1. विविध

अनोखी खूबियों के कारण इस फल की दुनिया भर में मांग है

KJ Staff
KJ Staff
अफ्रीका

Baobab

पोषक तत्व, एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी से भरपूर बाओबाब को अफ्रीका के लोग सदियों से अपने भोजन, पेय और दवाइयों में इस्तेमाल करते हैं. इसकी अनोखी खूबियों ने दुनिया भर में इसकी मांग बढ़ा दी है.

डाल पर ही सूखे

बाओबाब दुनिया का अकेला फल है जो प्राकृतिक रूप से शाखाओं पर ही सूखता है. सुनहरे रंग के लंबे लंबे ये फल छह महीने तक सूरज की गर्मी में पकते हैं और तब इनका बाहरी खोल चिकना, सख्त और भूरे रंग का हो जाता है. इसके भीतर नमी नहीं होती. बाओबाब उगाने वाले पेड़ों पर चढ़ कर इन फलों को नीचे ले आते हैं.

जीवन देता पेड़

बाओबाब का पेड़ अफ्रीकी महाद्वीप का आइकन है. अफ्रीका के सावन्ना इलाके की बेहद सूखी जमीन में हजारों साल से ये पेड़ फलते फूलते आ रहे हैं. अपने विशाल तने में पानी जमा कर ये पोषण से भरपूर फल पैदा करते हैं. ये ना सिर्फ खाना पैदा करते हैं बल्कि पशुओं और इंसानों के लिए आश्रय भी देते हैं. इसलिए कोई हैरत नहीं कि इसे जीवन वृक्ष कहा जाता है.

जंगली खाना

बाओबाब के पेड़ मुश्किल वक्त के लिए अपने तने में हजारों लीटर पानी जमा कर लेते हैं. हालांकि उन्हें फल पैदा करने लायक बनने में 25 साल लगते है. ये बागों में नहीं उगते बल्कि आमतौर पर जंगली या फिर गांवों में सामुदायिक रूप से बढ़ते हैं. फल की मांग बढ़ने से पर्यावरणवादी इस बात के बारे में भी सोच रहे हैं कि इन पेड़ों का प्रकृति पर क्या प्रभाव होगा?

कमाई का जरिया

केन्या में बाओबाब के फल से लोगों को अच्छी कमाई होती है. पहले ये फल केवल पेड़ के आसपास रहने वाले लोग ही खाते थे. अब यह बड़े शहरों में बेचा जाने लगा है और दूसरे देशों को निर्यात भी किया जाता है. यूरोपीय संघ ने 2008 में पहली बार बाओबाब के आयात को मंजूरी दी थी. अब हर साल यूरोपीय संघ में 20 टन फल आता है.

मंकी ब्रेड

फल तैयार होने के बाद सख्त बीज वाले फल को तोड़ कर इसे खोला जाता है. अंदर से चॉक जैसे सूखे फल निकलते हैं. इसके बाद इसे पीस कर महीन चूर्ण बनाया जाता है जिसे भोजन या पेय में इस्तेमाल किया जाता है. खट्टे स्वाद वाले फल को मंकी ब्रेड या बूई भी कहा जाता है. इसमें पोषण के साथ इलाज के भी गुण हैं.

सेहत का लाभ

100 ग्राम बाओबाब फल में करीब 300 मिलीग्राम विटामिन होता है जो संतरे के मुकाबले 5 गुना ज्यादा है. सेहतमंद और स्वादिष्ट होने के कारण यह लोगों का एक पसंदीदा जूस है. इसकी पत्तियों और बीजों का इस्तेमाल कॉस्मेटिक्स और खाने पीने की चीजों में होता है. माना जाता है कि यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ तवचा को युवा बनाए रखने और ऊर्जा का स्तर ऊंचा रखता है.

जंगल की मां

बाओबाब पेड़ों की ये किस्म मैडागास्कर में मिलती है. यहां का अवेन्यू ऑफ बाओबाब ऐसे पेड़ों की जन्मस्थली है जो हजारों साल पुराने हैं. दुनिया भर से सैलानी इन्हें देखने यहां आते हैं. स्थानीय भाषा में यहां इसे मालागासी कहा जाता है और लोग इन्हें "जंगल की मां" कहते हैं.

English Summary: Due to the unique strengths, this fruit is demanded around the world ...

Like this article?

Hey! I am KJ Staff. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News