MFOI 2024 Road Show
  1. Home
  2. ख़बरें

खुशखबरी! जो गेहूं पहले काटा जा चुका है, उसे बिना तरीख तय किए खरीदा जाएगा

रविवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Chief Minister Manohar Lal Khattar) ने कहा कि प्रदेश में गेहूं की सरकारी खरीद के लिए पर्याप्त प्रबंध किए गए हैं. उन्होंने कहा कि मौसम आर्द्र होने की वजह से इस बार गेहूं की मंडियों में आवक शुरू होने में 10 दिन की देरी हुई है.

मनीशा शर्मा
wheat
CM Manohar Lal Khattar

रविवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Chief Minister Manohar Lal Khattar) ने कहा कि प्रदेश में गेहूं की सरकारी खरीद के लिए पर्याप्त प्रबंध किए गए हैं. उन्होंने कहा कि मौसम आर्द्र होने की वजह से इस बार गेहूं की मंडियों में आवक शुरू होने में 10 दिन की देरी हुई है.

सीएम खट्टर ने कहा कि खरीद केंद्रों पर बिक्री के लिए गेहूं लाने के लिए किसानों का पोर्टल पर पंजीकरण कर लिया गया है. हालांकि, जो गेहूं पहले काटा जा चुका है, उसे बिना तरीख तय किए खरीदा जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि किसानों को उनकी सुविधा के हिसाब से खरीद केंद्र पर फसल लाने की तारीखें दी जाएंगी.

गौरतलब है कि राज्य सरकार ने प्रदेश में गेहूं की खरीद 1 अप्रैल से शुरू कर दी थी पर फसल सूखी न होने की वजह से केंद्रों पर आवक देर से शुरू हुई है. वहीं मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भरोसा दिया है कि किसान जो माल लाएंगे, उनका एक-एक दाना खरीदा जाएगा.

इससे पहले, सीएम खट्टर ने आयोजित आगामी खरीद सीजन में लगे अधिकारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा था कि भुगतान सीधे किसानों के सत्यापित खातों (Verified accounts) में किया जाएगा. इस बैठक में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला भी उपस्थित थे.

इसके अलावा, उन्होंने कहा था कि, "किसानों को निर्धारित समय अवधि के भीतर अपनी खरीदी गई उपज का भुगतान प्राप्त करना होगा. भुगतान में किसी भी तरह की देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी. किसानों को समय पर भुगतान किया जाए, यह सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदारियां तय की जानी चाहिए."

English Summary: Good News! Wheat that has been harvested before, will be purchased without any due diligence Published on: 05 April 2021, 05:08 PM IST

Like this article?

Hey! I am मनीशा शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News