Machinery

खेतीबाड़ी को आसान बनाते हैं ये प्रमुख कृषि उपकरण, जानें इनकी खासियत, कीमत और सब्सिडी

किसान को खेतीबाड़ी में छिड़काव, टिल्टिंग, खुदाई आदि के लिए कृषि उपकरणों (Agricultural equipment) की आवश्यकता पड़ती है. इससे फसलों की अच्छी पैदावार प्राप्त होती है, साथ ही श्रम और लागत की बचत होती है. वैसे आज के समय में कृषि क्षेत्र में कई नई तकनीकों का विकास हो गया है. बस किसानों को समय पर उन तकनीक का उपयोग करना है, जिससे खेती सफल बन पाए. आइए आज किसान भाईयों को खेतीबाड़ी से जुड़े कुछ खास कृषि उपकरणों (Agricultural equipment) की जानकारी देते हैं. खास बात है कि किसान इन कृषि उपकरणों को सब्सिडी के साथ ही खरीद सकते हैं.

खेतीबाड़ी को सरल बनाने वाले कृषि उपकरण

  • रोटो बीज ड्रिल

  • प्लांटर

  • स्प्रेयर

  • स्ट्रा-रीपर

ये खबर भी पढ़े: मिल्किंग मशीन से दुधारू पशुओं का दूध निकालना है बहुत आसान, जानें इसकी खासियत

रोटो बीज ड्रिल (Roto Seed Drill)

इस मशीन के गियर काफी मजबूत और शक्तिशाली होते हैं. इसका उपयोग मुख्य रूप से कटाई के बाद बुवाई के लिए किया जाता है. इसके साथ ही मलबे को कुचलने और मिश्रण के काम भी आती है. इसके उपयोग से ईंधन की बचत होती है, साथ ही मिट्टी में नमी को संरक्षित करती है, बीज का प्रसार होता है इसके अलावा उर्वरक का प्रसार होता है. इसकी कीमत लगभग 50 हजार से शुरू होकर 1 लाख रुपए तक होती है. इस पर 50 प्रतिशत तक की अधिकतम सब्सिडी भी मिल सकती है.

प्लांटर (Planter)

इस कृषि उपकरण को आमतौर पर ट्रैक्टर के पीछे लगाया जाता है, जिससे खेत में पंक्तियों में बीज की बुवाई कर सकते हैं.

ये खबर भी पढ़े: ट्रैक्टर में डीजल की खपत कम करने के लिए अपनाएं ये 4 तरीके, होगी अच्छी बचत

स्प्रेयर (Sprayer)

यह दवा का छिड़काव करने वाला उपकरण है. इसकी मदद से फसलों पर कीटनाशकों और उर्वरकों का छिड़काव कर सकते हैं. इसको दवाई छिड़कने वाली मशीन भी कहा जाता है. यह कई मॉडल में बनाई जाती है. जैसे, निपटाकर स्प्रेयर, पोर्टेबल पावर स्प्रेयर, नैकपैक पावर स्प्रेयर, मिस्ट डस्ट स्प्रेयर आदि. इसकी कीमत लगभग 3500 रुपए से शुरू होकर 50 हजार तक होती है.

स्ट्रॉ-रीपर (Straw Reaper)

यह मशीन भूसा बनाने का काम करती है. इससे खेत में बचे हुए फसल अवशेष को साफ किया जाता है. इसको ट्रैक्टर द्वारा संचालित किया जाता है. इसकी कीमत लगभग 2 लाख 50 हजार से शुरू होकर 3 लाख 50 हजार रुपए तक होती है. इस पर लगभग 50 प्रतिशत तक की सब्सिडी भी मिल जाती है.

उपयुक्त कृषि उपकरण फसल का उत्पादन बढ़ाने में मदद करते हैं. जिन किसानों के पास पहले से ही ट्रैक्टर है, तो वह कुछ और कृषि उपकरण लेकर उसमें जोड़ सकते हैं.

ये खबर भी पढ़े: Top 5 Agricultural Machine: ऐसे 5 आधुनिक कृषि यंत्र जो श्रम और लागत कम करने के साथ ही बढ़ाते हैं मुनाफा



English Summary: Knowledge of agricultural equipment that simplifies farming

Share your comments


Subscribe to newsletter

Sign up with your email to get updates about the most important stories directly into your inbox

Just in