1. कंपनी समाचार

गुजरात में टैफे के मुफ्त ट्रैक्टर रेंटल प्लेटफॉर्म – ‘जेफार्म सर्विसेज को गुजरात के मुख्यमंत्री श्री विजय रुपाणी ने लॉन्च किया

farm services

देशभर में किसानों के जीवन को समृद्ध करने के उद्देश्यं के साथ माहौल बनाने की सोच से जुड़ी टैफे की जेफार्म सर्विसेज  एक सीएसआर पहल है. यह पहल गुजरात में राज्य सरकार के साथ साझेदारी में  औपचारिक रूप से श्री विजय रुपाणी, मुख्य मंत्री, गुजरात सरकार द्वारा लॉन्चह की गई. इस अवसर पर श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, कृषि एंव किसान कल्यादण मंत्री और ग्रामीण विकास, पंचायती राज मंत्री, भारत सरकार और श्री रणछोड़भाई चानाभाई फल्दू, कृषि, ग्रामीण विकास एवं परिवहन मंत्री, गुजरात सरकार उपस्थिकत थे.

टैफे की जेफार्म सर्विसेज का उद्देश्य छोटे और सीमांत किसानों को ट्रैक्टर और आधुनिक कृषि उपकरणों को किराये पर उपलब्धम कराके कृषि मशीनीकरण से संबंधित समाधानों तक आसान पहुंच बढ़ाना, उनकी उत्पादकता को बढ़ाना और उनकी आय में उल्लेखनीय वृद्धि करना है. यह अपने किसान-से-किसान (एफ2एफ) रेंटल प्लेटफार्म के जरिये किसानों को मुफ्त में ट्रैक्टर और आधुनिक कृषि मशीनरी हासिल करने की सुविधा देता है. टैफे की जेफार्म सर्विसेज गुजरात सरकार के कृषि विकास अधिकारियों के साथ मिलकर काम करेगी, ताकि प्लेटफॉर्म की विस्तृत पहुंच और सफल क्रियान्वकयन सुनिश्चित किया जा सके.

गुजरात में अधिकांश ग्रामीण लोगों के लिए कृषि प्राथमिक व्यवसाय है. राज्य में लगभग 52% कामकाजी आबादी आजीविका के लिए कृषि पर निर्भर है. इनमें से अधिकांश छोटे या सीमांत किसान हैं, जिसकी वजह से कृषि का मशीनीकरण करके राज्य में प्रगति और उत्पादकता में वृद्धि की काफी संभावनाएं हैं. सुश्री मल्लिका श्रीनिवासन, चेयरमैन - टैफे, ने कहा कि “भारत छोटे-छोटे खेतों का देश है. हमारे देश में अधिकांश किसानों, लगभग 85% किसानों, के पास अपनी पैदावार और आय में सुधार करने के लिए कृषि मशीनीकरण तक कोई पहुंच नहीं है. जेफार्म सर्विसेज एक सीएसआर पहल है जो जेफार्म सर्विसेज ऐप से सीधे लाभ उठाते हुए, किसानों को अपने ट्रैक्टर और कृषि उपकरणों को किराये पर देने, और इस सेवा की आवश्यनकता वाले छोटे किसानों को यह सेवा उपलब्धक कराने की दोनों सुविधाएं  प्रदान करता है.

हमारा उद्देश्य गुजरात के किसानों तक पहुंचना, देश भर के लाखों किसानों के जीवन में बदलाव लाना और 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के हमारे माननीय प्रधान मंत्री की सोच को साकार करना है.

जेफार्म सर्विसेज ऐप कृषि मशीनीकरण से संबंधित समाधानों की तलाश करने वाले किसानों को सीधे ट्रैक्टर और उपकरण मालिकों द्वारा संचालित कस्टम हायरिंग सेंटर (सीएचसी) से जोड़ेगा, जिससे गुणवत्ता, निर्भरता और समय पर डिलिवरी को ध्यान में रखते हुए हुए, निष्पक्ष और पारदर्शी किराये की प्रक्रिया को सुविधाजनक बनाया जा सकेगा. जेफार्म सर्विसेज किसानों और किराएदारों को कृषि उपकरण किराए पर लेने और किराये पर देने की संभावनाओं की एक विस्तृत रेंज प्रदान करती है और उन्हें सीधे बातचीत करने और अपनीअपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए उनको आपस में जोड़ती है. इस अग्रणी प्ले टफॉर्म के साथ, टैफे किसानों की आय को बढ़ावा देने के लिए प्रौद्योगिकी वाली साझा अर्थव्यवस्था के लाभ उपलब्ध् कराता है.

श्री टी. आर. केसवन, ग्रुप प्रेसिडेंट (कॉर्पोरेट रिलेशंस और अलायंस) - टैफे, ने कहा कि गुजरात सरकार के साथ मिलकर, टैफे ने साझा अर्थव्यवस्था मॉडल के जरिये राज्य में टिकाऊ कृषि उत्पादकता और विकास के लिए जेफार्म सर्विसेज लॉन्च की है. यह पहल छोटे और सीमांत किसानों को कृषि मशीनीकरण उपलब्ध कराने में राज्य का सहयोग करेगी. जेफार्म सर्विसेज पूरी तरह से पारदर्शी है और इसमें कोई भी अदृश्यत शुल्क या कमीशन नहीं लिया जाता है.

किसान जेफार्म सर्विसेज एंड्रायड ऐप के जरिये या टोल-फ्री हेल्पलाइन 1800-4-200-100 / 1800-208-4242 पर संपर्क करके ट्रैक्टर और उपकरण किराये पर ले सकते हैं. ऐप को कम लागत वाले एंड्रॉइड फोन पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है, इसे बहुत कम डेटा पर चलाने के लिए डिजाइन किया गया है और इसे अंग्रेजी और हिन्दीक सहित विभिन्न अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में उपयोग में लाया जा सकता है.

जेफार्म सर्विसेज ऐप डिजिटल इंडिया पहल का एक मजबूत एवं शानदार उदाहरण है, जो भारतीय कृषि को लाभ पहुंचाने के लिए तैयार किया गया है. टैफे की यह सेवा भारतीय किसानों के डिजिटल सशक्तिकरण को बढ़ावा देगी और नए ग्रामीण उद्यमियों तथा रोजगार के महत्वपूर्ण अवसरों को सामने लायेगी.

जेफार्म सर्विसेज गुजरात के अलावा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, ओडिशा, झारखंड, महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और तमिलनाडु जैसे राज्यों में मौजूद है और इससे लगभग 314,000 उपयोगकर्ता सीधे लाभान्वित हुए हैं जिसके परिणामस्वरूप कृषि मशीनरी के किराये पर लेने के 825,000 से अधिक घंटे उपयोग में लाये गये हैं. इस तरह, बहुत ही कम समय में जेफार्म सर्विसेज भारत के सबसे बड़े कृषि उपकरण एग्रीगेशन ऑपरेटरों में से एक बन गई है.

जेफार्मऔर जेफार्म सेवाएँ’: JFarmServices.in के बारे में

टैफे ने 1964 में चेन्नई, तमिलनाडु में जेफार्म भारत की स्थापना की, जिसमें कृषि उत्पादकता बढ़ाने और भारत की बढ़ती खाद्य माँगों को पूरा करने के लिए उन्नत कृषि तकनीकों के साथ किसानों को सशक्त बनाने का उद्देश्य ध्यान में रखा गया था. वर्षों से, जेफार्म स्थानीय खेती की स्थितियों के लिए खेती में मौजूदा तकनीकों को अपनाने और किसानों के साथ इस ज्ञान को साझा करने के लिए स्थायी कृषि पर ध्यान केंद्रित किए हुए है. जेफार्म सेवाएँ टैफे द्वारा एक पहल है जो छोटे और बड़े खेतों के लिए ट्रैक्टर और खेत के उपकरण किराये पर लेने-देने के जिरए कृषि मशीनीकरण समाधानों तक आसान पहुंच को बढ़ाती है. छोटे और अल्प किसान, जिनके पास भारत में लगभग 85% ज़मीन है, वे ट्रैक्टरों या अन्य साधनों के मालिक बनने में सक्षम नहीं हैं. जेफार्म सेवाएँ इन किसानों को अपने किसान-से-किसान प्लेटफार्म के माध्यम से इन किसानों को उपकरण मालिकों से जोड़कर इस अंतर को पाटती है.

किसान आस-पास के उपकरणों की खोज करके जेफार्म सेवाएँ एंड्रॉइड ऐप या नि:शुल्क हेल्पलाइन: 1800-4-200-100 / 1800-208-4242 के जरिए उन्हें बुक कर सकते हैं. यह मुफ्त एप ट्रैक्टर मालिकों और किराए पर देने के बुनियादी केंद्रों (सीएचसी) को ट्रैक्टर एवं उपकरण मालिकों द्वारा सीधे खेत के मशीनीकरण समाधान की तलाश करने वाले किसानों से जोड़ता है, जिससे गुणवत्ता, निर्भरता और समय पर डिलीवरी पर ध्यान केंद्रित करते हुए उचित और पारदर्शी किराये की प्रक्रिया की सुविधा मिलती है. जेफार्म सेवाएँ किसानों और किराएदारों को कृषि उपकरण किराए पर लेने-देने की संभावनाओं की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करती है और उन्हें सीधे उनकी संबंधित ज़रूरतें पूरा करने और बातचीत करने के लिए जोड़ती है.

फार्म मशीनरी मालिकों और प्रयोक्ताओं को शामिल करने वाले इस प्लेटफार्म के निर्माण के साथ, जेफार्म सेवाएँ ने 2017 में अपनी स्थापना के बाद से ही भारत के 12 राज्यों में लगभग 260,000 किसानों के जीवन को बेहतर बनाया है. वर्तमान में, जेफार्म सेवाएँ (जेएफएस) असम के अलावा राजस्थान, मध्य प्रदेश (एमपी), उत्तर प्रदेश (यूपी), बिहार, ओडिशा, झारखंड, महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और तमिलनाडु में अपनी मौजूदगी दर्ज कर चुकी है जिससे कृषि मशीनीकरण को सभी के लिए व्यवहार्य और सस्ता बनाया गया है.

टैफेकेबारेमें : tafe.com

150,000 से अधिक ट्रैक्टरों की वार्षिक बिक्री के साथ टैफे,संख्या के आधार पर, दुनिया का तीसरा और भारत का दूसरा सबसे बड़ा ट्रैक्टर निर्माता  है. 93 बिलियन से अधिक केटर्न ओवर के  साथ  टैफे भारत के ट्रैक्टरों के प्रमुख निर्यातकों में से एक है. टैफे एयर-कूल्ड और वाटर-कूल्ड प्लेटफॉर्म,दोनों में सब-100 एच.पी.सेगमेंट में ट्रैक्टरों की श्रृंखला का निर्माण करता है, और उन्हें अपने चार प्रतिष्ठित ब्रांडों - मैसीफर्ग्यूसन, टैफे, आयशर और हाल ही में सर्बियन ट्रैक्टर और कृषि उपकरण ब्रांड आई.एम.टी.इंडस्ट्रिजा मासीना आई ट्रैक्टोरा,के अंतर्गत बाजार में लाता है.टैफे का1000 से अधिक मजबूत वितरण नेटवर्क पूरे भारत में फैला हुआ है. भारत के अलावा, इसके उत्पादों को दुनिया भर में 100 से अधिक देशों में उत्कृष्ट स्वीकृति मिली हुई है, जिसमें यूरोप और अमरी की महाद्वीप के विकसित देश शामिल हैं.

 ट्रैक्टर और फार्म मशीनरी के अलावा, टैफे डीजल इंजन, साइलेंट जेनसेट, एग्रोइंजन, बैटरी, हाइड्रोलिक पंप और सिलेंडर, गियर और ट्रांसमिशन कंपोनेंट बनाती है और वाहन फ्रैंचाइज़ी तथा प्लांटेशन में व्यावसायिक रुचि रखती है. टैफे समग्र गुणवत्ता अभियान (टीक्यूएम) के लिए प्रतिबद्ध है. हाल ही के दिनों में टीएएफई के विभिन्न विनिर्माण संयंत्रों ने जापान इंस्टीट्यूट ऑफ प्लांट मेंटेनेंस (जेआईपीएम) से कई टीपीएम उत्कृष्टता पुरस्कारप्राप्त किए हैं, साथ ही साथ टीपीएम उत्कृष्टता के लिए कई अन्य क्षेत्रीय पुरस्कार भी हासिल किए हैं. टैफे 2018 में फ्रॉस्ट एंड सुलिवान ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग लीडरशिप अवार्ड जीतने वाला पहला भारतीय ट्रैक्टर निर्माता बन गया, जिसे एंटरप्राइज इंटीग्रेशन एंड टेक्नोलॉजी लीडरशिप अवार्ड और दो सप्लाई चेन लीडरशिप अवार्ड्ससे मान्यता प्राप्त है.

 इंजीनियरिंग निर्यात में उत्कृष्ट योगदान के लिए, टैफे को भारत के 40वें इंजीनियरिंग एक्सपोर्ट्स प्रमोशन काउंसिल - सदर्न रीजन अवार्ड्स (2015-16) में 'स्टार परफॉर्मर - लार्ज एंटरप्राइज़ (एग्रीकल्चर ट्रैक्टर्स)' नाम दिया गया है, जो अब तक लगातार 21वीं बार है. टैफे को टोयोटा मोटर कंपनी, जापान से गुणवत्ता की आपूर्ति के लिए 'क्षेत्रीय योगदानकर्ता पुरस्कार' और 2013 में अपनी आपूर्ति श्रृंखला परिवर्तन के लिए दूसरे एशिया विनिर्माण आपूर्ति श्रृंखला शिखर सम्मेलन में 'विनिर्माण आपूर्ति श्रृंखला परिचालन उत्कृष्टता - ऑटोमोबाइल पुरस्कार' से सम्मानित किया गया है. टैफे ट्रैक्टर संयंत्रों को कुशल गुणवत्ता प्रबंधन प्रणालियों के लिए ISO 9001 के तहत और पर्यावरण के अनुकूल संचालन के लिए ISO 14001 के तहत प्रमाणित किया गया है.

English Summary: TAFE’s free of cost tractor rental platform – ‘JFarm Services’ launched in Gujarat byShri. Vijay Rupani, Chief Minister, Government of Gujarat

Like this article?

Hey! I am विवेक कुमार राय. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News