1. लाइफ स्टाइल

Pineapple Advantages and Disadvantages: अगर आप खाते हैं अनानस, तो ज़रूर पढ़िए इसके फायदे और नुकसान

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Health Benefits Of Pineapple

Health Benefits Of Pineapple

अगर सुबह का नाश्ता सही किया जाए, तो इससे पूरे दिन शरीर फुल चार्ज रहता है यानी शरीर में ऊर्जा बनी रहती है. अगर सुबह के समय पेट भर के नाश्ता कर लिया जाए, तो इसके बदौलत दिन भर काम करने में सक्षम रहते हैं.

ऐसे में हम सभी को अपने नाश्ते में एक अहम् चीज़ ज़रुर शामिल करनी चाहिए, वो विटामिन सी है. सुबह के नाश्ते में विटामिन सी का होना बेहद ज़रूरी है. इसके लिए नाश्ते में अनानास को शामिल कर सकते हैं. हालांकि अनानास (Pineapple) खाने से जितने फायदे हैं, उतने नुकसान भी होते हैं, इसलिए आज हम आपको अनानास खाने के फायदे और नुकसानों (Pineapple Advantages and Disadvantages) के बारे में बताने जा रहे हैं.

अनानास खाने के फायदे  (Benefits of eating pineapple)

पाचन को सुधारे

इस फल में ब्रोमेलैन होता है, जो ऐसे एंजाइमों का मिश्रण है, जिसका सीधा असर पाचन क्रिया पर पड़ता है. अगर आप रोज़ाना नाश्ते में अनानास खाते हैं, तो इससे पाचन में सुधार होता है, साथ ही पेट से जुड़ी अन्य समस्याओं से राहत मिलती है. बता दें कि पाचन विकारों के इलाज के लिए ऐतिहासिक रूप से अनानास का उपयोग किया जाता है. बायोटेक्नोलॉजी रिसर्च इंटरनेशनल में एक अध्ययन प्रकाशित हुआ है, जिसमें अनानास में दस्त के प्रभाव को कम करने की क्षमता बताई है. इसके साथ ही ब्रोमेलैन में लिपोलाइटिक और प्रोटियोलिटिक प्रभाव होते हैं. यह शरीर पर मौजूद एक्स्ट्रा फैट को जलाने में मदद करते हैं.

हड्डियों को बनाए मज़बूत

यूनिवर्सिटी ऑफ रोचेस्टर मेडिकल सेंटर के अनुसार, हड्डियों को मजबूत बनाए रखने के लिए कैल्शियम के साथ- साथ ट्रेस मिनरल मैंगनीज भी जरूरी है. बता दें कि अनानास के एक कप में मैंगनीज के अनुशंसित दैनिक मूल्य का लगभग 76 प्रतिशत होता है. ओरेगन स्टेट यूनिवर्सिटी के अनुसार, मैंगनीज ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने में मदद कर सकता है. इसके साथ ही हड्डियों को मजबूत बनाता है.

अनानास खाने के नुकसान (Disadvantages of eating pineapple)

  • यह एक मध्यम ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) रैंक वाला फल होता है. बता दें कि कम जीआई यानी ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फल डायबिटीज के लिए अच्छे माने जाते हैं. इसके साथ ही अधिक कार्ब्स हाई ब्लड शुगर के लेवल को बढ़ा देते है. ऐसे में अधिकतर डायबिटीज के मरीजों को ब्लड शुगर में उतार-चढ़ाव से बचने के लिए कम कार्ब्स वाले फल खाने चाहिए. हालांकि, अनानास में कार्ब्स की मात्रा कम ही पाई जाती है.

  • इसके अलावा अनानास खाने से दांत सड़ सकते हैं, क्योंकि यह अम्लीय स्वभाव का होता है.

  • इस फल में अधिक विटामिन सी होता है, जिससे दस्त, उलटी, पेट दर्द और सिर दर्द जैसी समस्याएं हो जाती हैं.

  • इस फल से संधिशोथ भी हो सकता है.

  • इसके अलावा किडनी संबंधित समस्या हो सकती है.

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News