News

पैडी प्रोसेसिंग यूनिट लगाकर मिल को शुरू करें, सरकार से मिलेगा लोन

अगर आप खुद का कोई बिजनेस शुरू करना चाहता है तो पैडी प्रोसेसिंग यूनिट योजना आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती है. इसको मिनी राइस मिल भी कहते है. धान की फसल आ जाने पर हर तरह के किसान को इस तरह की यूनिट में अपने माल को ले जाना पड़ता है ताकि चावल को आसानी से निकाला जा सकें. अगर आप ग्रामीण इलाकों में इस तरह की यूनिट को लगाते है तो आसपास के किसान आपके पास आसानी से आ सकते है. आप इस पैडी मशीन को मात्र 3 लाख 50 हजार रूपये में लगा सकते है. फिर भी अगर आपके पास एकमुश्त रकम नहीं तो आप इसके लिए सरकार से लोन ले सकते है.

सरकार से मिलेगी सब्सिडी

दरअसल, खादी विलेज इंडस्ट्री कमीशन ऐसे बिजनेस को 90 प्रतिशत तक लोन देता है जो इस तरह का बिजनिस शुरू करना चाहते है. इस योजना को शुरू करने के लिए काफी अनुभवी व्यक्तियों की आवश्यकता होगी. आपको अनुभवी लोग नहीं मिलते है तो आप खुद ही ट्रेनिंग लें और बाद में आवेदन करें. जब आप खुद काम सीख जाए तो अपने कर्मचारियों को भी काम सिखा सकते है. कच्चे माल को आप ग्रामीण भागों में खेत से प्राप्त कर सकते है क्योंकि ऐसे स्थानों पर ब्रांडेड राइस मिलों की मांग नहीं होती है. वैसे भी ब्रांडेड राइस मिलों की मशीने महंगी होती है और यह बड़े प्लांट में लगती है.

इन उपकरणों की जरूरत पड़ेगी

आपको पैडी क्लीनर, डस्ट बाउलर, पैडी डिस्क्यूलर, राइस पॉलिशर, ब्रान प्रोसेसिंग यूनिट, एसपिरेटर खरीदना होगा. इन सभी पर आपके तीन लाख रूपए खर्च होंगे. इसके अलावा वर्किग कैपिटल पर लगभग 50 हजार खर्च होंगे.

कराना होगा रजिस्ट्रेशन

आपने अपने उद्योग का जो नाम रखा है उस नाम से आपको रजिस्ट्रेशन करवाना होगा, उसी नाम पर बिजली कनेक्शन लें ले. जब भी आप मशीन से धान को निकाले तो ध्यान रख ले कि दाने टूटे नहीं. इससे आपको हानि हो सकती है.

जितनी बड़ी आप यूनिट को लगाना चाहते है उसी के अनुरूप आप श्रमिकों को रखे.

कितनी बड़ी मशीन आप खरीदना चाहते है यह आपके ऊपर निर्भर करता है, छोटी मशीन को लगाते है तो आप उसे कही भी ले जा सकते है.

यदि आपके आसपास बाजार में मशीन नहीं मिलती है तो ऑनलाइन सर्च करके देखे.

अपने उद्योग को बढ़ावा देने के लिए उसका निरंतर प्रचार करते रहें.

ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन

सरकार से आर्थिक सहायता लेने के लिए आपको प्रधानमंत्री इम्पलमेंट जनरेशन प्रोग्राम के तहत लोन हेतु आवेदन करना ही होगा. यदि आप ऑनलाइन फॉर्म को भरते है तो आपको फॉर्म में सारी सही जानकारी भरनी होगी. कोई एक जानकारी भी गलत हुई तो आपका फॉर्म निरस्त कर दिया जाएगा. आपको यूनिट को लिए लगभग 1000 वर्ग फीट के शेड की व्यवस्था करनी होगी.

यह दस्तावेज जरूरी

आधार कार्ड, एड्रेस प्रुफ, फोटोग्राफ, किराए से लिए शेड एग्रीमेंट, जिस नाम से व्यापार शुरू करना चाहते है उसके रजिस्ट्रेशन की कॉपी, बिजली कनेक्शन आदि की जानकारी देना जरूरी है.

सम्बन्धित खबर पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें !

कृषि यंत्रो पर मिलने वाली सब्सिडी पर किया गया ये बड़ा बदलाव



Share your comments