News

वैज्ञानिक बकरीपालन के लिए प्रशिक्षण संपन्न, बकरीपालकों ने संस्थान के प्रयास को सराहा

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद-केंद्रीय बकरी अनुसंधान संस्थान मखदूम (फरह) के द्वारा 8 दिवसीय वैज्ञानिक तरीके  से बकरी पालन करने हेतु प्रशिक्षण कार्यक्रम दिनांक 13-20 फरवरी, 2018 कि अवधि में आयोजित किया गया। इस 74 वें राष्ट्रीय प्रशिक्षण में 20 राज्यों से आये हुए बकरी पालकों को वैज्ञानिक बकरीपालन पर प्रशिक्षण दिया गया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन समारोह के मुख्य अतिथि  राजेन्द्र जी, निदेशक, दीनदयाल धाम, नगला चन्द्रभान, (फरह) के कर कमलों द्वारा प्रमाण वितरण का कार्य किया गया। मुख्य अतिथि ने बताया कि बकरी पालकों के लिए बकरी पालन व्यवसाय उनकी आय को बढ़ाने का एक बहुत महत्वपूर्ण साधन है तथा हमारे युवाओं को स्वरोजगार के रूप में व्यवसायिक एवं वैज्ञानिक तकनीकी से बकरीपालन पर अधिक जोर देना चाहिए जिससे वे अधिक से अधिक मुनाफा कमा सकें साथ ही समाज के अन्य युवाओं को भी इस व्यवसाय को अपनाने के लिए प्रेरित कर सकें। संस्थान निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह चैहान ने प्रशिक्षणार्थियों एवं  प्रशिक्षण में सहभागिता करने वाले प्रशिक्षणार्थियों को उनके सफलतापूर्वक प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए बधाई दी।

उन्होंने कहा कि प्रशिक्षणार्थी वैज्ञानिक एवं व्यवसायिक बकरीपालन में अभिरूचि रखें तो उनकी आय निश्चित रूप से दोगुनी हो सकती है साथ ही उन्होंने कहा कि बकरी पालन प्रशिक्षण कार्यक्रम की मांग को ध्यान में रखते हुए वर्तमान वर्ष में 6 प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन संस्थान द्वारा किया जा रहा है। इस अवसर पर डॉ. बृजमोहन, प्रभारी, प्रसार शिक्षा ने प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं उसके पाठ्यक्रम के बारे में जानकारी प्रदान की। डॉ.अनुपम कृष्ण दीक्षित, वरिष्ठ वैज्ञानिक ने कार्यक्रम का संचालन किया एवं समस्त जनों का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर  पर संस्थान के समस्त विभागाध्यक्ष एवं वैज्ञानिक और अनेक जन उपस्थित थे।



Share your comments