1. खेती-बाड़ी

गुलाब की पंखुड़ियों को सुखाकर गुणवत्ता कैसे बढ़ाए

High-Tunnel

कृषि उत्पादों को सुखाकर उपयोग करने से उत्पाद की सेल्फ लाइफ को बढ़ाया जा सकता है, साथ ही कृषि उत्पाद की गुणवत्ता बढ़ाई जा सकती है.आज के समय हरी सब्जियों, फलों, फूलों,दुग्ध पदार्थों (सांगरी, कैर, मशरूम, आलू चिप्स, ड्राई प्याज, गुलाब की पंखुड़ियाँ, मिल्क पाउडर) आदि को सुखाकर वर्ष भर उपयोग भी किया जा सकता है और अधिक पैसा भी कमाया जा सकता है, क्योंकि ये उत्पाद तुलनात्मक रूप से अधिक महंगे मिलते है.

गुलाब एक ऐसा पुष्प हैं, जिसका उपयोग ताजे फूल एवं फूलों को सुखाकर सौन्दर्य प्रसाधन, इत्र, गुलाब जल, गुलकन्द तथा मिठाईयों को खुशबूदार बनाने के लिए किया जाता हैं.देश में गुलाब की खेती बड़े स्तर पर होने लगी हैं तथा दिनों-दिन गुलाब की बुवाई का क्षेत्र बढ़ रहा हैं. राजस्थान में मुख्य रूप से गंगानगरी गुलाब (देशी गुलाब) की खेती हैं जिसको किसान ताजे फूल की पंखुड़ियों को बाजार में बेचते हैं, लेकिन गुलाब के बाजार मूल्यों में अस्थिरता बनी रहती हैं, जिससे किसानों को अधिक फायदा नहीं होता.

इसलिए किसान ऑफ सीजन में गुलाब की पंखुड़ियों को सुखाकर बाजार में बेच सकते हैं. सुखी हुई गुलाब की पंखुड़ियों का उपयोग मिठाईयों में खुशबू के लिये किया जाता है, लेकिन अधिकतर किसान गुलाब की पंखुड़ियों को धूप में खुले आसमान में सुखाते हैं. जिससे गुलाब की पंखुड़ियों की गुणवत्ता जैसे रंग आदि में गिरावट आती हैं. इस समस्या के समाधान के लिए हाई टनल की तकनीक काम में ली जाती है.

क्या है हाई-टनल तकनीक (What is High-Tunnel technology)

हाई-टनल की तकनीक में 8 जी.आई. पाईप 1/2 इंच को अर्द्धचन्द्राकार आकार में मुड़वाकर स्थापित करना होता है तथा सतह को 200 माईक्रोन की सफेद पोलिथीन से ढंकना होता है तथा सतह पर 100 माईक्रोन की काली पोलिथीन बिछा दी जाती हैं तथा दोनों तरफ से मुख खुला रखना होता है.इस संरचना को पूर्व से पश्चिम की दिशा मुँह करके स्थापित करना चाहिए ताकि धूप अधिक देर तक हाई-टनल संरचना को मिल सकें.

गुलाब की पंखुड़ियों को हाई-टनल संरचना में कैसे सुखाये (How to dry rose petals in High Tunnel structure)

हाई-टनल की संरचना में गुलाब की पंखुड़ियों को अधिकतम 4 घण्टे की अवधि में सुखाया जा सकता हैं क्योंकि इस संरचना के अन्दर 12-15 डिग्री सेन्टीग्रेड तापमान बढ़ जाता हैं तथा गुलाब की पंखुड़ियों का रंग बरकरार रहता हैं तथा मिट्टी के कण तथा पक्षियों आदि से भी सुरक्षा होती है, जिससे गुलाब की पंखुड़ियों की गुणवत्ता ताजे गुलाब जैसी बनी रहती हैं.

अच्छी गुणवत्तायुक्त पंखुड़ियों का बाजार में 25 से 30फीसदीतक मूल्य अधिक मिलता हैं तथा जब बाजार में ताजे गुलाब के मूल्य गिर जाते हैं तब गुलाब की पंखुड़ियों को हाई-टनल में सुखाकर अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता हैं.

हाई-टनल संरचनाके लाभ (Benefits of High-Tunnel Structure)

खुली धूप में सुखाने से गुलाब का मूल्य बाजार में 210 से 230 रूपये प्रति किलोग्राम तक मिलता हैं, जबकि हाई-टनल में सुखाने पर गुलाब की पंखुड़ियों का बाजार में 300 से 350 प्रति किलोग्राम रूपये तक का मूल्य प्राप्त किया जा सकता हैं क्योंकि इसमें रंग में अन्तर नहीं आता है.

10 किलोग्राम गुलाब की पंखुड़ियों को सुखाने पर 1 किलोग्राम सुखी गुलाब की पंखुड़ियों प्राप्त होती हैं, जबकि 10 किलोग्राम गुलाब की ताजी पंखुड़ियों को हाई-टनल में सुखाने से 1 किलो 100 ग्राम गुलाब की सुखी पंखुड़ियाँ प्राप्त की जा सकती हैं.

इसके साथ ही लाल मिर्च, साबुत धनिया, पौदीना, मेथी के बीज और पत्तियों को सूखा कर भी उपयोग में लिया जा सकता है.

English Summary: How to increase quality by drying Rose petals

Like this article?

Hey! I am हेमन्त वर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News