1. सफल किसान

महिला किसान ने डेढ़ एकड़ खेत में की 40 टन तरबूज की खेती, ई-नाम पोर्टल पर दिखेगी सफलता की कहानी

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

देशभर के किसानों के लिए रांची की महिला किसान किरण खलखो एक रोल मॉडल बन चुकी हैं. किरण खलखो चितरकोटा गांव की रहने वाली हैं, जिन्हें डेढ़ एकड़ खेत में लगभग 40 टन तरबूज की खेती की है. खास बात है कि इस महिला किसान की सफलता को देशभर के किसानों तक पहुंचाया जाएगा. इसके लिए केंद्रीय कृषि मंत्रालय की सोसाइटी लघु कृषक कृषि व्यापार संघ ने एक निर्णय लिया है कि महिला किसान की कामयाबी पर एर वीडियो बनाया जाए. इतना ही नहीं, सफल महिला किसान की कहानी ई-नाम पोर्टल पर भी दिखाई देगी. आइए खेतीबाड़ी में सफलता प्राप्त करने वाली महिला किसान की कहानी प्रकाश डालते हैं.

10 एकड़ भूमि पर करती हैं खेती

किरण खलखो  5 भाई-बहनों हैं, जिनमें वह सबसे बड़ी हैं. वह खेती की वजह से ग्रेजुएशन की पढ़ाई  पूरी नहीं कर पाईं. पिछले 10 साल खेती में मेहनत कर रहीं हैं, वे कुल 10 एकड़ भूमि पर खेती करती हैं. उन्होंने पहले पारंपरिक खेती से शुरूआत की, लेकिन अब वह खेती में वैज्ञानिक तकनीक को ज्यादा अपनाती हैं. इसके आधार पर ही उन्होंने डेढ़ एकड़ खेत में लगभग 40 टन तरबूज उगाया है. इसके अलावा वह टमाटर, गोभी, करेला आदि मौसमी सब्जियों की खेती करती हैं.

ये खबर भी पढ़े: New Business Idea: बिजनेस का ये नया आइडिया एक साल में बनाएगा लखपति, मुद्रा योजना की मदद से करें शुरू !

खुद से चलाती हैं कृषि यंत्र

महिला किसान अपने परिवार को छोड़कर बाहर नहीं जा सकती हैं, इसलिए आर्थिक आमदनी का एकमात्र जरिया खेती ही है. जब उन्हें रोजगार की ज़रूरत थी, लेकिन राज्य में कहीं भी उन्हें रोजगार नहीं मिला . इसके बाद उन्होंने खेती को पैसा कमाने का जरिया बना लिया. इसमें जी तोड़ मेहनत की. वह खुद ही खेत में ट्रैक्टर चलाती हैं. जब खेत में पानी की दिक्कत हुई, तो उन्होंने ड्रिप एरिगेशन विधि को अपनाया. जब बजार नहीं मिला, तो ई-नाम योजना के जरिए अपनी कृषि उपज को बेचना शुरू किया. किरण खलखो सफल किसानों की श्रेणी में शामिल हो चुकी हैं. वह लगातार कृषि बाजार समिति को बढ़ावा दे रही हैं, इसलिए उनकी सफलता की कहानी लोगों को दिखाने का निर्णय ला गया है.

ये खबर भी पढ़े: Cotton Farming: कपास के बीजों को इन 6 तरीकों से करें उपचारित, रोग और कीटों से बची रहेगी फसल

English Summary: Woman farmer cultivates 40 tons of watermelon in one and a half acre field

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News