1. ख़बरें

कृषि जगत को मिला फसलों की 35 नई किस्मों का तोहफा, जानिए क्या है इनकी विशेषता

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
Crops Varieties

Crops Varieties

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश के किसानों को एक बड़ा तोहफा दिया है. दरअसल आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक कृषि कार्यक्रम आयोजित हुआ. इस दौरान पीएम मोदी ने किसानों के लिए 35 नई फसलों की किस्में समर्पित की.

इसके साथ ही किसानों को संबोधित भी किया. उन्होंने कहा कि जिस खेत की जुताई जितनी गहरी होगी, उस फसल की पैदावार उतनी ही बढ़िया होगी. इसके साथ पीएम मोदी ने रायपुर के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोटिक स्ट्रेस टॉलरेंस के नए परिसर का लोकार्पण भी किया.

35 नई फसलों की किस्में

पीएम मोदी ने संबोधन में कहा कि इन नई फसलों की किस्मों को ICAR ने काफी रिसर्च के बाद विकसित किया है. इनके जरिए जलवायु परिवर्तन और कुपोषण के प्रभाव को कम किया जा सकता है.

पीएम मोदी के मुताबिक, अरहर की फसल की पैदावार बढ़ाने के लिए किस्म पर काम किया गया है. इन सभी फसलों की किस्मों में जल्दी पकने वाले चावल की नई फसल भी शामिल हैं. इसके साथ ही बाजरा, मक्का, कुट्टू जैसी फसलों की अलग किस्में इन 35 नई फसलों की लिस्ट में मौजूद हैं.

पीएम मोदी ने आगे संबोधन में कहा कि नई किस्मों में पौष्टिक तत्व ज्यादा है. हमारी प्राथमिकता किसानों की जरूरतों को पूरा करना है. इसके लिए कृषि मंडियों के आधुनिकीकरण का काम जारी है.  

उन्होंने आगे कहा कि हमारा लक्ष्य सभी किसानों की राह आसान करने का है. नई फसलों की किस्में  मौसम की चुनौतियों से निपटने में सक्षम है. इस दौरान पीएम मोदी ने किसान सम्मान निधि का जिक्र करते हुए कहा कि इस राशि से छोटे किसानों को बहुत फायदा पहुंचा है.

क्या है इन फसलों की खासियत?

इस लिस्ट में कई ऐसी फसलों की किस्में शामिल हैं, जो आसानी से सूखे की मार झेल सकती है. इसके साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता वाला चावल भी तैयार किया गया है. 

इसके अलावा बाजरा, मक्का, बकवीट जैसी फसलों की अलग किस्में मिली हैं. ये विशेष किस्में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने विकसित की हैं. इसका मुख्य उद्देश्य जलवायु परिवर्तन और कुपोषण की दोहरी चुनौतियों से निपटना है.

English Summary: Farmers got 35 new varieties of crops

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News