1. मशीनरी

कृषि यंत्रों से गाजर की बुवाई और धुलाई करना है बेहद आसान, समय औऱ लागत की होगी बचत

कंचन मौर्य
कंचन मौर्य
gajar

गर्मियों में कई किसान अपने खेतों में गाजर की खेती करते हैं. ऐसे में हम बहुत ही उपयोगी मशीनों की जानकारी देने वाले हैं, जिनकी मदद से गाजर की खेती करना बहुत आसान हो जाता है. यह मशीन गाजर की खएती करने वाले किसानों के लिए बहुत काम आएंगी. ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि इन मशीन की मदद से खेती का काम काफी हल्का हो जाता है, साथ ही  समय और पैसा, दोनों की भी काफी बचत होती है. आइए आपको इन मशीनों के संबंध में पूरी जानकारी देते हैं.

ये खबर भी पढ़ें: ट्रेलर या ट्रैक्टर स्प्रेयर से कीटनाशक का छिड़काव करना है बहुत आसान, जानें इसकी खासियत और कीमत

machine

बेड प्लांटर और मल्टी क्रौप बुवाई मशीन

इस वक्त कई किसान मजदूरों की कमी की वजह से परेशान हैं, क्योंकि उन्हें गाजर की बुवाई के लिए मजदूर नहीं मिल पा रहे हैं. अगर आप भी इन किसानों में शामिल हैं, तो यह मशीन आपके बहुत काम आएगी, क्योंकि यह मशीन कम समय में अधिकतम काम पूरा कर सकती है. कहा जाता है कि इस मशीन का निर्माण हरियाणा के रहने वाले महावीर प्रसाद जांगड़ा ने किया है.  इस मशीन की मदद से बुवाई के साथ-साथ मेड़ बनाई जाती हैं. इस तरह फसल की बुवाई करना काफी आसान हो जाता है. इस मशीन के जरिए न केवल गाजर की खेती की जा सकती है, बल्कि प्याज, मूली, पालक, धनिया, अरहर, जीरा, मूंग, गेहूं, मटर, मक्का, चना, भिंडी, टमाटर, फूलगोभी, पत्ता गोभी, सरसों और लोबिया जैसी तमाम फसलों बुवाई की जा सकती है.  

ये खबर भी पढ़ें: मिनी स्प्रेयर है एक सस्ता और टिकाऊ कृषि यंत्र, कीमत मात्र 120 से 500 रुपए

Gajar

इसके अलावा बाजार में गाजर की धुलाई करने वाली मशीन भी उपलब्ध हैं. जब फसल पूरी तरह से तैयार हो जाती है, तो इसकी धुलाई का काम काफी कठिन होता है. एक तरफ इसमें अधिक संख्या में मजदूरों की ज़रूरत पज़ती है, तो वहीं दूसरी तरफ बड़ी मात्रा में पानी की भी ज़रूरत होती है. ऐसे में जिन किसानों के खेत के आस-पास नहर या तालाब है, उनके लिए किसी तरह परेशानी नहीं होती है. मगर जिन किसानों के पास पानी की उचित व्यवस्था नहीं होती है. ऐसे में किसान गाजर की धुलाई करने वाली मशीन का उपयोग कर सकते हैं. इस मशीन से न केवन गाजर की धुलाई की जा सकती है, बल्कि अदरक और हल्दी जैसी फसलों की भी धुलाई कम पानी में हो सकती है. खास बात है कि मशीन को ट्रैक्टर की मदद से कहीं भी ले जा सकते हैं.अगर आप गाजर की खेती में मशीन का उपयोग करना चाहते हैं, तो अपने क्षेत्र की निजि कंपनियों से संपर्क कर सकते हैं, जो कृषि यंत्र का निर्माण करती हैं. वहां आपको गाजर की बुवाई और धुलाई करने वाली मशीनों के कई विकल्प मिल जाएंगे. इन मशीन को कम लागत में घर लाया जा सकता है.

English Summary: Knowledge of machines used in carrot farming

Like this article?

Hey! I am कंचन मौर्य. Did you liked this article and have suggestions to improve this article? Mail me your suggestions and feedback.

Share your comments

हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें. कृषि से संबंधित देशभर की सभी लेटेस्ट ख़बरें मेल पर पढ़ने के लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें.

Subscribe Newsletters

Latest feeds

More News