1. सफल किसान

मल्टीनेशनल कंपनियों की जॉब छोड़ करने लगे मशरूम की खेती, आज खुद की कंपनी खड़ी कर दी

श्याम दांगी
श्याम दांगी

Mushroom Cultivation

कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता है बल्कि यदि लगन से किया जाए तो एक बड़ा प्लेटफार्म बन सकता है. हरियाणा के एक युवा फार्मर ने मल्टीनेशनल कंपनी की नौकरी छोड़ मशरूम की आधुनिक खेती को अपनाकर सही साबित कर दिया. जी हां, यहां के गुरूग्राम के अंशुमान कालरा ने एमबीए के बाद कई मल्टीनेशनल कंपनियों में काम किया लेकिन एक घटना के बाद उन्होंने प्राइवेट सेक्टर की नौकरी छोड़ मशरूम की खेती शुरू की.

पत्नी के बीमार होने के बाद आया आइडिया

दरअसल, अंशुमान राजस्थान के भिवाड़ी से ताल्लुक रखते हैं. मशरूम की खेती से पहले वे 3 अलग-अलग मल्टीनेशनल कंपनियों में काम कर चुके थे. लेकिन एक दिन उनकी पत्नी तनुश्री गुप्ता बीमार हो गई. उन्हें अचानक छाती में बहुत ज्यादा दर्द होने लगा. इसके बाद डॉक्टर ने मेमोग्राफी कराने की सलाह दी. तब तनुश्री के ईलाज के लिए उनके दादा ने एक खास मशरूम के बारे में बताया. अंशुमान ने बताया कि इस मशरूम के उपयोग से तनुश्री की बीमारी बिल्कुल सही हो गई.

खुद की कंपनी बना ली

इस ख़ास किस्म की मशरूम की खेती अंशुमान ने सबसे पहले दो सौ गज क्षेत्र में शुरू की. आज उन्होंने खुद की कंपनी बायोक्रिडेंस बना ली. जो न सिर्फ मशरूम उगाती है बल्कि इसका पाउडर बनाकर बेचती भी है. बता दें कि उनकी कंपनी को आइएसओ 9001 और आइएसओ 2000 के साथ जीएमपी और एचएसीसीपी सर्टिफिकेट भी मिल चुका है. आज इस ख़ास किस्म की मशरूम के उत्पादन में उनकी कंपनी एक ख़ास पहचान बना चुकी है.

महिलाओं के लिए उपयोगी

उनकी मशरूम का नाम सुपर मशरूम है जो महिलाओं के लिए किसी वरदान से कम नहीं है. जो बच्चियों और महिलाओं की ओवरी की सिस्ट, त्वचा रोगों से दूर रखने के साथ बालों की गिरावट, हार्मोन्स असुंतलन और मासिक धर्म की अनियतिताओं की दूर करती है. यही वजह है कि इस मशरूम की जबरदस्त मांग है. तनुश्री का कहना है कि वे इस खास मशरूम की खेती के लिए अन्य महिलाओं को भी प्रेरित कर रही है.

ढींगरी खुम्ब उगायें– आय को दोगुना बढाएं

बटन मशरूम की उन्नत खेती कैसे करें, आइए जानते हैं पूरी जानकारी

 

English Summary: haryana progressive farmer three multinational companies left for super mushroom cultivation

Like this article?

Hey! I am श्याम दांगी. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News