आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे
  1. सरकारी योजनाएं

ट्रैक्टर खरीदने पर मिलेगी 50% सब्सिडी

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
PM Kisan Tractor Scheme

PM Kisan Tractor Scheme

भारत में कृषि को प्रमुख व्यवसाय माना गया है, जहां किसान तमाम फसलों की बुवाई कर अपना जीवन यापन करते हैं. भारत सरकार भी किसानों को कृषि क्षेत्र में आगे बढ़ाने के लिए कोई न कोई योजना संचालित करती रहती है.

हमारे देश की लगभग आधी आबादी कृषि क्षेत्र पर निर्भर है, इसलिए बहुत जरूरी है कि खेतीबाड़ी पर विशेष ध्यान दिया जाए और शायद इसलिए मौजूदा समय में अधिकतर किसानों कृषि यंत्रों का उपयोग कर रहे हैं. कृषि यंत्रों में भी खेतों में काम करने के लिए ट्रैक्टर होना बहुत जरूरी है, क्योंकि यह एक ऐसा कृषि यंत्र है, जिससे खेती के कार्यों को करने के लिए काफी महत्वपूर्ण माना गया है. किसानों के पास ट्रैक्टर रहने पर खेती के कार्य काफी हद तक आसान हो जाते हैं, इसलिए सभी किसानों के लिए ट्रैक्टर एक अहम जरूरत बन गया है.

सभी जानते हैं कि हमारे देश में छोटे और बड़े, दोनों तरह के किसान खेती करते हैं. बड़ी जोत वाले किसान आसानी से ट्रैक्टर खरीद लेते हैं, लेकिन कम जोत और कम आमदनी वाले किसानों को ट्रैक्टर खरीदने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है. उनकी इसी समस्या को दूर करने के लिए सरकार ने एक खास योजना संचालित की है, जिसे पीएम किसान ट्रैक्टर योजना का नाम दिया गया है. इसके तहत समय-समय पर सरकार जरूरतमंद किसानों को सब्सिडी देती है. आज कृषि जागरण अपने किसान भाईयों के लिए पीएम किसान ट्रैक्टर योजना (PM Kisan Tractor Scheme) की संपूर्ण जानकारी लेकर आया है, इसलिए किसान भाई इस लेख को अंत  तक जरूरी पढ़ते रहें.

क्या है पीएम किसान ट्रैक्टर योजना? (What is PM Kisan Tractor Scheme?)

भारत सरकार इस योजना के तहत ट्रैक्टर (Tractor) खरीदने पर किसानों को 50 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान करती है. खास तौर पर यह योजना अत्यंत ही छोटी जोत और सीमांत किसानों के लिए शुरू की गई है.

पीएम किसान ट्रैक्टर योजना का मकसद (Purpose of PM Kisan Tractor Scheme)

कई राज्य सरकार दे रही ट्रैक्टर पर सब्सिडी (Many state governments are giving subsidy on tractors)

  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए पहली शर्त यह है कि विगत 7 वर्षों में किसान ने कोई ट्रैक्टर नहीं खरीदा हो.

  • किसान के पास उसके नाम से जमीन होना अनिवार्य है.

  • एक किसान केवल एक ट्रैक्टर पर सब्सिडी ले सकता है.

  • ट्रैक्टर खरीदने वाला किसान किसी और सब्सिडी योजना से नहीं जुड़ा होना चाहिए.

  • परिवार का एक ही व्यक्ति सब्सिडी के लिए आवेदन कर सकता है.

जरूरी दस्तावेज (Required Documents)

  • आवेदन करता का आधार कार्ड

  • जमीन के कागजात

  • पहचान पत्र (वोटर आईडी कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड और ड्राइविंग लाइसेंस में से कोई एक)

  • बैंक खाते का विवरण

  • मोबाइल नंबर

  • पासपोर्ट साइज का फोटो

पीएम किसान ट्रैक्टर योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया (Application Process for PM Kisan Tractor Scheme)

देशभर के किसान पीएम किसान ट्रैक्टर योजना (PM Kisan Tractor Scheme) का लाभ उठा सकते हैं. इसके तहत किसानों के खाते में सब्सिडी की राशि भेजी जाती है. इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को आवेदन करना पड़ता है. किसान ऑनलाइन या ऑफलाइन, दोनों तरीके से आवेदन कर सकते हैं. इसके अलावा किसान भाई अपने नजदीकी सीएससी सेंटर पर जाकर भी आवेदन कर सकते हैं.

इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर खरीदने पर 25 प्रतिशत (25% off on buying an electric tractor)

हरियाणा सरकार द्वारा प्रदूषण मुक्त खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है, इसलिए राज्यों के किसानों को इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर की खरीद पर 25 प्रतिशत की छूट दी जा रही है. इसके लिए राज्य के लगभग 600 किसानों को छूट देने की घोषणा की है. बता दें कि अगर 600 से कम किसान इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर खरीदने के लिए आवेदन करते हैं, तो राज्य के सभी किसानों को इससे जोड़ा जाएगा. अगर ज्यादा किसान आवेदन करते हैं, तो उनके नाम का लकी ड्रा निकाला जाएगा. जानकारी के लिए बता दें कि इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर (Tractor) की कीमत डीजल ट्रैक्टर की एक चौथाई ही है. ऐसे में कई ई-ट्रैक्टर बनाने वाली कंपनियां ट्रैक्टर को लॉन्च कर रही हैं.

उपयुक्त जानकारी से साफ होता है कि किसानों के लिए ट्रैक्टर एक महत्वपूर्ण कृषि यंत्र है, जिसके द्वारा किसान जुताई, रोपण व कृषि संबंधी अन्य कार्य आसानी से कर सकते हैं.  हालांकि, देश में कई किसान आर्थिक तंगी के चलते ट्रैक्टर नहीं खरीद पाते हैं, इसलिए सरकार ने ट्रैक्टर खरीदने पर सब्सिडी देने की योजना शुरू की है.

(खेती से जुड़ी और अधिक जानकारी के लिए कृषि जागरण की हिंदी वेबसाइट पर विजिट करें)

English Summary: 50% subsidy will be available on buying tractor

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News