1. खेती-बाड़ी

Tomato Farming: जानिए टमाटर की खेती के बारे में संपूर्ण जानकारी

सचिन कुमार
सचिन कुमार

Tomato

किसान भाइयों अपने इस आर्टिकल में हम आपको टमाटर की खेती के बारे में विस्तृत जानकारी देने जा रहे हैं. आज की तारीख में टमाटर की खेती कर आप अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं. बाजार में 12 महीने इसकी आवक रहती है. ऐसे में किसान भाइयों के लिए यह फायदे का सौदा साबित हो सकता है. अगर सही तरीके से इसकी खेत की जाए, तो इससे लाखों का मुनाफा भी कमाया जा सकता है. आलू, प्याज के बाद अगर किसी भी सब्जियों की मांग बाजार में सर्वाधिक रहती है, तो वो टमाटर ही है, तो आइए हम आपको अपने इस आर्टिकल में टमाटर की खेती के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं.

उन्नत माह

किसान भाइय़ों अगर आप टमाटर की खेती करने का प्लान बना रहे हैं, तो आपको बता दें कि आप वर्ष मेंदोबार इसकी खेती कर सकते हैं. पहला सर्दियों के मौसम में और दूसरा गर्मियों के मौसम में। अगर आप सर्दियों के मौसम में टमाटर की खेती करने का प्लान बना रहे हैं, तो जुलाई और अगस्त में टमाटर की खेती कर सकते हैं और गर्मियों के लिए आप दिसंबर और जनवरी माह में टमाटर की खेती करते हैं.

मिट्टी

वहीं, टमाटर की खेती के लिए उपयुक्त जीवाश्म पदार्थ वाली मिट्टी पर, जिसके मृदा का पीएच मान 7 के आसपास होना चाहिए. एक बात का और ध्यान रहे कि जिस मिट्टी पर आप टमाटर की खेती करने जा रहे हैं, वो उत्तम जल निकास रहित होना चाहिए. जैसे काली दोमट, चिकनी दोमट, काली मिट्टी व लाल मिट्टी पर आप टमाटर की खेती कर सकते हैं.

तापमान

इसके साथ ही अगर टमाटर की खेती के लिहाज से तापमान की बात करें, तो न्यूनतम तापमान 14 से 15 डिग्री सेल्सियस के आसपास होता है और अधिकतम तापमान 35 से 36 डिग्री सेल्सियस के आसपास होता है, लेकिन अगर तापमान 40 से 45 डिग्री के आसपास पहुंच जाए, तो फसल खराब हो जाती है, लिहाजा टमाटर की खेती के दौरान तापमान का विशेष ध्यान रखना होता है. तापमान में थोड़ा बहुत हेरफेर भी आपकी फसल को नुकसान पहुंचा सकती है.

खेती तैयार करना

देखिए, वैसे तो किसी भी फसल की खेती करने के लिए मिट्टी की तैयार करना जरूरी रहता है, लेकिन अगर आप टमाटर की खेती के लिहाज से खेती तैयार करने  की बात करें, तो इसमें आपको कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना होता है. जैसे कि आपको टमाटर की खेती के दौरान मिट्टी पर पलाउ चलवाना होगा और दो से तीन हफ्तों तक उस पर धूप लगवाना होगा और उसके बाद रोटावेटरसे मिट्टी को भुरभुर करवाना होगा.

बेसल डोज

बेड के अंदर दी जाने वाली खाद को बेसल डोज कहते हैं. बेसल डोज पर आप दो बोरी DAP, 80 से 100 किलोग्राम और दो बोरी सिंगल सुपर फासफेट पाउडर फॉर्म वाली और 30 से 40 ग्राम MOPऔर 5 किलोग्राम दानेदार कीटनाशक, 3 से 4 ट्राली पकी हुई गोबर की खाद, इन सभी सामग्रियोंको आपको हैप बेड तैयार करना है. यह सब कुछ करने के बाद आप मिट्टी के ऊपर मिट्टी चढ़ा दें. ध्यान रहे कि इस दौरान आप बेड से बेड की दूसरी 3 से 2.50 फीट की रखें.

अधिक जानकारी के लिए वीडियो को देखें

मल्ची पेपर होल्स

किसान भाइयों जिन-जिनपौध रोपाई के लिए आप दो इंच होल्स तैयार करें. होल्स तैयार करते समय आप ड्रिप का विशेष ध्यान रखें. होल्स करते समय ड्रिप लाइन को थोड़ा साइड कर लीजिए. इसके बाद मल्चिंग पेपर पर टमाटर के लिए दो इंच का होल्स कर दीजिए. इन सभी प्रक्रियाओं को पूरा करने के बाद किसानों भाइयों को टमाटर की नर्सरी तैयार करनी होती है.

कैसे करें टमाटर की नर्सरी तैयार? (How to Prepare Tomato Nursery?)

यहां हम आपको बताते चले कि इन सभी उक्त प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद आप महज से 22 से 25 दिनों के अंदर टमाटर की स्वस्थ्य नर्सरी तैयार कर सकते हैं.नर्सरी आप प्रोक्टट्रे, डिसपॉजल व सामान्य तरीके से भी आप बेन बनाकर टमाटर की नर्सरी तैयार कर सकते हैं.

English Summary: Tomato Cultivation Guide

Like this article?

Hey! I am सचिन कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News