1. मशीनरी

Machinery: स्मार्ट किसान बनने के लिए अपनाएं ये कृषि उपकरण, बेहतर उत्पादकता के साथ होगा डबल मुनाफा

मशीनरी (Agriculture Machinery) ने कृषि उत्पादों का चेहरा हमेशा के लिए बदल दिया है. भारत में औद्योगिक क्रांति से पहले लोग खेती को सीमित कृषि उत्पादों (Agriculture Products) के साथ आत्मनिर्भर होने के लिए इस्तेमाल करते थे. आज यह सब बदल गया है. सभी क्षेत्रों में मशीनरी की शुरुआत के साथ, कृषि औद्योगिक क्रांति के मद्देनजर तेजी से हुई प्रगति हुई है. इसके साथ ही मशीनरी की मदद से अधिक भोजन का उत्पादन किया जा रहा है, जो आज के समय की मांग है.

आधुनिक कृषि (Modern Agriculture) को अपनाने से बने किसान अब स्मार्ट बन रहे हैं, साथ ही किसान स्मार्ट कृषि उपकरण (Farm Equipment) का इस्तेमाल कर अपनी आमदनी में भी बढ़ोतरी कर रहे हैं. जो कि 2022 में किसानों की डबल इनकम (Double Income of Farmers) का सपना पूरा कर सकेगा.

बने आधुनिक स्मार्ट फार्मर (Became a modern smart farmer)

आज जो किसान स्मार्ट खेती कर रहे हैं. वे आधुनिक तकनीक से बने खेती के नए औजारों का इस्तेमाल कर अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं. जिससे उनकी आमदनी बढ़ रही है. आप भी एक चतुर किसान बनें और इस कृषि उत्पादन में बेहतर परिणाम देने वाले कृषि यंत्रों का उपयोग करके अपनी आय में वृद्धि करें. इस समय कंपनियों ने किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए अपने उत्पादों की कीमतों में भी कमी की है.

यह कृषि उपकरण किसानों के उत्पादन और लाभ में करते हैं वृद्धि (These agricultural implements increase the production and profit of the farmers)

स्प्रेयर (Sprayer)

कृषि कार्य में उपयोग होने वाले कृषि स्प्रेयर बाजार में 2 और 4 स्ट्रोक स्प्रे पंप में उपलब्ध हैं. इन्हें कुछ फीचर्स के साथ बाजार में उतारा गया है. इसकी मदद से किसान आसानी से अपने खेतों में फसलों पर कीटनाशकों का छिड़काव कर सकता है. इसके अलावा इनका उपयोग पर्यावरण की सफाई के लिए भी किया जा सकता है. यह एक किफायती मूल्य सीमा यानी 9,000 - रु से 22,000.में रुपये उपलब्ध रहती है.

हार्वेस्टर (Harvester)

कंबाइन हार्वेस्टर का उपयोग खेती की प्रक्रियाओं जैसे कि कटाई, थ्रेसिंग और विनोइंग के लिए किया जाता है. कम्बाइन हार्वेस्टर सबसे अच्छी मशीन है. जिसका उपयोग सभी प्रकार की फसलों जैसे जौ, गेहूं, राई, जई, मक्का, और बहुत कुछ करने के लिए किया जाता है. अच्छे कंबाइन हार्वेस्टर की कीमत 24.5 लाख से 28 लाख रुपये से शुरू होती है.

कल्टीवेटर (Cultivator)

कल्टीवेटर सबसे आवश्यक कृषि मशीनों में से एक है, जिसका उपयोग जुताई गतिविधियों के लिए किया जाता है. यह सबसे पुरानी खेती की मशीन है, जिसका उपयोग कई वर्षों से किया जा रहा है. 9 टाइन वाले महिंद्रा कल्टीवेटर की कीमत बहुत सस्ती है. हर कल्टीवेटर की कीमत 19,000 से 80,000 रुपये से शुरू होती है.

सीड ड्रिलर (Seed Driller)

रोटो सीड ड्रिल खेती के लिए लोकप्रिय मशीनों में से एक है. इसका उपयोग लगभग पूरे भारत में गेहूं, जौ, घास के बीज बोने के उद्देश्य से किया जाता है. इसमें बीजों की कम बर्बादी के साथ बीज की किस्मों को बदलने का एक आसान ऑपरेटिंग सिस्टम होता है. इसकी कीमत 1.4 लाख से 1.37 लाख रुपये से शुरू होती है. यह किसानों के लिए सबसे अच्छा कृषि उपकरण है.

स्प्रेडर (Spreader)

खाद स्प्रेडर एक मशीन है, जिसका उपयोग कृषि उद्देश्यों के लिए किया जाता है. कृषि प्रयोजनों में इसका मुख्य काम खाद को खेत में ढंग से फैलाना है. यह सस्ती कीमत पर उपलब्ध है. जी हां यह 55,000 से  5.00 लाख रुपये से शुरू होती है ताकि हर किसान इसे आसानी से खरीद सके.

ट्रॉली पंप (Trolley Pump)

ट्रॉली पंप उन किसानों के लिए अधिक उपयोगी है, जिनके पास खेती के लिए काफी जमीन है. इसमें कम समय में कीटाणुनाशक का छिड़काव किया जा सकता है. इससे किसानों के श्रम और समय की बचत होगी और उपज में भी वृद्धि होगी. इसके बेहतरीन फीचर्स के हिसाब से इसकी कीमत से कोई समझौता नहीं करेगा. यह एक बहुत ही किफायती मूल्य सीमा पर आता है जो 19,000 रु- 60,000 रुपये से शुरू होता है.

English Summary: Adopt this agricultural equipment to become a smart farmer, double profits with better productivity

Like this article?

Hey! I am रुक्मणी चौरसिया. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters