1. मशीनरी

क्रॉप कटर मशीन से गेहूं की कटाई करना है बहुत आसान, जानें इसकी विशेषताएं और लाभ

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Crop Cutter Machine

Crop Cutter Machine

किसानों के खेतों में गेहूं की कटाई का काम शुरू हो चुका है. कई किसान भाई हसियां व दराती से फसलों की कटाई करते हैं. खासतौर पर छोटे किसान भाई, लेकिन इन परंपरागत यंत्रों से गेहूं की कटाई करने में काफी समय लगता है और श्रम भी अधिक लगता है, इसलिए आज हम गेहूं की कटाई के लिए एक महत्वपूर्ण कृषि यंत्र की जानकारी लेकर आए हैं.

इस कृषि यंत्र का नाम क्रॉप कटर (Crop Cutter) है. यह मशीन किसानों के लिए काफी लाभदायक साबित है. इस मशीन से छोटे किसान कम खर्च और परिश्रम में गेहूं की कटाई कर सकते हैं. आइए क्रॉप कटर मशीन (Crop Cutter Machine) के बारे में पूरी जानकारी देते हैं.

क्या है मोटर चालित क्रॉप कटर मशीन?

इस मशीन को अधिकतर खड़ी फसलों की कटाई के लिए इस्तेमाल किया जात है. यह गेहूं की कटाई को काफी आसान बनाती है. इसके जरिए फसल को लगभग 15 से 20 से.मी. की ऊंचाई से काटा जा सकता है. इससे फसल को काटने की चौड़ाई 255 सेमी तक होती है, तो वहीं इसमें 48 से 50 सीसी की शक्ति से चल सकती है. इसका वजन 8 स 10 किलोग्राम तक होता है. यह पेट्रोल से चलने वाला यंत्र है, जिसमें एक बार में 1.2 लीटर पेट्रोल तक भरा जा सकता है.

क्राप कटर मशीन की बनावट व कार्यविधि

इस मशीन में एक गोलाकार आरा ब्लेड, सेफ्टी कवर, विंडरोइंग सिस्टम, कवर के साथ ड्राइव शॉफ्ट, स्टार्टर नांब, हैंडल, ऑपरेटर के लिए हैगिंग बैंड पेट्रोल टैंक, एयर क्लीनर और चोक लीवर लगे होते हैं. इस मशीन को संचालित करने के लिए ब्लेड, इंजन द्वारा एक लंबी ड्राइव शॉफ्ट के माध्यम से घूमाया जाता है. इस मशीन से फसलों को इकट्ठा करने के लिए एक समान पंक्ति बनाने के लिए गार्ड लगाया जाता है. इस मशीन से एक एकड़ में गेहूं की कटाई करने में लगभग 16 घंटे का समय लगता है.

क्रॉप कटर मशीन से कटाई करने से लाभ

अगर किसान हंसिया से एक एकड़ गेहूं की कटाई करता है, तो इसमें लगभग 176 मानव घंटे लगते हैं. इसकी कुल लागत 7,744 रुपए आता है. अगर क्रॉप कटर (Crop Cutter Machine) से गेहूं की कटाई करते हैं, तो इसमें श्रम लागत में 4 गुना तक कमी आ जाती है. अगर ईंधन की बात करें, तो लगभग 1 लीटर प्रति घंटे की दर से खपत होती है.

क्रॉप कटर मशीन में ब्लेड का उपयोग कैसे करें?

इस मशीन में ब्लेड का उपयोग फसल के पौधे के अनुसार होता है. अधिकतर दांत वाले ब्लेड का उपयोग मोटे और कड़े पौधों की कटाई के लिए होता है. इसके साथ ही कम दांत वाले ब्लेड का उपयोग मुलायम और पतले पौधों के लिए किया जाता है. गेहूं, मक्का आदि फसलों की कटाई के लिए लगभग 120 दांतों वाले ब्लेड का उपयोग किया जाता है. इसके अलावा 60 व 80 दानों वाले ब्लेड का उपयोग चारा काटने के लिए किया जा सकता है, तो वहीं 40 दांतों वाले ब्लेड का उपयोग 2 इंच मोती वाले पौधे को काटने के लिए किया जा सकता है.

क्रॉप कटर मशीन चलाते समय सावधानियां

  • पुराने घिसे हुए या फिर क्षतिग्रस्त ब्लेड का उपयोग न करें.

  • इस मशीन को चलाते समय सुरक्षा के लिए उपकरण पहन लें.

  • काम खत्म होने के बाद मशीन को सूखे कपड़े से साफ करें.

  • ईंधन भरने के लिए फ्यूल कैप निकलने से पहले इंजन बंद कर दें.

  • एक घंटे तक लगातार मशीन चलाने के बाद 10 से 15 मिनट के लिए बंद कर दें.

क्रॉप कटर मशीन के रखरखाव पर खर्च

अगर आप एक बार इस मशीन को खरीद लेते हैं, तो उसके कम से कम 5 साल तक आसानी से उपयोग कर सकते हैं. इसमें आने वाली अन्य खर्चों में ऑयल का खर्च बहुत कम होता है, साथ ही अगर कुछ खराबी आ जाए, तो मरम्मत में भी कम खर्च होता है.

क्रॉप कटर मशीन की कीमत

इसकी कीमत कंपनी पर निर्भर होती है. अगर आप चाइना कंपनी की मशीन लेते हैं, तो यह 8 हजार से शरुआत होती है. अगर जापान कंपनी की मशीन लेते हैं, तो 13 हजार से इसकी शुरूआत होती है. अगर इंडियन कंपनी की मशीन लेते हैं, तो लगभग 16 हजार से 32,000 तक की कीमत लगती है. इसके आधार पर ही पेट्रोल की लागत घटती-बढ़ती है.

कहां से करें क्रॉप कटर मशीन की खरीद

Company Name- एम.के कृषि यंत्र

Contact No- 9999087359

E-mail- info@krishi-yatra.com

Website-  www.krishi-yatra.com

Add- MK Krishi Yatra, Kalagarh Road, Near Petrol Pump, Bhootpuri, Bijnor, Uttarpradesh 246747, India

English Summary: Crop cutter machine is easy to harvest

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News