News

किसानों के लिए बुरी खबर ! अब खाद होगी 30 प्रतिशत महंगी

रबी फसलों की बुवाई के लिए किसानों को अब खाद खरीदना और भी महँगा हो जाएगा. इसके लिए उन्हें 30 प्रतिशत ज्यादा कीमतें देनी पड़ेंगी. इस साल डीएपी खाद की कीमतों में 350 और पोटाश की कीमतों 370 रुपये से अधिक बढ़ोतरी की गई है.

पंजाब में डीएपी और पोटाश होगा महंगा

पंजाब में डीएपी खाद कीमतों को बढ़ाकर 1,400 रुपए प्रति 45 किलो कर दिया गया है जबकि पिछले साल इसकी कीमत 1,050 रुपये प्रति 45 किलो था. इसी क्रम में पिछले साल पोटाश की कीमत 550 रुपये से बढ़कर 920 रुपये प्रति 45 किलो हो गई थी. यूरिया की कीमतें भी 265 रुपये प्रति किलो हो गयी हैं.

हरियाणा में यूरिया की उपलब्धता कम

हरियाणा में भी डीएपी खाद कीमतों को बढ़ाकर 1,340 रूपये प्रति 45 किलो कर दी गई है. नई डीएपी खाद न आने की वजह से कीमतों में ज्यादा बढ़ोतरी नहीं की गई है. मार्च में इसकी कीमत 1,080 रुपये प्रति 45 किलो जबकि यूरिया की कीमत 265 रुपये प्रति 45 किलो थी. बाज़ार में कम उपलब्धता की वजह से 270 से 280 रुपये प्रति 45 किलो में बिक रहा है.

कच्चे माल की कीमतों में होगी बढ़ोतरी

वैश्विक बाज़ार में कच्चा माल फॉस्फेट और पोटाश की कीमतों में आई बढ़ोतरी के कारण खाद की कीमतें भी बहुत ज्यादा बढ़ गई हैं. यूरिया की कीमतों में अभी बढ़ोतरी नहीं हुई लेकिन इसकी सब्सिडी में बढ़ोतरी होने की पूरी संभावना है.

यूरिया उत्पादन में होगी 2019 में बढ़ोतरी

रसायन और उर्वरक मंत्रालय के अनुसार वर्ष 2019 में यूरिया खाद का उत्पादन 1.6 फीसदी से बढ़कर 244 लाख टन होने का अनुमान है. 2018 में इसका उत्पादन 240. 2 लाख टन तक पहुँच गया था.     

मनीशा शर्मा, कृषि जागरण



Share your comments