News

रक्षा संस्थान ने विकसित किया नोवेल कोरोना वायरस को विघटित करने वाला माइक्रोवेव स्टरलाइजर

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन द्वारा समर्थित एक मानद विश्वविद्यालय, डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड टेक्नोलॉजी ने कोविड-19 को विघटित करने के लिए ‘अतुल्य‘ नामक एक माइक्रोवेव स्टरलाइजर का विकास किया है. वायरस 56 डिग्री से 60 डिग्री सेल्सियस तापमान में विभेदकारी ऊष्माष्यन द्वारा विघटित हो जाता है.

यह उत्पाद एक किफायती सॉल्यूशन है जिसे पोर्टेबल या फिक्स्ड इंस्टोलेशन में प्रचालित किया जा सकता है. इस सिस्टम का मानव/प्रचालक सुरक्षा के लिए परीक्षण किया एवं इसे सुरक्षित पाया गया. भिन्न-भिन्न वस्तुओं के आकार और ढांचे के अनुसार, स्टरलाइजेशन का समय 30 सेकेंड से एक मिनट तक रहता है. सिस्टम का वजन लगभग तीन किलोग्राम है और इसका उपयोग केवल गैर-मेटैलिक वस्तुओं के लिए किया जा सकता है.

बयान के मुताबिक, '' इस प्रणाली का मानव सुरक्षा के लिए परीक्षण किया गया जो कि उपयोगी पाया गया.'' डीआईएटी एक डीम्ड विश्वविद्यालय है जो रक्षा मंत्रालय के रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के अंतर्गत आता है. कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए देश में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू है. देश में इस वायरस के संक्रमण के 33,600 से अधिक मामले हैं तथा अब तक 1,075 लोगों की जान जा चुकी है.



English Summary: COVID-19: Defense Institute of Pune created a special infection-free microwave

कृषि पत्रकारिता के लिए अपना समर्थन दिखाएं..!!

प्रिय पाठक, हमसे जुड़ने के लिए आपका धन्यवाद। कृषि पत्रकारिता को आगे बढ़ाने के लिए आप जैसे पाठक हमारे लिए एक प्रेरणा हैं। हमें कृषि पत्रकारिता को और सशक्त बनाने और ग्रामीण भारत के हर कोने में किसानों और लोगों तक पहुंचने के लिए आपके समर्थन या सहयोग की आवश्यकता है। हमारे भविष्य के लिए आपका हर सहयोग मूल्यवान है।

आप हमें सहयोग जरूर करें (Contribute Now)

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in