1. कंपनी समाचार

सविता ऑयल टेक्नोलॉजीज ने स्वराज के साथ किया अपना कॉन्ट्रैक्ट रिन्यू

सिप्पू कुमार
सिप्पू कुमार
savita

भारत की जानी-मानी कंपनी सविता ऑयल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड ने स्वराज ट्रैक्टर्स के साथ अपने एग्रीमेंट को रिन्यू कर दिया है. कंपनी ने स्वराज ट्रैक्टर के साथ ये एग्रीमेंट ब्रांडेड इंजन तेलों के निर्माण और आपूर्ति के लिए किया था. इस बारे में बताते हुए महिंद्रा एंड महिंद्रा के प्रेजिडेंट एंड चीफ परचेस अफसर हेमंत सिक्का ने बताया कि भविष्य की बेहतर संभावनाओं को देखते हुए दोनों कंपनियों ने एग्रीमेंट को रिन्यू कर दिया है.

एग्रीमेंट के फायदों के बारे में समझाते हुए हेमंत सिक्का ने कहा कि हम सविता ऑयल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड के साथ एक बार दोबारा जुड़कर बहुत खुश हैं. हमे उम्मीद है कि हम दोनों मिलकर ग्राहकों को पहले की भांति सदैव अच्छे उत्पाद देंगें. उन्होंने कहा कि दोनों ही कंपनियों के पास कोर स्ट्रेंथ और मजबूत इच्छा शक्ति है और दोनों ही कंपनियां अपने ग्राहकों की जरूरतों एवं डिमांड को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है.      

savita

वहीं इस बारे में सविता ऑयल टेक्नोलॉजीज़ लिमिटेड के चीफ एग्जीक्यूटिव अफसर सुनिल ऐमा ने कहा कि इस एग्रीमेंट के रिन्यू होने के मौके पर हम बताना चाहते हैं कि स्वराज और हमारा रिश्ता 8 वर्षों से भी अधिक पुराना है और हम आगे भी स्वराज के साथ मिलकर लोगों की भलाई के लिए काम करना चाहतें हैं. इस मौके पर उन्होंने स्वराज ट्रैक्टर्स एंव महिंद्रा ग्रुप का धन्यवाद करते हुए कहा कि हमारी पार्टनरशिप इस बात का प्रमाण है कि हम दोनों ग्राहकों को उच्च कोटी के उत्पाद देने को सदैव प्रयासित हैं.

58 वर्ष से पुरानी है सविता ऑयल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड कंपनीः

सविता ऑयल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड कंपनी 58 वर्षों से भारतीय बाजार में अपनी सेवाएं दे रही है. आज के समय में कंपनी पेट्रोलियम पदार्थों के लिए विशेष तौर पर विख्यात है. 1994 में बीएसई एवं एनएसई में इसे 2250 करोड़ रूपये के साथ लिस्टिड  किया गया था. आज के समय में ट्रांसफार्मर ऑयल एंड वाइट ऑयल्स के क्षेत्र में कंपनी को मार्केट का बादशाह कहा जाता है.

English Summary: Savita Oil Technologies Renews Agreement with Swaraj Tractors

Like this article?

Hey! I am सिप्पू कुमार. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News