1. खेती-बाड़ी

घर के बगीचे में शकरकंद उगाने का सही तरीका

स्वाति राव
स्वाति राव

Sweat Potato

अगर आप घर के बगीचे में सब्जियों उगाना चाहते हैं, तो हम आपको एक ऐसे सब्जी की जानकारी देने वाले हैं, जिसे घर में आसानी से उगाया जा सकता है, साथ ही अच्छा मुनाफा भी कमाया जा सकता है

दरअसल, हम शकरकंद की बात कर रहे हैं. शकरकंद में पोटैशियम, सोडियम और कैल्शियम जैसे पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं. इसका सेवन करने से शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती हैं. इसके साथ ही इम्युनिटी सिस्टम भी मजबूत होता है. तो आइअ आपको घर में शकरकंद उगाने का तरीका बताते हैं.

इस खबर को भी पढ़ें - फल, फूल, सब्जी और मसालों की खेती करने वाले किसानों को मिलेगा 9 हजार रुपए

शकरकंद के बीज का सही चयन

शकरकंद की अच्छी खेती ( cultivation of sweet potato) करने के लिए सही बीजों का चयन करना चाहिए. आप घर में इसे उगाने के लिए बीज भण्डार की दुकान से बीजों को खरीद सकते हैं.

शकरकंद की खेती के लिए मिट्टी

अब आपको इसके मिटटी की तैयारी की जानकारी देते हैं. शकरकंद की खेती के लिए इसकी मिटटी को अच्छे से किसी खुरपी की मदद से भुरभुरा कर लें. इसके बाद खाद को मिटटी में मिला दें फिर आप इस मिटटी में शकरकंद के बीज की बुवाई कर सकते हैं.

शकरकंद की खेती के लिए खाद का उपयोग (Use Manure For Sweet Potato Cultivation)

आपको शकरकंद की खेती में जैविक खादों का इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि फसल की अच्छी उपज के लिए जैविक खाद (Organic manure) का इस्तेमाल अच्छा माना जाता है. आप चाहें, तो इसकी मिटटी में गाय के गोबर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

शकरकंद की खेती में सिंचाई का तरीका (Irrigation Method for Sweet Potato Cultivation)

किसी भी फसल की अच्छी उपज के लिए सिंचाई का महत्वपूर्ण भूमिका है, क्योंकि फसलों को  सही समय पर पानी देना जरूरी होता है. इससे फसल के सूखने और गलने का दर नहीं रहता है. आपको शकरकंद की खेती में नियमित तरीके से सिंचाई की प्रक्रिया करते रहना है. 

English Summary: the right way to grow sweet potatoes in the home garden

Like this article?

Hey! I am स्वाति राव. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News