आपके फसलों की समस्याओं का समाधान करे
  1. मशीनरी

स्टोन पिकर मशीन से मात्र 2 घंटे में निकालें खेत के कंकड़-पत्थर, जानें इसके मॉडल, खासियत और कीमत

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
stone

Machinery

हमारे देश में किसानों को अन्नदाता का स्थान दिया जाता है. आज के समय में कृषि क्षेत्र ने काफी उन्नति कर ली है. देश के हर एक राज्य में कई तरह की फसलों की खेती हो रही है, जिसका पूरा श्रेय किसानों की मेहनत और कृषि यंत्रों को जाता है. सभी जानते हैं कि खेतीबाड़ी में आधुनिक तकनीक के कृषि यंत्रों का भी मुख्य स्थान है. अगर कृषि यंत्र न हों, तो किसानों को खेती करते समय कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. अगर पहाड़ी क्षेत्र के किसानों की बात की जाए, तो यहां किसानों को खेत की जुताई करने में कई तरह की परेशानियां होती हैं. ऐसे में हम किसानों के लिए एक ऐसे कृषि यंत्र की जानकारी देने वाले हैं, जिसके द्वारा किसान मिनटों में फसलों की बुवाई के लिए खेत तयार कर सकते हैं. इस कषि यंत्र को स्टोन पिकर के नाम से जाना जाता है.

क्या है स्टोन पिकर मशीन (What is Stone Picker Machine)

यह कृषि यंत्र पहाड़ी क्षेत्र के किसानों के लिए वरदान है. यह खेत के कई कामों को आसान बना देता है. इसके जरिए किसान खेतों में से छोटे-बड़े आकार के सभी पत्थरों को एक बार में बाहर निकाल सकते हैं. उससे भी अच्छी बात है कि किसान इस मशीन को छोटी सी लागत में खरीद सकते हैं. इससे पैसा और समय, दोनों की बचत होती है.

पहाड़ी क्षेत्र के किसानों के लिए लाभकारी है स्टोन पिकर (Stone picker is beneficial for the farmers of the hill region)

खेतीबाड़ी तापमान, जलवायु, बुवाई, सिंचाई, कटाई आदि पर निर्भर होती है. उसी के आधार पर फसल के लिए खेत को तैयार करना पड़ता है. देश का एक बहुत बड़ा भाग पहाड़ी क्षेत्र भी है. यहां किसान कई तरह की फसलों की बुवाई करते हैं. यहां के किसानों की एक सामान्य समस्या है कि खेतों में बड़े-छोटे आकार के कंकड़-पत्थर बड़ी संख्या में पाए जाते हैं. इस कारण किसानों को खेत की जुताई करने में कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. इसके साथ ही पत्थर की वजह से बीज का अंकुरण भी सही से नहीं हो पाता है, जिसका सीधा असर फसल के उत्पादन पर पड़ता है. ऐसे में पहाड़ी क्षेत्रों के किसानों के लिए स्टोन पिकर किसी वरदान से कम नहीं है. इस मशीन के जरिए खेतों की मिट्टी को अच्छी तरह साफ़ किया जा सकता है.  

कैसे काम करता है स्टोन पिकर (How Stone Picker Works)

इस मशीन को ट्रैक्टर द्वारा संचालित किया जाता है. किसान किसी भी तरह के ट्रैक्टर में स्टोन पिकर लगा सकते हैं. अच्छी बात यह है कि इस मशीन की मदद से 1 एकड़ जमीन से मात्र 2 घंटे में कंकड़-पत्थर निकाल सकते हैं.

स्टोन पिकर की कीमत (Stone Picker Price)

इस मशीन की कीमत लगभग 4 लाख रुपए तय की गई है. इस पंजाब में अधिकतर बनाई जाती है. अगर कोई भी किसान इस मशीन को खरीदना चाहता है, तो वह पंजाब की निजी कंपनी से संपर्क कर सकते हैं या फिर अपने राज्य की निजी कंपनियों से जानकारी ले सकते हैं. इसके अलावा https://hindi.alibaba.com/g/stone-picker-machine.html पर जाकर विजिट कर सकते हैं.

स्टोन पिकर के मॉडल (Models of stone picker)

  • Stone picker Machine model 1100 (इसकी कीमत 4 लाख रुपए के आस-पास है)

  • Stone Picker Machine Basak Model (इसकी कीमत 2 से 3 लाख रुपए के आस-पास है))

  • Makwana Cast Iron Stone Picker Machine, Model No.: St-01 (इसकी कीमत 2 लाख रुपए के आस-पास है)

स्टोन पिकर से किसानों को लाभ (Farmers benefit from stone picker)

  • किसानों को हाथों से खेत की जुताई नहीं करनी पड़ती थी.

  • खेती की जुताई में कम समय लगता है.

  • खेती की जुताई में मेहनत नहीं लगती है.

  • बहुत आसानी से खेत में से छोटे-बड़े सभी कंकड़-पत्थर निकाल सकते हैं.

  • यह मशीन से फसल का उत्पादन बढ़ता है.

  • फसल की गुणवत्ता बढ़ती है.

  • फसल में कीट और रोग लगने का खतरा कम होता है.

  • खेत की भूमि उपजाऊ बनती है.

English Summary: Stone picker machine makes farming easy, know its uniqueness and price

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News