Machinery

चीन के बाजार में सोनालिका का परचम, लगाएगी असेंबली प्लांट

देश की जानी-मानी बड़ी ट्रैक्टर कंपनी सोनालिका ने अब चीन के बाजार में उतरकर वहां हलचल पैदा कर दी है. जी हां अब तक भारत के बाजारों में अपने उत्पादों को उतारने वाला देश चीन इन दिनों सोनालिका ग्रुप को लेकर परेशान है.  जानकारी के मुताबिक सोनालिका की फ्लैगशिप कंपनी इंटरनेशनल ट्रैक्टर लिमिटेड चीन के शैनडांग लुयु हेवी इंडस्ट्री कॉरपोरेशन के साथ मिलकर उपक्रम बनाएगी.

मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक, सोनालिक कंपनी ट्रैक्टर्स के इंजन बनाने में चीन की मदद करेगी और वहां एक असेंबली प्लांट लगायेगी. ध्यान रहे कि ‘सोनालिका’ भारतीय ट्रैक्टर जगत में अपनी खास पहचान के लिए जानी जाती है और इसके आइटीएल इस समय 120 देशों में अपनी सेवाएं दे रही है

कंपनी को हो सकता है फायदाः

ध्यान रहे कि चीन में ट्रैक्टर बाजार का अपना महत्व है और ये दुनियां की दूसरी सबसे बड़ी ट्रैक्टर बाजार के रूप में अपनी पहचान रखती है. यहां के अधिकतर ट्रैक्टर्स को ग्लोबल ट्रैक्टर के रूप में जाना जाता है. ऐसे में सोनालिका के पास यहां काफी अवसर हैं.

भारत की अन्य ट्रैक्टर्स कंपनियां भी रख सकती है चीन में कदमः

सोनालिका के बाद भारत की अन्य बड़ी ट्रैक्टर्स कंपनियां चीन में अपनी संभावना तलाशने लगी है. ऐसे में भारत को लेकर चीन के बाजारों में हलचल देखी जा रही है.

sonalinka

भारत में सोनालिका ने इस वर्ष 1 लाख ट्रैक्टर्स की बिक्री का रखा लक्ष्य

सोनालिका कंपनी ने मौजूदा वित्त वर्ष के दौरान देश में एक लाख ट्रैक्टरों की बिक्री का लक्ष्य रखा है. इस बारे में सोनालिका आईटीएल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (बिक्री और मार्केटिंग) मुनीष कुमार ने संवाददाता पहले ही बता चुके हैं कि इस वित्त वर्ष में कंपनी ने देश में एक लाख ट्रैक्टरों की बिक्री का लक्ष्य तय किया है, जबकि पिछले वित्त वर्ष में कंपनी ने घरेलू बाजार में लगभग 70,000 ट्रैक्टर बेचे थे.

कंपनी को भरोसा है कि घरेलू ट्रैक्टर बाजार में त्यौहारों के कारण सकारात्मक माहौल मिलने से इन कृषि वाहनों की बिक्री रफ्तार पकड़ेगी. इसलिए कंपनी मंदी के बावजूद भी अच्छे मुनाफे की उम्मीद कर रही है.



Share your comments