1. ख़बरें

इस राज्य में पहली बार होगी 40,000 रुपए प्रति किलो बिकने वाली हींग की खेती

hingh ka podha

इस राज्य में पहली बार शुरू हो रही है हींग की खेती भारत में पहली बार हींग की खेती हिमाचल प्रदेश से शुरु होने जा रही है. हिमाचल के कृषि विशेषज्ञ डॉ. विक्रम शर्मा के अथक प्रयासों के बाद इसकी खेती भारत में शुरु होने जा रही है. 

देश में हींग की खेती की शुरूआत हिमाचल प्रदेश से होने जा रही है. हिमाचल के किसानों के लिए इसकी खेती करने का एक सुनहरा मौका है. आगे अन्य हिमायली क्षेत्रों में भी इसकी खेती का दायरा बढ़ाने की योजना है. मौजूदा समय में भारत में हींग की खेती नहीं होती है और इसका 1 ग्राम उत्पादन भी यहां नहीं होता है. वहीं पूरी दुनियां में भारत में हींग का उपयोग सबसे ज्यादा होता है. भारत में हींग की खेती को जमीन पर उतारने का काम हिमाचल के कृषि विशेषज्ञ डॉ. विक्रम शर्मा के अथक प्रयासों से सफल हुआ है. डॉ. शर्मा ने हींग का बीज ईरान से मंगवाया है औऱ इसकी खेती की शुरूआत करवाने जा रहे हैं.

asafoetida cultivation

किसानों को मुफ्त दिया जाएगा हींग का बीज

डॉ. शर्मा ने कहा कि यह समय किसानों को सशक्त् बनाने का है और शायद किसानों की ज्यादा से ज्यादा मदद करके उनको हर तरह से सशक्त बनाना होगा.  उनका कहना है कि किसानों की आर्थिक स्थिती को भी देखना जरूरी है इसलिए किसानों से हींग के बीज का कोई पैसा नहीं लीया जाएगा और उन्हें खेती के लिए नि:शुल्क दिया जाएगा. वहीं इसकी खेती की शुरूआत के लिए राज्य के लाहौल-स्पीति, पांगी औऱ किन्नौर जैसे जगहों का चुनाव किया गया है. हींग की खेती के लिए इन जगहों की जलवायु मुफीद है. 

किन जगहों पर हो सकती है हींग की खेती

हींग की खेती के लिए जगह का चुनाव करना आसान नहीं है. अभी मौजूदा समय में इसकी खेती सभी जगहं पर कर पाना कितना सफल है यह देखने वाली बात है. वहीं इसके लिए कुछ मानकों को पूरा करना जरूरी है जिसमें से सबसे अहम है अनुकूल तापमान. इसकी खेती उन्हीं जगहों पर की जा सकती है जहां जहां का तापमान शून्य से 35 डि.से. हो. क्योंकि हींग का पौध इससे ज्यादा का तापमान सहन नहीं कर पाता है.

35 से 40 हजार रुपए किलो है बाजार भाव

डॉ. शर्मा के मुताबिक हींग की खेती से किसानों को काफी मुनाफा हो सकता है. अगर किसान अच्छे से इसकी खेती करें तो उन्हें इससे कई गुणा तक लाभ हो सकता है. उनका कहना है कि अभी मौजूदा समय में हींग का बाजार भाव लगभग 35 से 40 हजार रुपया किलो है. वहीं दामों में कुछ उतार-चढ़ाव होता रहता है.

English Summary: Asafoetida cultivation to be sold for the first time in this state for Rs 40,000 per kg

Like this article?

Hey! I am आदित्य शर्मा. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News