1. बागवानी

जानिए, गमले में Moringa Plant उगाने का आसान तरीका

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Moringa Plant

Moringa Plant

आजकल लोग घर की सुंदरता बढ़ाने के लिए कई तरह के पौधे लगाते हैं, लेकिन अगर पौधों में औषधीय गुण भी हों, तो इसकी उपयोगिता और ज्यादा बढ़ जाती है. ऐसे में कई लोग घर में उपयोगी पौधों को लगाने का भी शौक रखते हैं.

बहुत-से लोग इसके लिए सहजन का पौधा यानि मोरिंगा ट्री (Moringa Plant) का चुनाव करते हैं. इसे ड्रमस्टिक, चमत्कारी, और लाइफ ऑफ़ ट्री के नाम से भी जाना जाता है. यह एक तरह का औषधीय पौधा है, जिसे कई तरह से उपयोग किया जाता है. मोरिंगा की पत्तियों से पाउडर भी बनाया जाता है.

हजारों वर्षों से इस सुपरफूड का इस्तेमाल फाइटोमेडिसिन और आयुर्वेदिक उपचार में पारंपरिक रूप से किया जा रहा है. अगर आप भी इसका लाभ उठाना चाहते हैं, तो आज ही अपने घर में मोरिंगा ट्री लगाएं. आप गमले में असानी से मोरिंगा ट्री (Moringa Plant) का उगा सकते हैं. आज हम इस आर्टिकल में आपको घर में आसानी से मोरिंगा ट्री उगाने के लिए टिंप्स बताने जा रहे हैं. आप इन टिप्स को अपनाकर आसानी से गमले में मोरिंगा ट्री (Moringa Plant) का उगा सकते हैं.

मोरिंगा लगाने के लिए सामग्री (Ingredients for Moringa Planting)

  • सहजन या मोरिंगा पौधे की कटिंग या बीज

  • गमला

  • मिट्टी

  • खाद

  • पानी

मोरिंगा पौधा लगाने की विधि (Moringa Planting Method)

  • सबसे पहले आप अपनी इच्छानुसार गमला लें.

  • इसमें मोरिंगा की कटिंग या बीज को लगाएं.

  • अब 50% कोको-पीट और 50% वर्मीकम्पोस्ट (केंचुआ खाद या गोबर) लें और दोनों को अच्छी तरह मिलाएं.

  • इसे गमले में भर दें.

  • जब पॉटिंग मिक्स हो जाए, तब बीज या कटिंग लें. ध्यान रहे कि कटिंग लेते समय टहनी को तिरछा काटें और बीज को गमले में लगा दें.

  • इसके बाद गमले में उचित मात्रा में अच्छी तरह पानी डाल दें.

  • अब आपका गमला पूरी तरह से तैयार है.

इन बातों का रखें ध्यान (Keep These Things in Mind)

  • रोजाना गमले में नियमित रूप से पानी डालें.

  • गमले पर सीधी धूप पड़नी चाहिए.

  • अगर आपकी कटिंग पूरी तरह से अंकुरित हो जाए, तो समझ लीजिए कि आपका पौधा सही उग रहा है.

  • अगर आप इस पौधे को जमीन में रोपना चाहते हैं, तो इसे 15 सेंटीमीटर ऊंचे और 2 फीट चौड़ी मेड़ बनाकर लगाएं.

  • पौधे को रोपने के समय फास्फोरस, नाइट्रोजन और पोटाश को मिट्टी में गोबर की खाद के साथ इस्तेमाल करें.

  • अब लगभग 4 महीने बाद पौधे की नियमित रूप से कटाई कर सकते हैं.

  • इसके साथ ही हर 4 महीने में गोबर की खाद गमले में मिला सकते हैं.

  • ध्यान रहे कि पौधे में किसी भी कीटनाशक या रासायनिक खाद का सीधा इस्तेमाल नहीं करना है.

  • पौधे में कीड़ों को लगने से रोकने के लिए नीम के तेल को पानी में घोलकर स्प्रे कर सकते हैं.   

उपयुक्त टिप्स के माध्यम से आसानी से घर में ही मोरिंगा ट्री का पौधा उगा सकते हैं. बता दें कि पौधे की ग्रोथ लगभग 20 से 25 दिन बाद शुरू होगी, साथ ही लगभग 90 दिन के बाद फूल आने लगेंगे. आप खेती की अधिक जानकारी के लिए कृषि जागरण की हिंदी वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं.  

English Summary: how to grow moringa tree in pot

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News