1. ग्रामीण उद्योग

अनानास की खेती से होगी शानदार कमाई, जानिए किस खास वजह से होती है ज्यादा इनकम

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य

Pineapple Cultivation

अनानास यानी पाइनएप्पल खाने से कई तरह के फायदे होते हैं. यह भूख बढ़ाने से लेकर पेट संबंधी कई दिक्कतों को खत्म करने में उपयोगी है. मौजूदा समय में पाइनएप्पल की खेती (Pineapple Cultivation) बहुत कम लोग करते हैं, लेकिन आप इसकी खेती से अच्छी मुनाफा कमा सकते हैं.

जी हां, आपके लिए पाइनएप्पल की खेती (Pineapple Cultivation) अच्छा बिजनेस आइडिया (Business Idea) है. अगर आप इसकी खेती कर सकते हैं, तो यह आपके लिए अच्छे मुनाफे वाली खेती साबित होगी. खास बात यह है कि इसकी खेती साल में कई बार की जा सकती है. ऐसे में आप एक के बाद एक खेती करके अच्छा बिजनेस कर सकते हैं, तो आइए जानते हैं कि यह खेती किस तरह आपको मुनाफ़ा दे सकती है और आप किस तरह इसकी खेती कर सकते हैं. इसके साथ ही बताएंगे कि पाइनएप्पल की खेती (Pineapple Cultivation) करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए.

कब करते हैं पाइनएप्पल की खेती? (When to Cultivate Pineapple?)

पाइनएप्पल का पौधा कैक्टस प्रजाति का होता है. इसका रखरखाव और प्रबंधन भी बहुत आसान होता है. इसके साथ ही मौसम को लेकर भी ज्यादा ध्यान रखने की आवश्यकता नहीं होती है. इसकी खेती की खास बात यह है कि इसे एक सीजन में कई बार लगाया जा सकता है. केरल जैसे कई प्रदेशों में किसान 12 महीने ही इसकी खेती करते हैं. वैसे यह गर्मी की फसल होती है, जिसे प्रमुख रूप से जनवरी से मार्च और मई से जुलाई के बीच लिया जा सकता है.

पाइनएप्पल की खेती करने का तरीका (The need for water is less)

अनानास खेती करते समय ध्यान रखें कि पौधे से पौधे की दूरी कुल 25 सेमी होनी चाहिए, तो वहीं कतार की दूरी 60 सेमी होनी चाहिए. इसकी खेती 89 हजार हेक्टेयर के क्षेत्र में की जाती है और कुल उत्पादन 1,415.00 हजार टन है. यह लगभग पूरे उत्तर पूर्व क्षेत्र, पश्चिम बंगाल, केरल, कर्नाटक, बिहार, गोवा और महाराष्ट्र राज्यों में बहुतायत से उगाया जाता है.

पानी की कम होती है आवश्यकता (How to cultivate pineapple)

  • इसके पौधों को 15 दिन में एक बार सिंचाई की आवश्यकता होती है.

  • इसका ज्यादा ध्यान नहीं रखना होता है, क्योंकि पानी की जरुरत कम होती है.

  • पाइनएप्पल के पौधों को छांव की आवश्यकता होती है.

  • खेत में कुछ-कुछ दूरी पर पौधे लगाने की आवश्यकता होती है.

  • उर्वरक में डीएपी, पोटाश और हल्के सुपर यूरिया की आवश्यकता होती है, जिसे भूमि के आधार पर तय किया जाता है.

  • पाइनएप्पल के साथ-साथ बीच में दूसरी हल्की फसल भी लगा सकते हैं.

एक बार एक ही फल लगता है (Once the fruit is the same)

आपको बता दें कि पाइनएप्पल के पौधे पर एक ही बार फल लगता है. यानी आप एक लॉट में सिर्फ एक बार ही पाइनएप्पल प्राप्त कर सकते हैं. इसके बाद दूसरे लॉट के लिए फिर से फसल उगानी होती है.

पाइनएप्पल की खेती से मुनाफ़ा (Profits from pineapple cultivation)

इसकी खेती से पैदावार काफी ज्यादा प्राप्त होती है. ऐसे में बिजनेस के हिसाब से ये काफी अच्छी फसल है. अगर आप अधिक दूरी पर कुल 15 से 20 हजार पौधे प्रति हेक्टेयर लगाते हैं, तो इससे लगभग 10 से 15 टन पैदावार आसानी से प्राप्त हो सकती है.

English Summary: Pineapple farming will bring good profits

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News