हरी सब्जियों की खेती पर इन क्षेत्रों में मिलेगा सरकारी अनुदान, जानिए पूरी डिटेल

Vegetables

Vegetables

उत्तर प्रदेश सरकार (UP government) ने बागपत, मुजफ्फरनगर, बिजनौर सहति तमाम गन्ना क्षेत्र के लिए एक योजना चला रखी है जिसके तहत सरकार का उद्यान विभाग हरी सब्जियों की खेती पर 40 फीसदी अनुदान दे रहा है. इस क्षेत्र में गन्ने की फसल अधिक उगाई जाती है, जिसमें किसानों को अधिक मेहनत करनी पड़ती है और इसकी खेती में अधिक लागत भी आती है. गौरतलब है कि गन्ना भुगतान नहीं होने की वजह से किसान आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं. सब्जी (Vegetable) की खेती पर सरकार अनुदान देकर अन्य फसलों पर भी ध्यान आकर्षित करना चाहती है.  

व्यावसायिक खेती पर मिल रही सब्सिडी (Subsidy on commercial farming)

किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए उद्यान विभाग व्यवसायिक खेती पर जोर दे रहा है. शुगर मील पर गन्ने का दाम समय पर नहीं मिल पाता, जिससे किसान की आर्थिक स्थिति कमज़ोर होती जा रही है. इसलिए उद्यान विभाग (Horticulture department) यहां धान और गेहूं के अलावा हरी और ताजी सब्जी की खेती से जोड़ने के लिए किसानों को प्रोत्साहित कर रहा है.  इस योजना के तहत उद्यान विभाग किसानों को शिमला मिर्च, टमाटर, पत्तागोभी, फूलगोभी, खीरा आदि की खेती करने के लिए 40 फीसदी अनुदान दे रहा है.

योजना का लाभ (Benefit of the scheme)

गन्ना भुगतान नहीं होने या देरी से भुगतान होने की वजह से यहां का किसान आर्थिक तंगी का सामना कर रहा है. किसानों के गन्ने का भुगतान शुगर मीलों द्वारा नहीं करने की समस्या आए दिन सामने आती रहती है. ऐसे में सब्जियां उगाना बेहतर विकल्प होगा. सब्जियों को उगाना इसलिए भी फायदेमंद है क्योंकि इनके बिकने के बाद नगद पैसे तुरंत मिल जाता है. ताजी सब्जियों की मांग हर समय बनी रहती है, किसान इसे बेचकर लगातार अच्छी आमदनी कमा सकते हैं. महंगाई के चलते आम इंसान भी परेशान होता है, इसीलिए सभी किसानों को सब्जियां उगाने के लिए प्रोत्साहित करने का काम किया जा रहा है. सब्जियों की खेती पर सरकार अनुदान देने के साथ साथ जागरुक करने की भी कोशिश कर रही है. ऐसे में किसानों को अन्य फसलों पर भी ध्यान देना चाहिए.

वर्गों के आधार पर लक्ष्य निर्धारित (Set goals based on classes)

सामान्य वर्ग व अनुसूचित वर्ग के किसानों को कितने हेक्टेयर सब्जियां उगानी है, इसका निर्धारण भी शासन स्तर पर किया गया है. सामान्य वर्ग के किसानों को 22 हेक्टेयर टमाटर, 10 हेक्टेयर पत्तागोभी, 10 हेक्टेयर फूलगोभी और मिर्च व शिमला मिर्च 4 हेक्टेयर उगाने का लक्ष्य दिया गया है. वहीं अनुसूचित किसानों को शिमला मिर्च एक हेक्टेयर, टमाटर 18 हेक्टेयर, पत्ता गोभी आठ व फूल गोभी पांच हेक्टेयर का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. 

कहां करें सम्पर्क (Where to contact)

किसानों को इसका लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा. जिसकी अधिक जानकारी http://uphorticulture.gov.in/ वेबसाइट या 0522-4044414, 2623277 पर या जिले के कृषि विभाग या उद्यान विभाग के ऑफिस जाकर ली जा सकती है.

English Summary: Government subsidy in Sugarcane area for emphasize on production of green vegetables

Like this article?

Hey! I am हेमन्त वर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News