर्तियां, फेसपैक, साबून, दिये और दवा आदि बना कर घर बैठे अच्छी आमदनी कमा सकते है.

English Summary: Make things made from cow dung with this machine, you will get bumper profits!

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News