1. विविध

जानें! सर्दियों में शरीर के लिए क्यों जरूरी है गाय का गोबर

मनीशा शर्मा
मनीशा शर्मा
cow dung

जो लोग गोबर को बदबूदार समझते है उनके लिए ये जानना बहुत जरूरी है कि ये स्वास्थ्य के लिए कितना उपयोगी है. सुनने में ये बात बहुत अटपटी लगेगी पर ये सच्चाई है. देसी गाय के गोबर में कई तरह के विशेष गुण मौजूद होते है, जोकि हमारे शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होते है. इसे पुराने समय से ही आयुर्वेद में बहुत महत्व दिया जाता आया है. अमेरिका में भी एक रिसर्च में गाय के गोबर को एक महाऔषधी का दर्जा दिया गया है. आज हम आपको बताएंगे कि किस तरह सर्दियों में गाय का गोबर आपके लिए फायदेमंद औषधि का काम कर सकता है. तो आइए जानते है इसके फायदों के बारे में.......  

cow dung

एड़ियों के दर्द से राहत

अगर आपको एड़ियों में बहुत दर्द होता है तो रोज सूर्य उदय से पहले गाय के ताजा गोबर में एड़ियों को रख कर 10 मिनट तक खड़े रहें.  अगर आप ऐसा सुबह शाम करते है तो इससे शीघ्र ही आपको राहत मिलती है.

कीड़े का जहर निकालने में असरकारक

अगर आपको किसी मकड़ी, बर्र, मच्छर, मक्खी आदि ने काट लिया है तो ऐसे में आप उस जगह पर गाय का गोबर मलें और किसी कपड़े से अच्छे से बांध ले. ऐसा दिन में दो से तीन बार करें इससे जहर का असर कम हो जाएगा.

मिर्गी के दोरे से बचाव

अगर आपको मिर्गी की समस्या है तो सूखे गोबर की राख को पानी में मिलाकर और अच्छे से छानकर उस पानी को पीने से इस बीमारी से काफी हद तक राहत मिलती है.

पेट के कीड़े से छुटकारा

अगर आप पेट के कीड़ों से परेशान है तो ऐसे में आप गाय के गोबर की सफेद राख को 1 गिलास पानी में 1 चम्मच मिला कर अच्छे से छान कर लगातार तीन से चार दिन तक सेवन करें. ऐसा करने से 1 हफ्ते में ही पेट के कीड़ों से राहत मिल जाएगी.

खाज और खुजली से निजात :

अगर आपको सर्दियों में खाज खुजली की समस्या रहती है तो आप गाय के गोबर के उपलों को जलाकर भस्म बना लें. इसके बाद गाय के मक्खन को 50 बार से ज्यादा पानी से धो लें. उसके बाद मक्खन में 25 ग्राम भस्म को अच्छे से मिला कर रख लें और जब भी आपको खाज या फिर खुजली हो उस हिस्से पर लगायें ऐसे करने से आपको तुरंत लाभ होगा.

English Summary: health benefits of cow dung , read more information

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News