1. ख़बरें

Hydro Power Plant: झारखंड के फॉल में लगाए जाएंगे हाइड्रो पावर प्लांट, बढ़ेगी इनकी खूबसूरती

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Hydro Power Plants

Hydro Power Plants

झारखंड एक ऐसा राज्य है, जिसकी उन्नति के लिए राज्य सरकार हर संभव प्रयास कर रही है. चाहे किसानों की बात हो या फिर आम जनता की, लेकिन राज्य सरकार हर किसी के लिए अहम कदम उठाती रहती है.

इसी क्रम में अब राज्य के रांची में स्थित हुंडरू, दशम, जोन्हा, सीता फॉल और कारो नदी में हाइड्रो पावर प्लांट (Hydro Power Plant) लगाने की योजना बनाई गई है. इससे संबंधित प्रस्ताव भी बन चुका है.

बता दें कि जेरेडा द्वारा राज्य में ऐसे 13 स्थानों को चिह्नित किया गया है, जिनकी खूबसूरती बढाई जाएगी. इनमें दशम, जोन्हा, सीता फॉल और कारो नदी भी शामिल है. ये जगह इतनी खूबसूरत हैं कि यह किसी का भी मन मोह लेती हैं. आइए जानते हैं कि आखिर हाइड्रो पावर प्लांट क्या होता है.

क्या है हाइड्रो पावर प्लांट? (What is Hydro Power Plant?)

जल से उत्पन्न की गई विद्युतशक्ति को जलविद्युत् (Hydroelectric)  कहा जाता है. प्राचीन काल से ही जलप्रपात में गिरते हुए पानी में निहित ऊर्जा का उपयोग पनचक्की को चलाने में किया जाता रहा है. मगर इस ऊर्जा का विद्युतशक्ति के लिए उपयोग 20वीं शताब्दी की ही देन है.

आइए अब बताते हैं कि झारखंड के रांची में हुंडरू, दशम, जोन्हा, सीता फॉल और कारो नदी में लगने वाले हाइड्रो पावर प्लांट (Hydro Power Plant) की जानकारी देते हैं, जिससे उनकी खूबसूरती और ज्यादा बढ़ जाएगी.

हुंडरू फॉल (Hundru Fall)

रांची में स्थित हुंडरू फॉल में भी हाइड्रो पावर प्लांट लगाया जाएगा. यह सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थल में से एक है. इसकी उंचाई 320 किमी तक है.

सीता फॉल (Sita Fall)

यहां हाइड्रो पावर प्लांट लगाने की योजना बनी है. ये फॉल घमने के लिए बहुत शानदार है. यहां 170 फीट की ऊंचाई से पानी गिरता है.

जोन्हा फॉल (Jonha Fall)

यह रांची-मुरी मार्ग में अनगड़ा-अमरूद बागान होते हुए 37 किलोमीटर दूर है. यहां भी हाइड्रो पावर प्लांट लगाने की योजना बनाई गई है. इसकी खूबसूरती यह है कि पहाड़ों के बीच करीब 144 किमी के उंचाई से पानी नीचे गिरता है. यहां पर एडवेंचर पार्क, चिल्ड्रेन पार्क जैसी कई भी सुविधाएं है, इसलिए हर साल पर्यटकों की भारी भीड़ उमड़ती है.

दशम फॉल (Dassam Fall)

यह रांची से करीब 35 किमी दूर स्थित है. इस झरने का मुख्य जल स्रोत नदी कचनी है, जिसमें पानी करीब 144 फीट की ऊंचाई से आता है. इसकी विशेषता यह है कि जब लोग झरने को देखने आते हैं, तो उन्हें पानी की 10 धाराएं गिरती दिखती हैं. यहां भी हाइड्रो पावर प्लांट लगाया जाएगा, जिससे इसकी खूबसूरती और ज्यादा बढ़ जाएगी.

English Summary: hydro power plants to be set up in jharkhand's fall

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News