Corporate

Escorts ने पेश किया देश का पहला हाईब्रिड ट्रैक्टर, इसके फिचर जानकर उड़ जाएंगे होश

ESCORT TRACTOR

एस्कॉर्ट्स ने  बैकहो लोडर और मल्टी-यूटिलिटी बैकहो के साथ अपने पहले हाइब्रिड ट्रैक्टर का लॉन्च किया है. कंपनी का कहना है कि यह एक प्रोटो टाइप मॉडल है और वे जल्द ही इसका प्रोडक्शन मॉडल लॉन्च करेंगे. ये ट्रैक्टर डीजल के साथ-साथ बैटरी पर भी चलेंगे. यह बेहतर माइलेज देगा और प्रदूषण को भी कम करेगा. इस ट्रैक्टर में तीन चार्जिंग मोड हैं, जिसमें हाइब्रिड मोड में प्लग भी उपलब्ध है. इसके साथ ही कंपनी ने दो और ट्रैक्टर भी पेश किए हैं. दरअसल, कंपनी ने ट्रैक्टरों की एक नई श्रृंखला शुरू की है जिसे न्यू एस्कॉर्ट ट्रैक्टर सीरीज का नाम दिया गया है. इस श्रृंखला में कुल तीन ट्रैक्टर पेश किए गए हैं. ये ट्रैक्टर इलेक्ट्रिक, हाइड्रोस्टैटिक और रिजिड कॉन्सेप्ट ट्रैक्टर हैं

पावर और सुविधाएं

यह ट्रैक्टर 75 हॉर्सपावर की क्षमता का उत्पादन करता है लेकिन ट्रेक्टर को 90 हॉर्सपावर तक बढ़ाया जा सकता है, इसका श्रेय इसकी हाइब्रिड ड्राइव ट्रेन को जाता है. इसमें चार ऑपरेटिंग मोड हैं जो डीजल और इलेक्ट्रिक पावर दोनों को स्वतंत्र रूप से उपयोग करने की सुविधा प्रदान करते हैं.यह हाइब्रिड मोड उपयोगकर्ताओं को ट्रैक्टर चलाने के लिए बैटरी इंजन और डीजल इंजन दोनों का उपयोग करने की अनुमति देता है.

ESCORT

इसका ICE डायरेक्ट मोड सिर्फ डीजल इंजन से बिजली का उपयोग करता है, बैटरी इलेक्ट्रिक मोड डीजल इंजन को बंद कर देता है और बैटरी को वाहन को चलाने के लिए उपयोग करता है और तीसरा मोड प्लग-इन मोड बैटरी को वॉल सॉकेट पावर स्रोत से चार्ज करने में सक्षम बनाता है.

कंपनी ने अपने वार्षिक नवाचार प्लेटफॉर्म (‘एक्सक्लूसिव -2019 ’) पर इन ट्रैक्टरों का खुलासा किया है. कंपनी ने कहा कि ये ट्रैक्टर बैटरी और ईंधन दोनों पर चल सकते हैं. हाइब्रिड वाहन इंजन को पावर देने के लिए बैटरी और ईंधन का उपयोग करते हैं लेकिन इलेक्ट्रिक वाहन केवल इलेक्ट्रिक ऊर्जा के साथ चलते हैं. आम डीजल या पेट्रोल वाहन की तुलना में हाइब्रिड वाहन 20 से 30 प्रतिशत तक ईंधन बचाते हैं.

केंद्रीय सड़क और परिवहन मंत्री ने घोषणा की कि सरकार जल्द ही हाइब्रिड वाहनों पर जीएसटी दर को कम कर सकती है. उन्होंने यह भी कहा कि चूंकि इलेक्ट्रिक वाहनों पर जीएसटी 12 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत किया गया है, इसलिए वित्त मंत्री को हाइब्रिड वाहनों पर भी ये लाभ देने का सुझाव दिया जाएगा.



Share your comments