Government Scheme

पीएम किसान योजना में FTO is Generated क्या है? किसान ज़रूर पढ़ें इसका मतलब

केंद्र सरकार (Central Government) की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (Prime Minister Kisan Samman Nidhi Scheme) के तहत किसानों को 2-2 हजार रुपए की किस्त भेजी जा रही है. देशभर के कई किसानों के खाते में यह किस्त आ चुकी है, तो वहीं कई किसान अभी तक इस लाभ से वंचित हैं. अगर किसी किसान की पीएम किसान योजना के तहत किस्त नहीं आई है, तो वह परेशान न हो. आज हम किसानों के साथ एक बेहद आसान तरीका साझा करने जा रहे हैं जिससे आसानी से पता लगाया जा सकता है कि इस योजना की राशि का लाभ कब तक मिलेगा.

आपको बता दें कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना संबंधी हर छोटी-बड़ी जानकारी इसकी वेबसाइट पर जाकर मिल जाती है. किसानों को इसी वेबसाइट पर जाना है. अगर आपके पीएम किसान योजना के ऑनलाइन स्टेटस पर FTO is Generated and Payment confirmation is pending का मैसेज दिखाई दे रहा है, तो आपको परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है. इसका मतलब है कि आपकी किस्त जल्द ही आपके बैंक खाते में भेज दी जाएगी.

क्या है FTO is Generated?

किसानों को सबसे पहले बता दें कि यहां FTO का मतलब Fund Transfer Order से है. अगर आप पीएम किसान सम्मान निधि की वेबसाइट पर अपने पेमेंट का स्टेटस जांचते हैं, तो आपको Installment Payment Status में FTO is generated and Payment confirmation is pending लिखा दिखाई देगा. इसका साफ मतलब है कि राज्य सरकार द्वारा लाभार्थी के आधार नंबर, बैंक खाता संख्या और बैंक के IFSC कोड समेत सभी अन्य विवरणों की शुद्धता सुनिश्चित करने के बाद आपकी किस्त राशि तैयार है.

उन किसानों के लिए यह बहुत बड़ी खुशखबरी है, जिन किसानों के  पीएम किसान योजना  के ऑनलाइन स्टेटस पर  FTO is Generated  लिखा आ रहा है. उन किसानों के खाते में 15 से 20 दिन में 2 हजार रुपए की किस्त भेज दी जाएगी. बता दें कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए 21 दिन का लॉकडाउन जारी है. ऐसे में केंद्र सरकार द्वारा पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत अप्रैल के पहले सप्ताह से किसानों के खाते में किस्त भेजी जा रही है.

ये खबर भी पढ़ें: किसानों के लिए सरकार ने लिए ये बड़े फैसले, लॉकडाउन से नहीं होगी कोई समस्या



English Summary: fto is generated means under pm kisan yojana of modi government

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in